Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'रेप कर देंगे… सिर धड़ से अलग कर देंगे': 'हमारे बारह' फिल्म की हिरोइन...

‘रेप कर देंगे… सिर धड़ से अलग कर देंगे’: ‘हमारे बारह’ फिल्म की हिरोइन अदिति धीमान को धमकी, बुर्का पहन घर से निकलने को मजबूर

अदिति धीमान ने अन्नू कपूर की बेटी जरीन का रोल निभाया रही हैं। फिल्म में उनका किरदार एक ऐसी बेटी का है जो बागी है, लेकिन साथ ही अपने माँ-बाप की इज्जत का भी ख्याल रखती है।

बॉलीवुड की एक फिल्म ‘हमारे बारह’ आ रही है, जिसमें महिलाओं पर होने वाले घरेलू अत्याचार, सामाजिक दबाव को दिखाने की कोशिश की जा रही है। ये फिल्म 14 जून को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। हालाँकि ये फिल्म लंबी कंट्रोवर्सी में फँस गई थी, क्योंकि इस्लामिक कट्टरपंथी इस फिल्म को रिलीज करने का विरोध कर रहे थे। इस फिल्म में लीड कैरेक्टर अन्नू कपूर का है, जिनके साथ अदिति धीमान उनकी बेटी जरीन का किरदार निभा रही हैं। अब अदिति धीमान ने खुलासा किया है कि उनका ‘सिर तन से जुदा करने’, ‘रेप करने’ और जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

आज तक से एक्सक्लूसिव बातचीत में अदिति धीमान ने कहा कि “इतने रेप और मौत की धमकियाँ मिली की बाप रे! अभी मेरे मैसेजेस में सब पड़े हैं। सोशल मीडिया पर प्राइवेटली मैसेज करते हैं और आधे से ज्यादा तो फेक और फेसलेस अकाउंट्स हैं। मतलब एक दिन मैं अचानक उठी और इतने मैसेजेस देखे। सोचा हम लोग सोसायटी के लिए कुछ अच्छा करना चाह रहे हैं, लेकिन हमें ही जान से मार देंगे, सिर धड़ से अलग कर देंगे। रेप कर देंगे। ऐसे-ऐसे मैसेज आ रहे हैं। एक आर्टिस्ट के तौर पर ये बहुत ज्यादा दिल तोड़ने वाला होता है, लेकिन आपके पास इसे इग्नोर करने के अलावा कुछ नहीं रह जाता है।”

हमारे बारह में अदिति धीमान ने अन्नू कपूर की बेटी जरीन का रोल निभाया रही हैं। फिल्म में उनका किरदार एक ऐसी बेटी का है जो बागी है, लेकिन साथ ही अपने माँ-बाप की इज्जत का भी ख्याल रखती है। उन्हें दुख भी नहीं पहुँचाना चाहती। वो एक ऐसे परिवार में जन्मी है, जिसमें महिलाओं का कोई अस्तित्व नहीं माना जाता है। फिर भी वो सपने देखने से हिचकती नहीं है, इन सब के बीच कैसे जरीन अपनी पहचान बनाती है, ये फिल्म का मूल भाव है।

बता दें कि ‘हमारे बारह’ फिल्म पर रोक लग गई थी, लेकिन ये रोक हट गई है। ये फिल्म 14 जून को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने भी इस फिल्म पर बैन लगाने का ऐलान किया था, वहीं इस्लामिक कट्टरपंथी लगातार इस फिल्म से जुड़े लोगों को धमकियाँ दे रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -