Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजसरकारी जमीन पर पहले बनाए 2 कमरे, फिर अंदर ही अंदर बना डाली मजार:...

सरकारी जमीन पर पहले बनाए 2 कमरे, फिर अंदर ही अंदर बना डाली मजार: अलीगढ़ में UP पुलिस ने बुलडोजर से किया मटिया-मेट

शुरुआत में ठेकेदार ने दोनों कमरे सुरक्षा गार्ड के रहने के नाम पर बनवाए। बाद में एक कमरे के अंदर एक मजार बना दी गई। मजार पर अंदर ही अंदर इबादत शुरू हो चुकी थी। वहाँ चादर और फूल भी चढ़ाए जाने लगे थे।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में सरकारी जमीन पर बनी मजार पर बुलडोजर चलाया गया है। मजार बनाने का आरोप एक स्थानीय ठेकेदार टीपी शर्मा पर है, जिसके खिलाफ पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है। प्रशासन ने यह कार्रवाई सोमवार (8 मई 2023) को की है। हिन्दू संगठनों ने इस अवैध निर्माण के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला सासनी गेट थानाक्षेत्र का है। यहाँ मौजूद आवास विकास कॉलोनी के पास एक हाउसिंग प्रोजेक्ट बना हुआ है। आरोप है कि इसी प्रोजेक्ट के पास मौजूद पानी की टंकी के नीचे एक ठेकेदार टीपी शर्मा ने अवैध तौर पर 2 कमरे बना दिए थे। इन 2 कमरों में से 1 में मजार का निर्माण करवा दिया गया था।

बताया जा रहा है कि शुरुआत में ठेकेदार ने ये दोनों कमरे सुरक्षा गार्ड के रहने के नाम पर बनवाए थे। कुछ दिनों बाद दोनों में से एक कमरे के अंदर एक मजार बना दी गई।

स्थानीय भाजपा विधायक मुक्ता राजा ने इस मजार को अराजक तत्वों द्वारा बनाई गई बताया है। उन्होंने कहा कि मजार पर अंदर ही अंदर इबादत शुरू हो चुकी थी। वहाँ चादर और फूल भी चढ़ाए जाने लगे थे।

भाजपा विधायक के मुताबिक अवैध निर्माण करने वालों को जेल भिजवाया जाएगा। अलीगढ़ के ADM अमित भट्ट के मुताबिक मजार बनाने के पीछे की सोच और इसके पीछे खर्च किए गए पैसों के सोर्स की जाँच करवाई जाएगी।

जब इस मजार का हिन्दू संगठनों के साथ स्थानीय लोगों ने विरोध किया तो मौके पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पहुँचे। कुछ देर में नगर निगम के अधिकरियों के बुलडोजर मँगवा कर अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया गया।

ठेकेदार टीपी शर्मा पर FIR दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने हालात को सामान्य बताते हुए जाँच जारी होने की बात कही।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -