Thursday, April 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यरिया के आने के बाद बदल गए थे सुशांत भैया, कुत्ते के बेल्ट से...

रिया के आने के बाद बदल गए थे सुशांत भैया, कुत्ते के बेल्ट से गला घोंटा गया होगा: पूर्व कर्मचारी का दावा- यह मर्डर है

अंकित आचार्य ने बताया कि अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के जिंदगी में आने के बाद से सुशांत पूरी तरह से बदल गए थे। उन्होंने अपना ठिकाना बदल लिया। उनका पूरा स्टाफ भी बदल दिया गया। अंकित ने कहा कि जब वे अपनी 2 माह की सैलरी लेने के लिए सुशांत से मिलना चाहते थे तो उन्हें मिलने से रोक दिया गया था।

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर हर दिन नए चौंकाने वाले तथ्य सामने आ रहे हैं। दिवंगत अभिनेता के वकील, परिवार के सदस्यों, दोस्तों के बाद, अब उनके पूर्व कर्मचारी अंकित आचार्य ने चौंकाने वाला दावा किया है। अंकित बतौर निजी सहायक हमेशा उनके साथ रहते थे। उनका दावा है कि यह सुसाइड न होकर मर्डर है।

मनोरंजन और फिल्मों से जुड़ी ख़बरों की नामी मीडिया पोर्टल ‘पिंकविला’ को दिए साक्षात्कार में अंकित ने यह दावा किया है। अंकित आचार्य ने कहा, “सुशांत भैया खुश और सकारात्मक इंसान थे। वह हमेशा एक्टिव रहना चाहते थे। जब मैंने उनके साथ 2017 से 2019 तक काम किया, तब वह कभी उदास या परेशान नहीं रहते थे। वह कभी-कभी गुस्से में आ जाते थे, लेकिन 5 मिनट में शांत हो जाते थे। वह हमारे साथ परिवार और अपने भाइयों की तरह व्यवहार करते थे।”

इंटरव्यू में अंकित आचार्य ने बताया कि अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के जिंदगी में आने के बाद से सुशांत पूरी तरह से बदल गए थे। उन्होंने अपना ठिकाना बदल लिया। उनका पूरा स्टाफ भी बदल दिया गया। अंकित ने कहा कि जब वे अपनी 2 माह की सैलरी लेने के लिए सुशांत से मिलना चाहते थे तो उन्हें मिलने से रोक दिया गया था।

अंकित आचार्य के अनुसार, बाद में जब एक दिन वे सुशांत से मिले तो उन्होंने उनकी सैलरी के अलावा 50 हजार रुपए भी दिए। अंकित ने कहा कि उस समय सुशांत बिल्कुल भी सामान्य नहीं थे, उनके चेहरे पर उदासी थी, आँखों में डार्क सर्कल और वो बेहद तनाव में नजर आ रहे थे।

बकौल अंकित, “मैं सुशांत भैया को अच्छी तरह से जानता था। मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि यह आत्महत्या है। यह निश्चित रूप से एक हत्या है। मान लो कि सुशांत भैया खुद को फाँसी से लटका लेते हैं, लेकिन जब इस तरह से आत्महत्या की जाती है, तो निशान हमेशा ‘U’ आकार में होता है। लेकिन जब कोई आपका गला घोंटता है, तो यह हमेशा ‘O’ के आकार में होता है। सुशांत भैया के मामले में, ‘O’ का निशान है। आत्महत्या करने वालों की आँखें बाहर निकलती हैं, जीभ बाहर निकलती है, वहाँ झाग होता है। इसमें से कुछ भी सुशांत भैया के शरीर में नहीं था। इसलिए यह निश्चित रूप से हत्या का मामला है।”

पिंकविला के साथ बातचीत में अंकित आचार्य ने एक चौंकाने वाला खुलासा ये भी किया कि सुशांत का गला जिस बेल्ट से घोंटा गया, वो उनके पालतू कुत्ते फ़ज (Fudge) की बेल्ट थी। अंकित ने कहा कि उनके पास सुशांत की तस्वीरें अभी तक भी हैं और वो उन्हें बार-बार देखते रहते हैं।

अंकित का मानना है कि अपराधियों ने सुशांत के पालतू कुत्ते Fudge की बेल्ट से उनका गला घोंटा होगा, जिससे उनकी मौत हो गई। सुशांत की मौत की जाँच सीबीआई को सौंपे जाने से वे खुश हैं। अंकित का कहना है कि वे चाहते हैं कि सुशांत को न्याय मिले ओर दोषियों को फाँसी की सजा हो।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस जज ने सुनाया ज्ञानवापी में सर्वे करने का फैसला, उन्हें फिर से धमकियाँ आनी शुरू: इस बार विदेशी नंबरों से आ रही कॉल,...

ज्ञानवापी पर फैसला देने वाले जज को कुछ समय से विदेशों से कॉलें आ रही हैं। उन्होंने इस संबंध में एसएसपी को पत्र लिखकर कंप्लेन की है।

माली और नाई के बेटे जीत रहे पदक, दिहाड़ी मजदूर की बेटी कर रही ओलम्पिक की तैयारी: गोल्ड मेडल जीतने वाले UP के बच्चों...

10 साल से छोटी एक गोल्ड-मेडलिस्ट बच्ची के पिता परचून की दुकान चलाते हैं। वहीं एक अन्य जिम्नास्ट बच्ची के पिता प्राइवेट कम्पनी में काम करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe