Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजशादी के लिए हिंदू बने बिट्‌टू खान को मुस्लिम परिवार ने 10 साल बाद...

शादी के लिए हिंदू बने बिट्‌टू खान को मुस्लिम परिवार ने 10 साल बाद पत्नी सहित घर से निकाला, कहा- मुस्लिम बनो तो ही घर में रहो

बिट्टू का बड़ा भाई टीटू खान, उसकी बीबी रेशमा, दूसरा जेठ भैया खान, उसकी बीबी साइना खान, सास अनीशा बेगम, देवर गोली, ननद रीना, ननदोई नदीम व छोटी ननद निशा खान बीते वर्षों से लगातार धर्म बदलने के लिए उसकी पत्नी को प्रताड़ित कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में धर्म परिवर्तन न करने पर महिला को प्रताड़ित कर घर से निकाल दिया गया। मामला ग्वालियर के विश्वविद्यालय क्षेत्र के सरस्वती नगर की है। पीड़िता मधु बाथम का कहना है कि करीब 10 साल पहले बिट्टू खान से प्रेम हुआ। दोनों ने धर्म के बंधन का तोड़कर लव मैरिज की। उस समय तय हुआ था कि बिट्‌टू खान अपना धर्म परिवर्तन कर हिंदू रिति रिवाज से मधु से शादी करेगा और हुआ भी ऐसा ही। दोनों के तीन बच्चे हैं।

हालाँकि बिट्टू खान का हिंदू धर्म अपनाना उसके परिवार को रास नहीं आया। उन्हें यह बात शुरू से ही खटक रही थी। वो लोग मधु बाथम पर लगातार धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव डाल रहे हैं। जानकारी के मुताबिक बिट्टू का बड़ा भाई टीटू खान, उसकी बीबी रेशमा, दूसरा जेठ भैया खान, उसकी बीबी साइना खान, सास अनीशा बेगम, देवर गोली, ननद रीना, ननदोई नदीम व छोटी ननद निशा खान बीते वर्षों से लगातार धर्म बदलने के लिए उसकी पत्नी को प्रताड़ित कर रहे हैं।

मधु ने 10 साल के वैवाहिक जीवन में ससुरालीजन से गाली-गलौज, मारपीट के साथ ही दुष्कर्म करने तक की धमकियाँ झेलीं। लेकिन, हिंदू धर्म से आस्था नहीं छोड़ी। इससे नाराज ससुराल वालों ने दो दिन पहले मधु, उसके पति बिट्‌टू व बच्चों को घर से बाहर निकाल दिया।

मधु जब इसकी शिकायत करने पहुँची तो उसे फोन कर धमकी दिया गया। कहा गया कि अगर वह शिकायत करेगी तो पति-बच्चों समेत जान से हाथ धोना पड़ेगा। इतना ही नहीं, जब पुलिस बल उसे घर छोड़ने पहुँचा तो उनकी मौजूदगी में भी गाली-गलौज और धमकियाँ दी गईं। पुलिस से न्याय की माँग की है। मधु बच्चे पति सहित रानी लक्ष्मी बाई समाधि स्थल पर धरने बैठ गई। यह पता चलते ही पुलिस अफसर वहाँ पहुँचे और उसे न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।

ग्वालियर के ASP हितिका वासल ने जानकारी देते हुए बताया, “एक महिला के द्वारा शिकायत की गई है उसकी शादी को 10 साल हो गए हैं। ससुराल के लोगों द्वारा उसे पति, बच्चों सहित घर से निकाल दिया है। शिकायत मिली है जाँच कर कार्रवाई की जा रही है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe