17 साल की गोद ली गई बेटी, बाप पर यौन शोषण का आरोप और प्राइवेट पार्ट कटी हुई लाश: मुंबई केस सॉल्व

हत्या की वो कहानी, जिसमें 17 साल की लड़की को 57 साल का दो बार तलाकशुदा इंसान गोद लेता है। लड़की का एक बॉयफ्रेंड भी होता है। गोद लेने वाले बाप पर यौन शोषण का आरोप भी और...

मुंबई पुलिस ने शनिवार (7 दिसंबर) को 59 साल के बुज़ुर्ग की हत्या और उनके शरीर के अंगों को काटने, बैग में भरने के बाद नदी में फेंकने के ज़ुर्म में एक नाबालिग समेत दो लोगों को गिरफ़्तार किया।

पुलिस के हाथों जिस वक़्त यह सूटकेस लगा, तो उन्हें उसमें आदमी के पैर, एक हाथ और प्राइवेट पार्ट मिला। खोजबीन के बाद पता चला कि आरोपित कुमारी आराध्या जितेंद्र पाटिल उर्फ़ ​​रिया (19) और उसके 16 वर्षीय प्रेमी ने मिलकर 27 नवंबर को मुंबई के वकोला में द्वारका कुंज में स्थित अपने घर पर चाकू और बाँस की छड़ी से बेनेट रेबेलो की हत्या कर दी थी।

लड़की और उसके प्रेमी ने बेनेट रेबेलो पर मच्छर मारने की दवा का छिड़काव भी किया था क्योंकि वह चाकू मारे जाने के बाद भी जीवित थे। लेकिन, इस पूरे प्रकरण में ट्विस्ट तब आया जब पुलिस को अपनी छानबीन में पता चला कि बेनेट रेबेलो ने रिया को गोद लिया था और उसका यौन शोषण भी किया था। इसके अलावा बेनेट रेबेलो अपनी गोद ली हुई बेटी के नाबालिग प्रेमी को लेकर भी काफ़ी नाराज़ थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

रिया और उसके नाबालिग प्रेमी ने 27 नवंबर को बेनेट रेबेलो की हत्या कर दी। उन्होंने बेनेट रेबेलो को मारने के लिए एक चाकू और बाँस का इस्तेमाल किया था। लेकिन वह चाकू मारे जाने के बाद भी साँस ले रहे थे। इसके बाद दोनों ने मिलकर बेनेट पर मच्छर मारने वाले स्प्रे का छिड़काव किया।

एक बार जब दोनों को यह विश्वास हो गया कि बेनेट रेबेलो मर चुके हैं, तब उन्होंने उनके शरीर के अंगों को काटने के लिए गर्म चाकू का इस्तेमाल किया। उन्होंने ने बेनेट रेबेलो के शव को टुकड़ों-टुकड़ों में काटा और एक सूटकेस समेत 3 बैग में उसे रख दिया। इसके बाद सूटकेस को मुंबई के मीठी नदी में फेंक दिया

आरोपितों ने शव को नदी में बहाने के लिए 3 दिन लगाए। सूटकेस में बेनेट रेबेलो का एक पैर, हाथ और प्राइवेट पार्ट मिला। मीठी नदी से सूटकेस बरामद होने के बाद इस मामले की जाँच के लिए मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 5 टीम का गठन किया और उसने पूरे मामले की गुत्थी को सुलझा लिया।

इस मामले को सुलझाने के लिए पहले सुराग के रूप में पुलिस के हाथों एक स्वेटर लगा। इसका इस्तेमाल शरीर के अंगों को ढकने के लिए किया गया था। इस स्वेटर पर जो स्टिकर लगा हुआ था, वो कुर्ला स्थित अल्मो मेन्स वियर दुकान का था। पुलिस जब इस दुकान पर पहुँची तो वहाँ से बेनेट के नाम पर एक रसीद मिली।

मुंबई पुलिस ने आगे की जाँच के लिए सोशल मीडिया पर इसकी तलाश की और बेनेट नामक शख्स को फेसबुक पर ढूँढ लिया। बेनेट की मैरून कलर की एक तस्वीर भी मिली, जो सूटकेस में मिले स्वेटर से मेल खाती थी। इन सबूतों के आधार पर पुलिस ने तय किया कि यह शख़्स बेनेट रेबेलो ही है। रेबेलो का विजिटिंग कार्ड उनके एक फेसबुक पोस्ट पर मिला, जिसके माध्यम से पुलिस उनके घर तक पहुंँच गई, लेकिन वो घर बंद था।

पुलिस ने आगे जाँच की तो पता चला कि वो पिछले 10 दिनों से ग़ायब थे। इसके अलावा, पुलिस को यह भी पता चला कि रेबेला एक गिटार वादक थे और स्थानीय क्लब में गिटार भी बजाते थे।

अपनी जाँच के दौरान मुंबई पुलिस को जल्द ही पता चल गया कि रेबेलो ने रिया नाम की एक लड़की को गोद लिया था, जिसका एक प्रेमी था। पुलिस ने रिया और उसके प्रेमी के साथ लगातार पूछताछ की। पूछताछ के दौरान लड़की ने आरोप लगाया कि रिबेलो ने उनका यौन शोषण किया और उनके प्रेम संबंधों का विरोध किया था।

ख़बर के अनुसार, डीसीपी डिटेक्शन, शाहजी उमाप ने कहा,

“हम अभी इस वीभत्स अपराध की जाँच कर रहे हैं कि यह एक सुनियोजित हत्या थी या नहीं! आरोपित (रिया) को दो साल पहले ही रेबेलो ने गोद लिया था। उसके माता-पिता घाटकोपर स्थित असल्फा में रहते हैं। नाबालिग आरोपित (प्रेमी) असल्फा में उसका पड़ोसी था।”

मुंबई पुलिस को एक सुटकेस तो मिल चुका था, लेकिन बाकी के बैग अभी तक नहीं मिले, जिसकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है। फ़िलहाल, पुलिस हत्या के पीछे के कारणों का पता नहीं लगा सकी है। 

वहीं, पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि मृतक के प्राइवेट पार्ट को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त किया गया था। मृतक बेनेट के बारे में पता चला है कि वो वकोला में अकेला रहता था, उन्होंने दो बार शादी की थी लेकिन दोनों ही पत्नियों से उनका तलाक हो गया था।

छेड़छाड़ और गंदी वीडियो बना वायरल करने वाला जमानत पर बाहर आया, आते ही पीड़िता को हंसिये से काटा

17 साल की लड़की को किडनैप कर 2 महीने तक गैंगरेप… फिर जिंदा जला कर त्रिपुरा में मार डाला

आरिफ, शाहनवाज, शरीफ, आबिद ने एसिड से जलाया… क्योंकि पीड़िता ने रेप केस वापस लेने से किया इनकार

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

लोहरदगा हिंसा
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हिंदुओं के घरों और संपत्ति को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया। पथराव करने वालों में 8 से 12 साल तक के मुस्लिम बच्चे भी शामिल थे। 100 से ज्यादा घायलों में से कई की हालत गंभीर।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,804फैंसलाइक करें
35,951फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: