Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजमोहम्मद इजहार ने पिस्तौल दिखाकर नाबालिग क्लासमेट का साथियों के साथ किया गैंगरेप, गिरफ्तार

मोहम्मद इजहार ने पिस्तौल दिखाकर नाबालिग क्लासमेट का साथियों के साथ किया गैंगरेप, गिरफ्तार

पीड़िता अपनी कोचिंग क्लास के लिए जा रही थी। तभी पाँचों आरोपित पिस्टल के बल पर जबरन उसे एक पुराने जर्जर घर में ले गए और उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह आरोपितों में से अपने सहपाठी और मोहम्मद इज़हार को जानती थी, लेकिन अन्य तीन को नहीं जानती।

बिहार के मुजफ्फरपुर में 10वीं क्लास में पढ़ने वाली एक नाबालिग लड़की को बंधक बनाकर पिस्टल की नोक पर सामूहिक बलात्कार के आरोप में 22 वर्षीय मोहम्मद इजहार को पुलिस ने बुधवार (जनवरी 06, 2021) को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने कहा कि पीड़िता की उम्र 16 साल के आसपास है और वह दसवीं कक्षा में पढ़ती है। सामूहिक बलात्कार की यह घटना जिले के सकरा थाना क्षेत्र में गत 4 दिसंबर की है। समाचार पत्र ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कहा कि मामले की सूचना पुलिस को मंगलवार (जनवरी 05, 2021) रात दी गई, जिसके बाद मुख्य आरोपित मोहम्मद इजहार को गिरफ्तार कर लिया गया।

पीड़िता की शिकायत पर महिला थाने में घटना के संबंध में 5 युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस ने कहा कि दो आरोपितों को नामजद किया गया है, जबकि बाकी तीन अज्ञात हैं।

सकरा एसएचओ रामनाथ प्रसाद ने कहा कि गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान मिशरौलिया गाँव के मोहम्मद इज़हार के रूप में की गई है। उन्होंने कहा, “उन्हें बृहस्पतिवार को न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने के बाद जेल भेज दिया जाएगा।”

प्रसाद ने कहा कि एक अन्य आरोपित, जो पीड़िता का क्लासमेट है। इजहार के अलावा, एक अन्य नाबालिग आरोपित भागने में सफल रहा है जिसे पकड़ने के लिए छापे मारे जा रहे हैं। एसएचओ ने कहा कि पीड़िता का बुधवार को मेडिकल परीक्षण कराया गया और न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष उसका बयान दर्ज किया जाएगा। एसएचओ ने कहा कि दोनों मुख्य आरोपित पीड़िता को जानते हैं।

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, पीड़िता ने बताया कि घटना के दिन 04 दिसंबर को वह अपनी कोचिंग क्लास के लिए जा रही थी। पुलिस अधिकारीयों के अनुसार, “यह शाम 4 बजे के आसपास हुआ, जब वे जबरन उसे एक पुराने जर्जर घर में ले गए और उसके साथ बलात्कार किया। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वह आरोपितों में से अपने सहपाठी और मोहम्मद इज़हार को जानती थी, लेकिन अन्य तीन को नहीं जानती।”

रिपोर्ट्स के अनुसार, पीड़िता किसी तरह खुद को बचाकर खिड़की के रास्ते भाग कर राष्ट्रीय हाइवे तक पहुँचने में सफल रही। जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा सूचना देने पर लड़की के परिजन उसे अपने साथ घर ले गए। इस घटना के बाद मामला महिला थाने ले जाया गया।

बताया जा रहा है कि इससे पहले पीड़िता का परिवार सकरा थाने को इसकी सूचनादे चुका था और घटना के अगले दिन वो एक आरोपित को पकड़ कर पुलिस को सौंप चुके थे। आरोप है कि सकरा पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से न लेते हुए पीड़ित परिवार को फटकार भी लगाई।

सकरा थाने की लापरवाही के बाद ही पीड़िता अपने परिजन के साथ महिला थाने गए और सामूहिक बलात्कार को लेकर आवेदन दिया। शिकायत के आधार पर महिला थाने की थानेदार नीरू कुमारी ने ‘पॉक्सो एक्ट’ में मामला दर्ज किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुख्तार अंसारी की बीवी और उसके सालों की ₹2 करोड़ 18 लाख की संपत्ति जब्त: योगी सरकार ने गैंगस्टर एक्ट के तहत की कार्रवाई

योगी सरकार द्वारा कुख्यात माफिया और अपराधी मुख्तार अंसारी की लगभग 2 करोड़ 18 लाख रुपए मूल्य की संपत्ति की कुर्की की गई। यह संपत्ति अंसारी की बीवी और उसके सालों के नाम पर थी।

अमित शाह ने बना दी असम-मिजोरम के बीच की बिगड़ी बात, अब विवाद के स्थायी समाधान की दरकार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों के पश्चात दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जिस तरह की सतर्कता और संयम दिखाया है उसका स्वागत होना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,804FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe