Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजपहले जाकिर ने पिंकी को तेजाब से नहलाया, अब अनीस ने महेश की हत्या...

पहले जाकिर ने पिंकी को तेजाब से नहलाया, अब अनीस ने महेश की हत्या कर आँगन में दफनाया: उधार का पैसा माँगने पर दिल्ली में दो सरकारी कर्मचारियों की हत्या

इसी तरह का एक और मामला कुछ दिन पहले दिल्ली में आया था। रेलवे में काम करने वाले 41 साल के जाकिर ने अपनी सहकर्मी 42 साल की पिंकी से कुछ जरूरी बताकर 11 लाख रुपए उधार लिए थे। जब काफी दिन हो गए तो पिंकी ने उससे पैसे माँगे। इससे खफा जाकिर ने पिंकी ही हत्या कर दी और चेहरे को तेजाब से जला दिया।

दिल्ली में भारतीय सर्वेक्षण विभाग के एक सीनियर क्लर्क की हत्या कर दी गई है। मृतक का नाम महेश है। महेश की हत्या का आरोप उनके ही साथ काम करने वाले अनीस पर लगा है। मृतक का शव अनीस के सरकारी घर के आँगन में दफन मिला। शव को ठिकाने लगाने के लिए उसे 5 पॉलीथिन में भरा गया था। हत्या की वजह महेश द्वारा अपने साथी रहे अनीस को दिए उधार पैसे माँगना बताया जा रहा है। हत्या 28 अगस्त 2023 को की गई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला दिल्ली के सरोजनी नगर क्षेत्र का है। मृतक महेश यहाँ के सर्वे ऑफ इंडिया डिफेंस विभाग में क्लर्क के पद पर तैनात था। उनके ही साथ अनीस भी काम करता था। दोनों में अच्छी दोस्ती थी। इस दौरान अनीस ने महेश से कुछ काम बताकर 9 लाख रुपए उधार लिए थे। कुछ समय बीत जाने पर महेश अपने पैसों को वापस लेने का दबाव बनाने लगा। हालाँकि, अनीस की मंशा पैसों को न लौटाने की थी। वह किसी न किसी बहाने से आनाकानी करने लगा।

आरोप है कि अनीस और महेश के ऑफिस में एक महिला स्टाफ भी कार्यरत थी। पहले लड़की से अनीस की दोस्ती थी, लेकिन बाद में महेश की नजदीकियाँ हो गईं। इस बात को लेकर महेश और अनीस के बीच एक बार झगड़ा भी हुआ। आखिरकार अनीस ने महेश को रास्ते से हटाने की ठान ली। आरोप है कि वो 20 दिनों से महेश की हत्या की तैयारी कर रहा था।

28 अगस्त 2023 की दोपहर को महेश ने अपने घर फोन कर के बताया कि वो अनीस से मिलने उसके घर जा रहा है। इसके बाद से महेश लापता हो गया। जब महेश के घर वालों ने अनीस से पूछा तो वो अनजान बनने का दिखावा करने लगा। उसने महेश के आने की बात तो कबूल की, लेकिन बताया कि वो कार की चाबी दे कर कहीं और चला गया।

आखिरकार अपनी तरफ से खोजबीन कर के महेश के घर वालों ने 29 अगस्त को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई। पुलिस ने मामले की जाँच शुरू की और प्रथम दृष्टया अनीस को ही संदिग्ध मान कर पूछताछ की। शुरुआत में अनीस ने पुलिस को भी गुमराह करने की कोशिश की लेकिन आखिरकार उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

अनीस की निशानदेही पर पुलिस ने महेश की लाश को बरामद कर ली है। लाश आरोपित अनीस के सरकारी घर के आँगन में दफन मिली। लाश के ऊपर सीमेंट का प्लास्टर कर दिया गया। शव बुरी तरह से सड़ चुका था। पुलिस की पूछताछ में अनीस ने कबूल किया कि उसने 28 अगस्त को अपने घर आए अनीस की रिंच प्लास से पीट-पीट कर हत्या कर दी।

अनीस ने पूछताछ में बताया कि महेश के तड़पने पर वह और तेजी से उस पर वार कर रहा था। महेश की जान निकल जाने के बाद अनीस बाजार से 5 पॉलीथिन खरीद कर लाया। उसने मृतक की लाश इन्हीं पन्नियों में भरकर उसे अपने घर के आँगन में दफन कर दिया।

महेश के क्षत-विक्षत शव को पुलिस ने सीमेंट का फर्श तोड़ कर बरामद कर लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अनीस को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है। मामले की जाँच की जा रही है।

रेलकर्मी जाकिर ने भी अपनी सहकर्मी की हत्या की थी

इसी तरह का एक और मामला कुछ दिन पहले दिल्ली में आया था। रेलवे में काम करने वाले 41 साल के जाकिर ने अपनी सहकर्मी 42 साल की पिंकी से कुछ जरूरी बताकर 11 लाख रुपए उधार लिए थे। जब काफी दिन हो गए तो पिंकी ने उससे पैसे माँगे। इससे खफा जाकिर ने पिंकी ही हत्या कर दी और चेहरे को तेजाब से जला दिया।

पैसे देने के बहाने जाकिर ने पिंकी को ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क ले गया। वहाँ एक सुनसान जगह देखकर उसने पिंकी के सीने पर खंजर घोंप दिया। पिंकी की पहचान ना हो, इसके लिए उसने पिंकी के चेहरे पर तेजाब फेंक जला दिया। पिंकी घर नहीं लौटी तब मदनगीर में उसके घरवाले पुलिस के पास पहुँचे और पूछताछ के बाद मामला खुला।

पिंकी निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर क्लर्क थी और जाकिर टेक्नीशियन था। दोनों 10 साल से एक-दूसरे कोे जानते थे। पिंकी 8 सितंबर 2023 को लापता हो गई। उसकी बेटी ने अगले दिन पुलिस से संपर्क किया। अंबेडकर नगर पुलिस उसकी तलाश कर रही थी, उसी शाम यूपी पुलिस को पिंकी का विकृत शव और कुछ दस्तावेज मिले। 15 सितंबर 2023 को यह मामला सामने आया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -