Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजमजहबी भीड़ ने मंदिर में की तोड़-फोड़ और आगजनी: पटना में स्थानीय लोग और...

मजहबी भीड़ ने मंदिर में की तोड़-फोड़ और आगजनी: पटना में स्थानीय लोग और पुलिस इनके सामने असहाय

बंद को लेकर आरजेडी नेता व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने प्रशासन को चेतावनी दी थी कि अगर उसने आरजेडी समर्थकों को नुकसान पहुँचाया तो अंजाम बुरा होगा, लेकिन बंद के दौरान आरजेडी कार्यकर्ता ही जगह-जगह हिंसा पर उतर गए।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) एवं राष्‍ट्रीय नागरिक रजिस्‍टर (NRC) के विरोध में आयोजित राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के बिहार बंद के दौरान शनिवार (दिसंबर 21, 2019) को राज्‍य में कई जगह भारी हिंसा हुई। सबसे बड़ी घटना पटना के फुलवारीशरीफ में हुई, जहाँ दो गुटों के बीच भिड़ंत के दौरान जमकर पथराव हुआ। इस दौरान हुई फायरिंग में 11 लोगों को गोली लगी, जबकि एक को छुरा भी मारा गया। घटना के दौरान पथराव में आधा दर्जन पुलिसकर्मियों सहित दो दर्जन लोग घायल हो गए।

इसके साथ ही उपद्रवियों ने फुलवारीशरीफ के एक मंदिर में भी तोड़-फोड़ और आगजनी की। जानकारी के मुताबिक, बंद के समर्थन में निकला जुलूस टमटम पड़ाव के पास धार्मिक स्थल से गुजर रहा था। इस जुलूस में उपद्रवी और असामाजिक तत्व भी मौजूद थे। सभी टमटम पड़ाव पर पहुँचने के बाद संगतपर मोहल्ले से आगे बढ़ने पर अड़ गए। लेकिन संगतपर निवासियों ने जुलूस का रास्ता रोक लिया था। पुलिस ने भी उन्हें आगे बढ़ने की अनुमति नहीं दी, जिसके बाद विवाद बढ़ गया और जुलूस में शामिल उपद्रवियों ने धार्मिक स्थल में तोड-फ़ोड़ करनी शुरू कर दी और फिर आगजनी भी की। इससे विवाद ने और विकराल रूप ले लिया। दोनों गुटों के बीच जमकर पत्थरबाजी और फायरिंग हुई।

बता दें कि बंद की पूर्व संध्या पर शुक्रवार (दिसंबर 20, 2019) को आरजेडी की ओर से राजधानी पटना समेत सभी जिलों, प्रखंडों एवं कस्बों में मशाल जुलूस निकाले गए। बंद को लेकर आरजेडी नेता व बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने प्रशासन को चेतावनी दी थी कि अगर उसने आरजेडी समर्थकों को नुकसान पहुँचाया तो अंजाम बुरा होगा, लेकिन बंद के दौरान आरजेडी कार्यकर्ता ही जगह-जगह हिंसा पर उतर गए। महागठबंधन के सहयोगी दलों एवं वाम दलों ने भी आरजेडी के बंद का समर्थन किया। उपद्रवी तत्‍वों ने मीडियाकर्मियों को भी नहीं छोड़ा। इस दौरान ‘लालू यादव जिंदाबाद’, ‘नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद’ और ‘दिल्ली पुलिस हाय-हाय’ के नारे भी लगे।

काफिरों से आजादी, हत्यारों से आजादी… हम लेकर रहेंगे आजादी: भुवनेश्वर में लगे हिंदू और देश विरोधी नारे

25-30 पुलिस वालों को दुकान में बंद कर जिंदा जलाने का प्रयास: नमाज के बाद हापुड़ में उपद्रवियों का तांडव

मरीचझापी में जिन 7000 हिंदू शरणार्थियों का संहार हुआ वे भी दलित थे, जय भीम-जय मीम का नया छलावा है ‘रावण’

‘सभी मूर्तियों को हटा दिया जाएगा… केवल अल्लाह का नाम रहेगा’: IIT कानपुर में हिंदू व देश विरोधी-प्रदर्शन

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुख्तार अंसारी की बीवी और उसके सालों की ₹2 करोड़ 18 लाख की संपत्ति जब्त: योगी सरकार ने गैंगस्टर एक्ट के तहत की कार्रवाई

योगी सरकार द्वारा कुख्यात माफिया और अपराधी मुख्तार अंसारी की लगभग 2 करोड़ 18 लाख रुपए मूल्य की संपत्ति की कुर्की की गई। यह संपत्ति अंसारी की बीवी और उसके सालों के नाम पर थी।

अमित शाह ने बना दी असम-मिजोरम के बीच की बिगड़ी बात, अब विवाद के स्थायी समाधान की दरकार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों के पश्चात दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जिस तरह की सतर्कता और संयम दिखाया है उसका स्वागत होना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,804FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe