Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयअन्यकौन है सहर शिनवारी: भारत के खिलाफ टी-20 विश्व कप में 2 बार निकाह...

कौन है सहर शिनवारी: भारत के खिलाफ टी-20 विश्व कप में 2 बार निकाह करने वाली… या इंटरनेट पर पाकिस्तान की ‘जहरीली नागिन’

"जिम्बाब्वे के लड़के से निकाह करूँगी... श्रीलंकाई लड़के से निकाह करूँगी" - इतने से मन नहीं भरा तो सहर शिनवारी ने अब लिखा - "गुजरात में BJP हारेगी, ऐसा नहीं हुआ है तो..."

पाकिस्तानी एंटरटेनर सहर शिनवारी (Sehar Shinwari) पिछले कुछ हफ्तों से ट्विटर पर चर्चा का विषय बनी हुई हैं। दरअसल, उन्होंने नवंबर की शुरुआत में ट्वीट किया था, “मैं जिम्बाब्वे के लड़के से निकाह करूँगी, अगर उनकी टीम रोमांचक तरीके से अगले मैच में भारत को हरा देती है तो।” इस ट्वीट के वायरल होने के बाद भारत के कई लोगों ने उनके इस प्रस्ताव का मजाक उड़ाया था। हालाँकि, उन्होंने ऐसा ट्वीट पहली बार नहीं किया था। इससे पहले भी वह निकाह का प्रस्ताव देने वाले ट्वीट कर चुकी हैं।

सहर शिनवारी ने 11 सितंबर 2022 को भी इसी तरह एक ट्वीट किया था। उन्होंने लिखा था, “अगर आज श्रीलंका जीत जाती है तो मैं श्रीलंकाई लड़के से निकाह करूँगी।”

शिनवारी इस तरह से अन्य देश के खिलाड़ियों को बार-बार निकाह का प्रस्ताव देकर खुद ही सोशल मीडिया पर अपना मजाक बना चुकी हैं। अनजाने में ही सही लेकिन, शिनवारी का जुनून काफी हद तक सभी को समझ में आ रहा है। पाकिस्तानियों का एक और जुनून भारत और भारत की राजनीति को लेकर भी है। शिनवारी द्वारा गुरुवार (17 नवंबर 2022) तड़के को किए गए ट्वीट से यह साफ जाहिर होता है।

शिनवारी ने अपने ट्वीट में दावा ​किया कि गुजरात में बीजेपी हारेगी और अगर ऐसा नहीं हुआ है तो कोई भी उन्हें कुछ भी कह सकता है। उन्होंने ट्वीट किया, “मैं शर्त लगाती हूँ कि गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा को शर्मनाक हार मिलने वाली है। अगर ऐसा नहीं होता है, तो मुझे जो मन चाहे वह कहकर बुलाओ।”

उनके पिछले पोस्ट की भी काफी आलोचना हुई थी। उन्हें पता है कि भारतीय भी पाकिस्तानियों का मजाक उड़ाना पसंद करते हैं। इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया कि कैसे आम आदमी पार्टी गुजरात में चुनाव जीतेगी। उन्होंने लिखा, “पूर्वानुमान के मुताबिक अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी बीजेपी के खिलाफ गुजरात में भारी उलटफेर करेगी।”

भारत से मिल रही तवज्जो से उत्साहित शिनवारी ने फिर ट्वीट कर अरविंद केजरीवाल की तारीफ की।

इंटरनेट की भाषा में कहें तो शिनवारी जो कर रही हैं, उसे ‘टट्टी पोस्टिंग’ और ‘बेटिंग’ कहा जाता है। आम तौर पर मशहूर होने के लिए, फॉलोअर्स की संख्या बढ़ाने के लिए या फिर किसी का रिएक्शन पाने के लिए ऐसे ट्वीट किए जाते हैं। सोशल मीडिया पर ‘वायरल’ होने के लिए यह एक आम हथकंडा है।

अक्सर, विज्ञापन या किसी प्रोडक्ट के प्रमोशन, सेल के लिए भी पैसे देकर लोगों या ब्रांड द्वारा ऐसी लोकप्रियता का लाभ उठाया जाता है। जैसा कि देखा जा सकता है, सहर शिनवारी के ट्विटर बायो में एक लाइन लिखी हुई है, जिससे लोग डायरेक्ट उन तक अपने ब्रांड के प्रमोशन के लिए पहुँच सकते हैं। उनके बॉयो में साफ लिखा गया है, ‘बिजनेस और ब्रांड के पेड प्रमोशन के मुझे DM करें।

सहर शिनवारी का ट्विटर अकाउंट

शिनवारी ने नरेंद्र मोदी के विरोध में और राहुल गाँधी के समर्थन में भी ट्वीट किए हैं।

इस साल सितंबर 2022 में शिनवारी ने ट्वीट किया कि कैसे सिर्फ राहुल गाँधी ही भारत को बीजेपी और आरएसएस से बचा सकते हैं।

शिनवारी आरएसएस (RSS) को बिल्कुल पसंद नहीं करती हैं।

दिलचस्प बात यह है कि कॉन्ग्रेस समर्थक और नेता भी इसी तरह की भाषा का इस्तेमाल आरएसएस से जुड़े लोगों के लिए करते हैं।

2019 के आम चुनाव से पहले शिनवारी ने 2018 में ट्वीट किया था। इस ट्वीट में उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री के रूप में राहुल गाँधी का समर्थन किया था।

मालूम हो कि पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू पर पाकिस्तानी नेताओं के साथ होने का आरोप लगाया था।

26 अक्टूबर को ट्वीट करके वह कहती है, “नरेंद्र मोदी आज के रावण हैं।”

वह ‘भक्त’ का मजाक भी उड़ाती हैं और चाहती हैं कि सीएए को निरस्त कर दिया जाए।

सीएए के तहत पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान से आने वाले वहाँ के धार्मिक अल्पसंख्यकों (हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाई) को नागरिकता देने का प्रावधान है। यह इन देशों के मुस्लिम नागरिकों के भारत आने पर भी प्रतिबंध नहीं लगाता है, लेकिन इसके लिए अलग प्रावधान है। सीएए विशेष रूप से केवल इन तीन देशों में प्रताड़ित किए जा रहे 6 अल्पसंख्यक धार्मिक समूहों के लिए है।

शिनवारी पाकिस्तान के आईएसआई समर्थित अलगाववादी खालिस्तानी समूह का भी समर्थन करती हैं, जो सिखों के लिए एक अलग देश खालिस्तान बनाना चाहता है।

शिनवारी हिंदुओं और सिखों को बाँटने की कोशिश करती हुए भी देखी गई हैं।

यह तथाकथित किसानों के आंदोलन के दौरान अक्सर इस्तेमाल किया जाता था, जिसमें खालिस्तानी तत्व दिल्ली सीमा पर विरोध-प्रदर्शन का समर्थन कर रहे थे।

शिनवारी, जो स्पष्ट रूप से भारतीय राजनीति से बहुत अधिक जुड़ी हुई लगती हैं, उनके पास ब्लू टिक वाला वैरिफाइड ट्विटर अकाउंट भी है। लेकिन, उनके बारे में बहुत कम ही लोग जानते हैं। कोई मीडिया लेख नहीं है, YouTube पर कोई वीडियो नहीं है, जो इस बात की पुष्टि करता हो कि वह एक पाकिस्तानी एक्ट्रेस हैं।

IMDb पर सहर शिनवारी की प्रोफाइल

वहीं, Avt Khyber पर भी सहर शिनवारी के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी।

Avt Khyber पर सहर शिनवरी के बारे में कुछ नहीं

दरअसल, Avt Khyber के यूट्यूब चैनल पर भी सहर शिनवारी का कोई जिक्र नहीं है।

Avt Khyber के यूट्यूब चैनल पर भी सहर शिनवारी का जिक्र नहीं है।

थोड़ी और पड़ताल करने पर खैबर न्यूज पर ‘खुबूना ना मरी’ (Khuboona Na Mri) नाम से कुछ ‘मिनी टीवी सीरीज’ का पता चला। लेकिन 2017 में अपलोड किए गए एपिसोड में अंग्रेजी सब-टाइटल नहीं है और कोई भी स्पष्ट रूप से पहचान नहीं सकता है कि ट्विटर पर सहर शिनवारी होने का दावा करने वाली महिला वही एक्ट्रेस है, जो सीरियल का हिस्सा थी।

पहली फोटो, अपने ट्विटर हैंडल से शेयर की गई सहर शिनवारी की तस्वीर। दूसरी फोटा, बिना नाम के यूट्यूब वीडियो से ली गई। तीसरी फोटो, सहर शिनवारी के ट्विटर अकाउंट पर प्रोफाइल पिक्चर।

शिनवारी के इंस्टाग्राम अकाउंट में भी सेम ट्विटर बायो जैसा ही लिखा हुआ है। लगभग 35,000 फॉलोअर्स वाला यह उनका प्राइवेट अकाउंट है। हालाँकि, यह एक वैरिफाइड अकाउंट नहीं है।

‘सहर शिरवानी’ का इंस्टाग्राम अकाउंट

वास्तव में, शिनवारी का केवल भारतीय मीडिया ने उल्लेख किया है कि वह दो सप्ताह पहले चर्चा में आई थीं। लेकिन पाकिस्तानी मीडिया में किसी ने भी उनके बारे में कभी कुछ नहीं लिखा। डॉन, द नेशन, अन्य प्रमुख पाकिस्तानी प्रकाशनों में भी उनके बारे में एक भी लेख नहीं है। किसी पाकिस्तानी मीडिया ने उनके बारे में कोई चर्चा नहीं की है। यह दिलचस्प है कि कैसे वह पाकिस्तान में अब तक किसी भी चीज का हिस्सा नहीं रही है और अभी भी उनकी प्रोफाइल पर ब्लू टिक है।

पाकिस्तान PsyOps (दुश्मन को हराने के लिए मनोवैज्ञानिक ऑपरेशन) करने के लिए जाना जाता है, ताकि भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नैरेटिव बनाया जा सके। खासकर कश्मीर और ‘हिंदुत्व शासन में मुस्लिमों की दुर्दशा’ जैसे मुद्दों पर बात करके। ज्ञात हो कि इस साल सितंबर में पाकिस्तान के खिलाफ मैच में अर्शदीप ने 18वें ओवर की तीसरी गेंद में आसिफ अली का कैच छोड़ा था, जिसके बाद भारतीय क्रिकेटर को अचानक सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा। कुछ अकॉउंट्स से उन्हें देश विरोधी जैसे शब्द तक कहे गए। जो ट्वीट अर्शदीप को देशद्रोही आदि बताते हुए किए गए थे, वो अधिकतर पाकिस्तान और अरब देशों के लोगों ने भारतीय बनकर किए थे।

अक्टूबर 2021 में भारत टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच हार गया था। उस समय, भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी को निशाना बनाया गया था। तब प्रोपेगेंडा करने वाले एक शख्स ने दावा किया था कि भारतीयों ने शमी को गाली दी और हार के लिए दोषी ठहराया क्योंकि वह एक मुस्लिम है।

ऐसे में यह निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता है कि क्या ‘सहर शिरवानी’ एक पाकिस्तानी अभिनेत्री का रियल अकाउंट है, जिसने 2017 में एक धारावाहिक में काम किया था और भारतीय राजनीति से बेहद अच्छी तरह से वाकिफ हैं। हो सकता है, यह सिर्फ एक हनीट्रैप है। कुछ गुप्त उद्देश्यों के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों द्वारा चलाया जाने वाला प्रोपेगेंडा अकाउंट है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

लालू यादव ने हाथ जोड़ अनिल अंबानी को किया प्रणाम, प्रियंका चतुर्वेदी ने एन्जॉय किया ‘यादगार क्षण’: अनंत अंबानी की शादी में I.N.D.I. नेताओं...

अखिलेश यादव अपनी बेटी और पत्नी डिंपल के साथ समारोह में मौजूद रहे। यहाँ तक कि कॉन्ग्रेस नेता सलमान ख़ुर्शीद भी अपने परिवार के साथ भोज खाने के लिए पहुँचे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -