Tuesday, July 23, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'उसने मुझे पीटा, गालियाँ बकता था और शक करता था': सुष्मिता सेन की भाभी...

‘उसने मुझे पीटा, गालियाँ बकता था और शक करता था’: सुष्मिता सेन की भाभी ने किया तलाक का ऐलान, कहा – मुझे अकेले छोड़ महीनों गायब रहता है

"राजीव हर झगड़े के बाद हफ्तों या महीनों के लिए गायब हो जाता था और मुझसे संपर्क के सभी साधनों से ब्‍लॉक कर देता था, ताकि मैं उस तक न पहुँच सकूँ और न ही उसके ठिकाने को जान सकूँ।"

सुष्मिता सेना के भाई राजीव सेन और अभिनेत्री चारु असोपा का र‍िश्‍ता एकबार फिर तलाक के मुहाने पर पहुँच गया है। दो महीने पहले ही दोनों के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गए थे, लेक‍िन अपनी बच्ची के लिए दोनों ने शादी को एक मौका और देना का फैसला लिया था। हालाँकि, दोनों का र‍िश्‍ता एक बार फिर डगमगा गया और राजीव ने इंस्‍टाग्राम पर चारू को ब्‍लॉक कर द‍िया। इसके साथ ही चारू ने सोशल मीडिया पर राजीव के साथ सभी फोटोज को डिलीट कर दिए।

ईटाइम्‍स की र‍िपोर्ट के मुताबिक, चारु ने कहा, “राजीव हर झगड़े के बाद हफ्तों या महीनों के लिए गायब हो जाता था और मुझसे संपर्क के सभी साधनों से ब्‍लॉक कर देता था, ताकि मैं उस तक न पहुँच सकूँ और न ही उसके ठिकाने को जान सकूँ। लॉकडाउन से कुछ दिन पहले वह मुझे तीन महीने के लिए छोड़ कर चला गया था। उस दौरान मैं अकेला थी। रिश्ते में आखिरी कील उन्होंने तब ठोकी, जब वह घर से चला गया और दो दिनों तक एक होटल में रहा। मुझे एहसास हुआ कि वह 45 साल का है और मैं उसे बदल नहीं सकती। हमारे बीच बहुत सारे मतभेद थे, लेकिन मैं उम्मीद कर रही थी कि हमारी बेटी जियाना की खातिर सब समाधान हो जाएगा। दुर्भाग्य से, ऐसा नहीं हुआ।”

उन्होंने आगे कहा, “राजीव उग्र स्वभाव के हैं, मुझे गाली देते हैं और यहाँ तक कि एक-दो बार मुझ पर हाथ भी उठा चुके हैं। वह मुझपर शक भी करते है। जब मैं ‘अकबर का बल बीरबल’ की शूटिंग कर रही थी, तो उन्होंने मेरे सह-कलाकारों को मुझसे दूर रहने के लिए संदेश भेजे। मेरे लिए काम करना मुश्किल हो गया था।”

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो चारु जल्द ही तलाक की प्रक्रिया शुरू करेंगी। वह कहती हैं, “यह बहुत बड़ी गलती थी। मैं मुंबई लौटूँगी तो सीधे वहीं जाऊँगी और तलाक का प्रोसेस शुरू करूँगी । उम्मीद है कि आगे सब ठीक होगा। मैं इस शादी को और खींचना नहीं चाहती।”

वहीं इन सारे मुद्दों पर राजीव सेन ने कहा , “जाहिर है, दो दुखी लोग एक साथ रह रहे हैं और एक सुंदर बेटी के आशीर्वाद के बाद भी चीजों को बेहतर बनाने या समायोजित करने की कोशिश नहीं कर रहे हैं। मैं कहूंगा कि इस स्तर तक पहुंचने के लिए हम दोनों समान रूप से जिम्मेदार हैं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -