Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयअन्य'हिंदू होना पाप है क्या' : रॉकेट्री की आलोचना पर नंबी नारायण का सवाल,...

‘हिंदू होना पाप है क्या’ : रॉकेट्री की आलोचना पर नंबी नारायण का सवाल, कहा- ‘मैं हिंदू हूँ तो फिल्म में मुस्लिम-ईसाई दिखाएँगे क्या’

डेक्कन वाहिनी को दिए गए इंटरव्यू में नंबी नारायण ने लिबरलों की समीक्षा पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने पूछा कि अगर वो हिंदू हैं तो उन्हें हिंदू ही दिखाया जाएगा। मुस्लिम-ईसाई थोड़ी बना दिया जाएगा।

‘रॉकेट्री- द नंबी इफेक्ट’ फिल्म में इसरो वैज्ञानिक को हिंदू परंपराओं का पालन करते हुए दिखाए जाने पर लिबरल आलोचकों ने जो सवाल खड़े किए थे, उन पर स्वयं नंबी नारायण ने जवाब दिया है। उन्होंने पूछा है कि क्या हिंदू होना पाप है। अगर वो हिंदू हैं और हिंदू धर्म का अनुसरण करते हैं तो वही तो उनकी बायोग्राफी में दिखाया जाएगा।

डेक्कन वाहिनी को दिए गए इंटरव्यू के दौरान उन्होंने फिल्म की आलोचना को गलत बताते हुए कहा,

“मैं हिंदू हूँ। मुझे कोई शर्म नहीं है हिंदू होने में। क्या हिंदू होना पाप है? अगर मैं हिंदू हूँ और मेरी कहानी दिखाई जा रही है तो वो मुझे हिंदू की तरह ही तो दिखाएँगे । वह लोग मुझे मुस्लिम या ईसाई तो नहीं दिखा सकते…। तो फिर हम किस बारे में बात कर रहे हैं? क्या ब्राह्मण होना पाप है? मैं ब्राह्मण नहीं हूँ, वो अलग सवाल है। अगर कोई ब्राह्मण है तो क्या आप उसे हटा देंगे? कितने ब्राह्मण हैं जिन्होंने इस देश को अपनी सेवा दी। कोई एक नहीं। बहुत सारे। मैं आपको लिस्ट दे सकता हूँ।”

उन्होंने कहा,

“मैं बस ये कहना चाहता हूँ कि हम बेवजह मामले को रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। हम नरेंद्र मोदी को भाजपा नेता कहते हैं न कि प्रधानमंत्री। आपकी जानकारी के लिए बताता हूँ, नरेंद्र मोदी को भूल जाएँ। क्या आप जानते हैं कि वर्तमान के केरल मुख्यमंत्री ने मेरा कितना समर्थन किया था? जिस ढंग से उन्होंने मुझे समर्थन दिया वो जितना बताओ उतना कम है? उन्होंने मेरे मामले को लंबा खिंचने से रोका। ऐसे में क्या मुझे कम्युनिस्ट कहा जाने लगेगा।”

वह इंटरव्यू में साफ करते हैं कि उनका किसी भी राजनीतिक पार्टी के प्रति कोई झुकाव नहीं है। लेकिन फिर भी उनसे सवाल हो रहे हैं क्योंकि लोगों की एक मानसिकता बन गई है। वह कहते हैं, “आप मुझसे सवाल नहीं पूछते, क्योंकि आपने एक तरह की मानसिकता बनाई हुई है कि आप मुझपर बीजेपी का ठप्पा लगाना चाहते हैं।” 

उन्होंने इंटरव्यू लेने वाले को सलाह दी वो अपने सवाल में सुधार करें और चीजों को समझें। तब उन्हें पता चलेगा कि चाहे शिवसेना हो या कोई और उनसे किसी का कोई लेना देना नहीं है।

वह बोले, “अगर कोई मुझे समर्थन देता है है तो कृपया ऐसा न दिखाएँ कि मैं उस पार्टी विशेष का हो गया हूँ। मैं ये देखकर खुश होता हूँ मैंने नरेंद्र मोदी और पिनराई विजयन दोनों से बात की। वह दोनों ही शीर्ष पर हैं। अगर मेरा केस सही नहीं होता तो ये दो लोग क्यों मेरे साथ आते।”

रॉकेट्री की आलोचना

बता दें कि नंबी नारायण के जीवन पर आधारित रॉकेट्री फिल्म 1 जुलाई 2022 को सिनेमाघरों में आई थी। आर माधवन ने इस फिल्म की स्क्रिप्ट को लिखा, इसे डायरेक्ट किया और इसमें लीड रोल निभाया। इस फिल्म को देखने के बाद कई लिबरलों ने इस पर सवाल खड़े किए थे। फिल्म आलोचक अनुपमा चपड़ा ने कहा था,

“ये सराहनीय बात है कि फिल्म ने नारायणन की उपलब्धियों को सुर्खियों में ला दिया है। लेकिन फिल्म में लगातार उनकी राष्ट्रभक्ति दिखाई गई है और बार-बार उनके धर्म को प्रदर्शित किया गया है। सबसे पहले ही दृश्य में नारायण अपने घर में पूजा कर रहे हैं और किसी भी महत्वपूर्ण समय में वह प्रार्थना ही करते दिखते हैं। “

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -