Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली में अर्धसैनिक बल के जवानों पर 'एसिड' से हमला, स्थानीय हिंदुओं ने की...

दिल्ली में अर्धसैनिक बल के जवानों पर ‘एसिड’ से हमला, स्थानीय हिंदुओं ने की पीड़ितों की मदद

नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के कई इलाक़ों में हिंसा अभी भी जारी है। चाँदबाग़ इलाक़े में हिंसा भड़कने के बाद फिर अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है।

दिल्ली में दंगाइयों का उत्पात बढ़ता ही जा रहा है। अर्धसैनिक बलों के जवानों पर एसिड से हमला किया गया है। ‘टाइम्स नाउ’ की ख़बर के अनुसार, ये करवाल नगर की घटना है। ख़बर के अनुसार, अर्धसैनिक बल के जवान वहाँ स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए करावल नगर के मुहल्लों में गए थे, तभी उन पर एसिड या एसिड की तरह किसी केमिकल से हमला किया गया। उसके तुरंत बाद उन्हें जीटीबी हॉस्पिटल में ले जाया गया। दंगाई हथियारों से लैस थे और उन्होंने पूरी साज़िश के तहत हमला किया।

नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के कई इलाक़ों में हिंसा अभी भी जारी है। चाँदबाग़ इलाक़े में हिंसा भड़कने के बाद फिर अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। करावल नगर में जवानों पर एसिड फेंके जाने के बाद स्थानीय लोगों ने घरेलू तरीकों से उनका उपचार करने का प्रयास किया। उसके बाद जवानों को हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया।

नीचे संलग्न किए गए वीडियो में आप देख सकते हैं कैसे एसिड अटैक से पीड़ित सुरक्षा बलों के जवानों की स्थानीय हिन्दू मदद कर रहे हैं:

दिल्ली पुलिस ने भी स्पष्ट किया है कि उनके पास पुलिस बलों के जवानों की कमी नहीं है और गृह मंत्रालय से उन्हें पूर्ण समर्थन मिल रहा है। दिल्ली विभिन्न इलाक़ों में धारा-144 लागू किया गया है। पुलिस ने कर्फ्यू लागू करने की बात नकार दी है। अभी तक 11 लोगों की मौत और पुलिसकर्मियों सहित 186 लोगों के घायल होने की ख़बर है। गृह मंत्री अमित शाह ने सुबह ही बैठक कर के स्थिति की समीक्षा की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -