Tuesday, June 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यन्यूजीलैंड ने मैच खेला नहीं, पुलिसवालों ने खा ली ₹27 लाख की बिरयानी: पाकिस्तान...

न्यूजीलैंड ने मैच खेला नहीं, पुलिसवालों ने खा ली ₹27 लाख की बिरयानी: पाकिस्तान के साथ वनडे क्रिकेट चाहे तालिबान वाला अफगानिस्तान

अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ACB) के नए हेड अजिजुल्लाह फ़ाज़ली ने पाकिस्तान के लिए वनडे सीरीज की मेजबानी करने की बात कही है।

सुरक्षा वजहों से न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम का दौरा रद्द होने के बाद से बदहवास पाकिस्तान के साथ तालिबानी शासन वाला अफगानिस्तान क्रिकेट खेलना चाहता है। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन अजीउल्लाह फाजली ने पाकिस्तान के साथ वनडे क्रिकेट सीरिज की मेजबानी की बात कही है। इस बीच कुछ रिपोर्टों में बताया गया है कि भले न्यूजीलैंड ने एक भी मैच नहीं खेला, लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को करीब 27 लाख रुपए का बिरयानी का बिल मिला है।

कुछ रिपोर्टों में यह रकम 30 लाख रुपए के करीब बताई गई है। कथित तौर होटल में ठहरी न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम की सुरक्षा में 500 पुलिसकर्मी तैनात थे। इनके लिए दिन में दो बार बिरयानी आती थी। इस पर आठ दिन में करीब 27 लाख का खर्च आया है। कीवी टीम की सुरक्षा में फ्रंटियर कॉन्‍सटेबुलरी के जवान भी लगे थे। अभी उनके ऊपर हुए खर्च का बिल नहीं आया है। रिपोर्ट के अनुसार, जब बिल पास होने के लिए वित्त विभाग के पास पहुँचा तो उसे रोक लिया गया। हालाँकि अलग-अलग रिपोर्ट में बिल की राशि बताई जा रही है, अभी तक अधिकारियों की तरफ से बयान जारी कर नहीं बताया गया है कि वास्तव में बिल कितने का आया है। मगर सोशल मीडिया यूजर्स इसका जमकर मजे ले रहे हैं।

एक यूजर ने लिखा, “भूखे नंगे इस्लाम को कितना भी सभ्य समाज के पाठ पढ़ाए आखिर वो आदत से मजबूर रहते हैं।”

दूसरे ने लिखा, “और इन्हें कश्मीर चाहिए।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “अब किससे भीख माँगेंगे?” जिसके जवाब में यूजर ने लिखा, “चीन से और किससे।”

अंकुर ने ट्वीट करते हुए लिखा, “उड़ गए पाकिस्तान के होश, जब न्यूजीलैंड की सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मी चटकर गए 27 लाख की बिरयानी। इसे कहते हैं कंगाली में आटा गीला। एक तो सीरीज भी कैंसल हो गई और ऊपर से जेब भी ढीली हो गई कंगाल देश की!! आतंकिस्तान के वजीरे-आजम आया मजा? होश ठिकाने तो आपके आएँगे नही।”

हाथीराम ने लिखा, “साला इतने में तो पूरे पाकिस्तान के भूखे नंगे लोगों का पेट भर जाता।”

इधर अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ACB) के नए हेड अजिजुल्लाह फ़ाज़ली ने पाकिस्तान के लिए वनडे सीरीज की मेजबानी करने की बात कही है। फ़ाज़ली ने कहा है कि वह भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका का दौरा करते हुए क्रिकेट को लेकर कुछ निर्णय लेंगे। वह रमीज राजा से मिलकर पाकिस्तान को सीरीज के लिए आमंत्रित करेंगे।

AFP के अनुसार फाजिल ने कहा, “मैं 25 सितंबर से पाकिस्तान का दौरा करूँगा और फिर क्रिकेट बोर्ड के अधिकारियों से मिलने भारत, बांग्लादेश और संयुक्त अरब अमीरात जाऊँगा।” फ़ाज़ली ने कहा कि वह पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए अध्यक्ष रमीज राजा से मिलेंगे और उस सीरीज में पाकिस्तान की मेजबानी करने की पेशकश करेंगे जो श्रीलंका में नहीं खेल पाए थे।

वहीं न्यूजीलैंड और इंग्लैंड क्रिकेट टीम के दौरा रद्द करने के बाद पाकिस्तान ने इसके लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया है। पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने बकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया है कि ओम प्रकाश मिश्रा नाम के भारतीय शख्स ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल की पत्नी को फेक आइडी बनाकर धमकी भरा मेल भेजा था। चौधरी ने दावा किया कि उस ईमेल आईडी को भारत में बनाया गया था और सिंगापुर के आईपी एड्रेस के जरिए भेजा गया। 

दिलचस्प बात यह है कि कुछ पाकिस्तानी इस बात पर यकीन भी कर रहे हैं और गंभीरता के साथ पोस्ट कर रहे हैं कि जिसने ‘बोल न आंटी आऊँ क्या, घंटी मैं बजाऊँ क्या’ गाना गाया है, उसी ने मार्टिन गुप्टिल की बीवी के नाम से धमकी भरा संदेश भेजा।

गौरतलब है कि 17 सितंबर को न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान में वन डे मैच से ठीक पहले अपना पाक का दौरा रद्द कर दिया था। न्यूजीलैंड की टीम ने सुरक्षा लिहाज से यह फैसला लिया था। बताया गया था कि न्यूजीलैंड की टीम ने टॉस से कुछ देर पहले मैदान में जाने से मना किया और फिर खबर आई कि ये दौरा रद्द हो रहा है। इसके बाद इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने भी दौरा रद्द कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -