Saturday, July 24, 2021
Homeविविध विषयअन्यजैसे-जैसे खुल रही परतें, रिया चकवर्ती पर कसता जा रहा शिकंजा: सुशांत की मौत...

जैसे-जैसे खुल रही परतें, रिया चकवर्ती पर कसता जा रहा शिकंजा: सुशांत की मौत में गर्लफ्रेंड के ‘विलेन’ बनने की पूरी कहानी

सुशांत केस में नया मोड़ तो तब आया जब बेटे की मौत के सदमे से उबरते ही सुशांत के पिता ने 28 जुलाई को रिया चक्रवर्ती समेत 6 लोगों के ख़िलाफ़ अपने गृहनगर पटना में एफआईआर दर्ज करवाई। उन्होंने इस केस में रिया पर सुशांत को प्रेम में फँसाकर पैसे ऐंठने का आरोप लगाया।

14 जून 2020 को बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अपने मुंबई के बांद्रा वाले घर में फंदे से लटके मिले। उनके एक डोमेस्टिक हेल्पर ने इस बात की जानकारी पुलिस को फोन करके दी।

शुरूआती जाँच में पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला बताया और उनके पास से कोई सुसाइड नोट न मिलने का खुलासा किया। उनके चाहने वाले उनकी मौत की खबर सुनकर इस बात पर यकीन ही नहीं कर पाए कि सुशांत जैसा प्रतिभावान और जिंदादिल इंसान खुदकुशी कर सकता है। 

15 जून को मुंबई के विले पार्ले स्थित सेवा समाज श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार हो गया। सुशांत के अंतिम संस्कार में गिने-चुने लोग आए। इनमें एक नाम उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती का भी था। 

16 जून को इस मामले में जाँच के दौरान पता चला कि सुशांत ने आखिरी कॉल जिन लोगों को किया उनमें एक नंबर रिया चक्रवर्ती का भी था। इसके बाद से ही कयास लगने शुरू हो गए थे कि पुलिस इस मामले में उनसे पूछताछ करेगी।

17 जून को इस मामले में बांद्रा पुलिस ने पड़ताल शुरू की। रिया समेत 11 लोगों को सुशांत की ‘आत्महत्या’ के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाया गया। यहाँ रिया दो साथियों के साथ पहुँची और अपनी स्टेटमेंट रिकॉर्ड करवाई।

दूसरी ओर तब तक सोशल मीडिया पर सुशांत की मौत को आत्महत्या मानने से इनकार किया जाना शुरू हो चुका था। कई लोग इस बीच रिया का नाम सुशांत की मौत का कारण बताकर उछाल रहे थे और महेश भट्ट के साथ उसकी तस्वीरें शेयर करते हुए दोनों पर संदेह जता रहे थे। 

इस बीच कंगना रनौत, रवीना टंडन जैसे कई कालाकारों ने बॉलीवुड नेक्सस का मुद्दा उठाया। 21 जून को एक बार फिर सबकी निगाहों में रिया चक्रवर्ती चढ़ना तब शुरू हुईं जब बिहार के मुजफ्फरपुर में पटाही निवासी एक युवक ने धारा 306, 109, 504, 506 के तहत रिया के ख़िलाफ़ कोर्ट में याचिका दर्ज करवाई और सुशांत की मौत के लिए रिया को जिम्मेदार बताया। 

16 जुलाई को रिया ने अपने ऊपर लग रहे सभी आरोपों का खंडन किया और ट्विटर पर गृहमंत्री अमित शाह से सीबीआई जाँच की माँग कर डाली। रिया ने कहा कि वह भी जानना चाहती है कि आखिर किस प्रेशर में सुशांत ने यह कदम उठाया।

सुशांत केस में नया मोड़ तो तब आया जब बेटे की मौत के सदमे से उबरते ही सुशांत के पिता ने 28 जुलाई को रिया चक्रवर्ती समेत 6 लोगों के ख़िलाफ़ अपने गृहनगर पटना में एफआईआर दर्ज करवाई। उन्होंने इस केस में रिया पर सुशांत को प्रेम में फँसाकर पैसे ऐंठने का आरोप लगाया। 

इस बीच सुशांत की पूर्व प्रेमिका अंकिता लोखंडे ने भी बिहार पुलिस को ऐसे साक्ष्य उपलब्ध करवा दिए जिनसे मालूम चला कि रिया चक्रवर्ती उनका उत्पीड़न करती थीं। देखते ही देखते पूरे मामले में सीबीआई जाँच की माँग ने जोर पकड़ लिया।

29 जुलाई जब बिहार पुलिस सुशांत के पिता की शिकायत पर चक्रवर्ती को पकड़ने मुंबई पहुँची तो वह ‘भूमिगत’ हो गई। कुछ समय में खबर आई कि रिया फरार नहीं हैं। उन्होंने सफेद सूट में वीडियो जारी किया। इस वीडियो उन्होंने कहा कि यकीन है कि उन्हें इंसाफ जरूर मिलेगा।

थोड़ी देर में पता चला कि रिया ने अपने बचाव के लिए शहर के सबसे महँगे वकील सतीश मानशिंदे को चुना है। वे सलमान खान और संजय दत्त जैसे लोगों का केस लड़ चुके थे। लोग यह सुनकर सवाल खड़े करने लगे कि क्या रिया ने इतना कमाया है कि वह इतना महँगा वकील कर सकें?

इसके बाद, रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार करने का मामला पीछे छूट गया और बिहार पुलिस व मुंबई पुलिस के बीच आपसी जंग छिड़ गई। महाराष्ट्र सरकार ने भी मामले को सीबीआई को सौंपने से मना कर दिया और साफ कह दिया कि इस मामले को किसी को नहीं सौंपा जाएगा। इस पर मुंबई पुलिस जाँच कर रही हैं।

सुशांत के पिता ने यह सब देखते हुए बिहार सरकार से गुहार लगाई और बिहार सरकार ने केके सिंह की अपील पर सीबीआई जाँच की सिफारिश केंद्र सरकार से की।  

31 जुलाई को सुशांत के बॉडीगार्ड की शिकायत और पिता की शिकायत पर में ईडी ने रिया के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया। उन पर सुशांत के 15 करोड़ रुपए की हेराफेरी का आरोप था। 

उधर, रिया की याचिका के विरोध में बिहार सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुँची। रिया ने अपनी याचिका में सारे मामले मुंबई ट्रांसफर करने की मॉंग की थी। 5 अगस्त को यह केस सीबीआई को सौंप दिया गया।

6 अगस्त से सीबीआई ने अपना काम शुरू कर दिया। जाँच एजेंसी ने एसआईटी टीम का गठन किया और त्वरित कार्रवाई नए सिरे से मामला दर्ज किया। 

6 अगस्त को इस मामले में 6 लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज किए गए। इसमें रिया चकवर्ती, इंद्रजीत चकवर्ती, संध्या चकवर्ती, शौविक चकवर्ती, सैम्युल मिरांडा, श्रुति मोदी का नाम शामिल हैं।

6 अगस्त को ही इंडिया टुडे ने अपनी रिपोर्ट में नया खुलासा किया। रिपोर्ट में बताया गया कि रिया चक्रवर्ती ने दबाव बनाकर सुशांत को उनकी बहनों से अलग किया।

6 अगस्त यह भी पता चला कि रिया और उसके परिवार वाले सुशांत को मेंटल हॉस्पिटल भेजना चाहते थे। जिसके कारण उन्होंने अपनी बहनों से मदद माँगी थी। 

7 अगस्त को एक नया एंगल सामने आया। रिया के कॉल डिटेल से पता चला कि वह मुंबई पुलिस के टॉप अधिकारी के संपर्क में थी।

आज ईडी ने इस मामले में रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की है। इस पूछताछ में रिया से पिछले तीन साल में उसके आय के स्रोत की जानकारी माँगी गई। वहीं, सुप्रीम कोर्ट में रिया के द्वारा याचिका डाली गई। इसपर कोर्ट ने बिहार सरकार और महाराष्ट्र सरकार से जवाब माँगा और केंद्र ने खुद को एक पक्ष बनाए जाने का सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया है।

इधर, बिहार पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में केस सीबीआई को ट्रांसफर किए जाने के कारणों पर हलफनामा दायर किया। इसमें बताया गया है कि एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती सुशांत सिंह राजपूत को अपने घर ले जाकर उन्हें मानसिक रूप से बीमार करने की कोशिश किया करती थी। वह पिछले कई दिनों से लगातार सुशांत को दवाइयों की ओवरडोज दे रही थी।

7 अगस्त को ही यह बात भी सामने आई कि रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती के खाते में सुशांत के बैंक अकाउंट से सीधे पैसे ट्रांस्फर किए जाते थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के एक्शन के डर से 3 कुख्यात गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार और मंगता हाथ उठाकर पहुँचे थाने, किया आत्मसमर्पण

मामला यूपी के शामली जिले का है। सभी गैंगस्टर्स ने कहा कि वो अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की कसम खाते हैं।

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,018FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe