Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाज14 साल बाद MS धोनी ने छोड़ी CSK की कप्तानी, ₹16 करोड़ के रवींद्र...

14 साल बाद MS धोनी ने छोड़ी CSK की कप्तानी, ₹16 करोड़ के रवींद्र जडेजा को मिली कमान

चेन्नई सुपर किंग्स ने जडेजा और धोनी समेत 4 खिलाड़ियों को रिटेन किया था। जडेजा को फ्रेंचाइजी ने 16 करोड़ रुपए में रिटेन किया था, जबकि धोनी को इस सीजन के लिए 12 करोड़ रुपए दिए गए थे।

भारतीय क्रिकेट से सबसे सफल कप्तान और दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने IPL-2022 के शुरू होने से पहले चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की कप्तानी छोड़ दिया है। एमएस धोनी की जगह रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को इस सीजन से टीम का कप्तान घोषित किया गया है। हालाँकि, वह टीम में खेलते रहेंगे।

चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने बयान में कहा, “एमएस धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स के नेतृत्व को दूसरे को सौंपने का फैसला करते हुए टीम का नेतृत्व करने के लिए रविंद्र जडेजा को चुना है। साल 2012 से चेन्नई सुपर किंग्स का एक अभिन्न हिस्सा बने जडेजा सीएसके के तीसरे कप्तान होंगे। धोनी इस सीजन और उससे आगे भी चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व करते रहेंगे।”

33 साल के जडेजा सीएसके के तीसरे कप्तान होंगे। आईपीएल के पहले सीजन यानी 2008 से ही महेंद्र सिंह धोनी टीम की कमान संभाल रहे थे। बीच में सुरेश रैना ने 6 मैंचों में कप्तानी की थी। अब यह कमान जडेजा को सौंप दी गई है। धोनी ने 213 मैच में कप्तानी करते हुए 130 मैचों में जीत दिलाई है।

बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स ने जडेजा और धोनी समेत 4 खिलाड़ियों को रिटेन किया था। जडेजा को फ्रेंचाइजी ने 16 करोड़ रुपए में रिटेन किया था, जबकि धोनी को इस सीजन के लिए 12 करोड़ रुपए दिए गए थे। इसके अलावा मोईन अली को 8 करोड़ और ऋतुराज गायकवाड़ को 6 करोड़ रुपए में रिटेन किया था.

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -