Tuesday, June 25, 2024
Homeविविध विषयअन्य'अभ्युदय योजना' के तहत योगी सरकार कराएगी IAS, PCS सहित कई परीक्षाओं की नि:शुल्क...

‘अभ्युदय योजना’ के तहत योगी सरकार कराएगी IAS, PCS सहित कई परीक्षाओं की नि:शुल्क तैयारी: यहाँ जानें पूरी डिटेल

प्रदेश का कोई भी युवा जो सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, टीईटी जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा हो, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस खास पहल का लाभ ले सकता है। योजना के तहत बसंत पंचमी से पठन-पाठन शुरू होगा, इससे पहले इच्छुक अभ्यर्थियों को लेख में दिए लिंक पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकृत अभ्यर्थियों के साथ 15 फरवरी को सीएम योगी संवाद भी कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने UPSC, राज्य लोक सेवा आयोग, बैंक, एसएससी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे होनहार छात्रों के लिए नि:शुल्क कोचिंग की व्यवस्था की है। इसके लिए सरकार ‘अभ्युदय योजना’ लाई है। जिसकी शुरुआत बसंत पंचमी यानी 16 फरवरी से होगी। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया आज (फरवरी 10, 2021) से शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर रजिस्ट्रेशन शुरू होने की जानकारी दी है।

उत्तर प्रदेश में कई सारे छात्र ऐसे हैं जो अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण कोचिंग प्राप्त नहीं कर पाते हैं। ऐसे सभी छात्रों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना आरंभ की है। प्रदेश का कोई भी युवा जो सिविल सेवा, नीट, जेईई, बैंकिंग, टीईटी जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा हो, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस खास पहल का लाभ ले सकता है। योजना के तहत बसंत पंचमी से पठन-पाठन शुरू होगा, इससे पहले इच्छुक अभ्यर्थियों को http://abhyuday.up.gov.in पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकृत अभ्यर्थियों के साथ 15 फरवरी को सीएम योगी संवाद भी कर सकते हैं।

क्या है ‘अभ्युदय योजना’

इस योजना के अंतर्गत ऐसे सभी छात्रों को नि:शुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी जो इन परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं लेकिन अपनी आर्थिक स्थिति के कारण नहीं कर पाते हैं। प्रदेश के दूर-दराज इलाकों में रहने वाले और गरीब तबके के होनहार छात्रों के लिए योगी सरकार ‘अभ्युदय योजना’ लेकर आई है। यह योजना उन स्टूडेंट्स के लिए है जो शहरों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए नहीं जा सकते। प्रदेश के हर मंडल में शुरू होने वाली अभ्युदय कोचिंग ऐसे छात्रों के लिए वरदान साबित होगी, जिनके पास प्रतिभा तो है, पर संसाधनों की कमी से पीछे रह जाते हैं। 

इस योजना के अंतर्गत मंडल स्तर पर छात्रों को सिलेबस एवं क्वेश्चन बैंक भी उपलब्ध करवाया जाएगा। UP Mukhyamantri Abhyudaya Yojana 2021 का कार्यान्वयन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की निगरानी में किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत कक्षाएँ बसंत पंचमी के दिन से आरंभ होंगी। इस योजना के अंतर्गत छात्रों को ऑनलाइन स्टडी मटेरियल के साथ ऑफलाइन कक्षाएँ भी प्रदान की जाएगी।

अभ्युदय कोचिंग’ में इन परीक्षाओं की होगी तैयारी

सरकार की इस योजना के जरिए छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उच्‍च स्‍तरीय मार्गदर्शन और एग्जाम से पहले ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसमें संघ लोक सेवा आयोग (UPSC), उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC), अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC), अन्‍य भर्ती बोर्ड, नीट (NEET), जेईई (JEE), एनडीए (NDA), पीओ (PO), एसएससी (SSC), टीईटी (TET), बीएड (B.Ed) और अन्य परीक्षाएँ शामिल हैं।

IAS, IPS और PCS ऑफिसर देंगे स्टूडेंट्स को मार्गदर्शन

सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश के 71वें स्थापना दिवस पर युवाओं को मुफ्त कोचिंग सुविधा की सौगात दी थी। इन कोचिंग सेंटर्स में प्रदेश के छात्रों को आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS) और पीसीएस (PCS) अधिकारी कोचिंग देंगे, वह भी बिल्कुल मुफ्त में। तय व्यवस्था के अनुसार, विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ भी अतिथि व्याख्याता के तौर पर आमंत्रित किए जाएँगे। यहाँ प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विषय का चयन परीक्षा की तैयारी के तरीके, टिप्स, प्रश्नों के उत्तर लिखने की विधि, सामान्य अध्ययन के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त, विषय विशेषज्ञ की उपलब्धता के आधार पर विभिन्न विषयों की कक्षाएँ भी चलेंगी।

ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर उपलब्ध होगा स्तरीय कंटेंट

अभ्यर्थियों को सहजता के साथ गुणवत्तापूर्ण स्टडी मैटेरियल मिल सके, इसके लिए राज्य स्तर पर ई-लर्निंग कन्टेन्ट प्लेटफार्म बनाया गया है। इस प्लेटफार्म पर विभिन्न अधिकारियों द्वारा परीक्षा की तैयारी संबंधी अपने अनुभव साझा करते हुए वीडियो अपलोड किए जाएँगे। इसके अलावा, परीक्षा की तैयारी से संबंधित टिप्स सामग्री, पुस्तकों आदि से संबंधी मार्गदर्शन देते हुए वीडियो अपलोड होगा। लाइव सेशन एवं सेमिनार भी होंगे। 

ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर छात्र अपनी जिज्ञासाएँ एवं प्रश्न भी सबमिट कर सकेंगे। यहाँ विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित विषय वस्तु सामग्री एवं क्यूरेटिव कन्टेन्ट उपलब्ध होगा, जिसके लिए ख्याति प्राप्त संस्थाओं की सामग्री इकट्ठा की जा रही है। पंजीकृत अभ्यर्थियों को ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर सवाल पूछने का भी मौका होगा। जिसका विशेषज्ञ समुचित निराकरण करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि कोचिंग सेंटर युवाओं को एक नया मंच देगा और उन्हें नई ऊँचाइयों पर ले जाने के लिए प्रेरित करेगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

शराब घोटाले में जेल में ही बंद रहेंगे दिल्ली के CM केजरीवाल, हाई कोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक: निचली अदालत के फैसले पर...

हाई कोर्ट ने कहा कि निचली अदालत ने मामले के पूरे कागजों पर जोर नहीं दिया जो कि पूरी तरह से अनुचित है और दिखाता है कि अदालत ने मामले के सबूतों पर पूरा दिमाग नहीं लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -