Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजजहाँ संतों की हुई थी पीट-पीटकर हत्या, वहाँ अब 16 साल की लड़की के...

जहाँ संतों की हुई थी पीट-पीटकर हत्या, वहाँ अब 16 साल की लड़की के मुँह में लिंग और ड्रग्स ठूँसा: 15 घंटे तक 8 ने किया रेप

पीड़िता के अनुसार आरोपितों ने ड्रग्स ले रखी थी। वह जब भी दर्द से कराहती थी आरोपित उसके मुँह में ड्रग्स और अपना प्राइवेट पार्ट डाल देते थे। इस दौरान उसका अप्राकृतिक यौन शोषण भी किया गया।

महाराष्ट्र का पालघर फिर अपनी हैवानियत को लेकर चर्चा में है। 16 साल की लड़की से गैंगरेप की घटना सामने आई है। 8 लोगों ने करीब 15 घंटे तक उसे अपनी हवस का ​शिकार बनाया। पीड़िता के मुँह में ड्रग्स और लिंग तक ठूँस दिया। घटना शुक्रवार (16 दिसंबर 2022) की है। पुलिस ने केस दर्ज कर सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना माहिम इलाके की है। शुक्रवार की रात 8 बजे पीड़ित किशोरी अचानक ही अपने घर से गायब मिली। लड़की के परिवार वालों ने काफी तलाश किया, लेकिन वो नहीं मिली। अगले दिन शनिवार को लड़की के परिजनों ने सातपाटी पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई। पुलिस ने लड़की के मोबाइल पर कॉल किया तो वह रो रही ही। पुलिस को मोबाइल का लोकेशन हरणवाडी में मिला।

इस लोकेशन पर पुलिस ने दबिश डाली तो लड़की मिली। पूछताछ में लड़की ने बताया कि उसे उसके बॉयफ्रेंड ने मिलने के बहाने बुलाया था। बाद में उसके साथ 8 लोगों ने समुद्र किनारे बंद पड़े एक बंगले में रेप किया। बाद में उसे अगले दिन सभी आरोपित झाड़ी में ले गए। यहाँ भी उसके साथ सभी आरोपितों ने बारी-बारी से बलात्कार किया। पीड़िता का आरोप है कि सभी आरोपितों ने ड्रग्स ले रखी थी।

पीड़िता ने बताया कि दर्द से कराहने पर उसके मुँह में भी आरोपित ड्रग्स डाल देते थे। आरोपितों ने अपना प्राइवेट पार्ट भी उसके मुँह में डाल दिया था। इस दौरान उसका अप्राकृतिक यौन शोषण भी किया गया। शनिवार सुबह 11 बजे के करीब घटनास्थल से 2 किलोमीटर दूर सुनसान इलाके में आरोपितों ने पीड़िता को अधमरी में हालत में छोड़ दिया। पीड़िता के अनुसार आरोपितों ने उसे मुँह न खोलने की धमकी भी दी थी।

पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ IPC की धारा 376 D, 366 A, 341, 342, 323, 504, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत FIR दर्ज कर ली है। सभी 8 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार आरोपित माहिम, हनुमानपाड़ा, टेंबी, सफाले और वडराई इलाके में रहते हैं।

गौरतलब है कि पालघर के दहानु तालुका के गडचिंचले गाँव में अप्रैल 2020 में जूना अखाड़ा के महंत कल्पवृक्ष गिरी महाराज (70 वर्ष) और महंत सुशील गिरी महाराज (35 वर्ष) तथा उनके ड्राइवर निलेश तेलगडे (30 वर्ष) की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तराखंड में तेज़ी से बढ़ रही मुस्लिमों और ईसाईयों की जनसंख्या: UCC पैनल की रिपोर्ट में खुलासा – पहाड़ों से हो रहा पलायन

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में आबादी घट रही है, तो मैदानी इलाकों में बेहद तेजी से आबादी बढ़ी है। इसमें सबसे बड़ा योगदान दूसरे राज्यों से आने वाले प्रवासियों ने किया है।

जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल को अब दिल्ली के LG जितनी शक्तियाँ, ट्रांसफर-पोस्टिंग के लिए भी उनकी अनुमति ज़रूरी: मोदी सरकार के आदेश पर भड़के...

जब से जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन हुआ है, तब से वहाँ चुनाव नहीं हो पाए हैं। मगर जब भी सरकार का गठन होगा तब सबसे अधिक शक्तियाँ राज्यपाल के पास होंगी। ये शक्तियाँ ऐसी ही हैं, जैसे दिल्ली के एलजी के पास होती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -