Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाज7 साल से भारत में रह रहा था बांग्लादेशी युवक, कई लड़कियों को प्रेमजाल...

7 साल से भारत में रह रहा था बांग्लादेशी युवक, कई लड़कियों को प्रेमजाल में फँसाया: अश्लील फोटो-वीडियो बना लेता था, ब्लैकमेल कर ऐंठता था मोटे पैसे

2016 में एक परिचित के सहारे वो नेपाल के रास्ते होकर भारत में घुसा था। तभी से वो आरा में ही रह रहा था। 7 साल से वो यहाँ था, लेकिन पुलिस को उसकी भनक नहीं लगी।

भोजपुर जिले की पुलिस ने एक बांग्लादेशी युवक को गिरफ्तार किया है। वो लड़कियों को पहले अपने प्रेम जाल में फँसाता था, फिर उनकी अश्लील तस्वीरें और वीडियोज बना लेता था। बाद में इन्हें वायरल करने की धमकी देकर उनसे पैसे लेता था। उसके पास से कई फर्जी आईडी कार्ड्स भी जब्त किए गए हैं। गया जिले से गिरफ्तार किए जाने के बाद उससे पूछताछ की जा रही है। भोजपुर के एसपी प्रमोद कुमार ने उसे गिरफ्तार करने के लिए स्पेशल टीम गठित की थी।

उसके बारे में एक गुप्त सूचना मिली थी, जिसके बाद इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। CRPF जवान की पत्नी की शिकायत पर ये कार्रवाई की गई है। बिहार पुलिस ने जानकारी दी है कि पहचान बांग्लादेश के गोपालगंज जिले के कोटालीपाड़ा थाना निवासी अधीर बैरागी के बेटे अपूर्वा बैरागी उर्फ दीपक कुमार के रूप में आरोपित की पहचान हुई है। 2016 में एक परिचित के सहारे वो नेपाल के रास्ते होकर भारत में घुसा था।

तभी से वो आरा में ही रह रहा था। 7 साल से वो यहाँ था, लेकिन पुलिस को उसकी भनक नहीं लगी। आरा में उसने एक प्राइवेट क्लिनिक में काम करना शुरू कर दिया था। उसने CRPF जवान की बेटी को शिकार बनाया था। पीड़िता ने बताया कि फोन पर बात करते-करते उसे उक्त युवक से प्यार हो गया था। इसी दौरान उसने पीड़िता का अश्लील फोटो-वीडियो बना लिया। पिछले 4-5 महीने से फोन कर-कर के वो पैसे की डिमांड कर रहा था।

नवादा थाने में इस बाबत मामला दर्ज किया गया था। उसके मध्य प्रदेश में होने की सूचना मिली। वो शिवपुरी में ‘माँ अम्बे क्लिनिक’ चला रहा था। उसे वहीं से दबोच लिया गया, लेकिन रात में शौच करने के बहाने वो फरार हो गया। इसके बाद उसके गया में होने की सूचना मिली। वहाँ से उसे गिरफ्तार करने में बिहार पुलिस को कामयाबी मिली। उसने कई लड़कियों को अपने जाल में फँसाने की जानकारी दी है, जिसकी जाँच की जा रही है। उसके पास से कई लड़कियों की तस्वीरें भी मिली हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -