Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजCM धामी ने अंकिता भंडारी के पिता से की बात, आरोपित के भाई-पिता को...

CM धामी ने अंकिता भंडारी के पिता से की बात, आरोपित के भाई-पिता को BJP से निकाला: पीड़िता पर देह-व्यापार का था दबाव, लोगों ने रिजॉर्ट को जलाया

"राज्य सरकार दोषियों पर कठोरतम कार्रवाई करेगी, जो इस प्रकार के घृणित कार्य को करने वाले अपराधियों के लिए एक नजीर साबित होगी।"

उत्तराखंड के ऋषिकेश में पूर्व मंत्री एवं भाजपा नेता के रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट का काम करने वाली अंकिता भंडारी की हत्या का मामला गरमाया हुआ है। इस मामले में, पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर कई खुलासे किए हैं। वहीं, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंकिता के पिता से फोन में बातचीत की है व आरोपितों को कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया है। साथ ही, भाजपा ने आरोपित पुलकित आर्य के भाई व पिता को पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

अंकिता भंडारी हत्याकांड में गिरफ्तार तीनों आरोपितों से पूछताछ के आधार पर डीजीपी अशोक कुमार ने खुलासा करते हुए बताया है कि अंकिता पर रिजॉर्ट में ‘स्पेशल सर्विस’ देने के लिए दवाब बनाया जा रहा था। गिरफ्तार आरोपितों में से एक सौरभ भास्कर ने पुलिस को बताया है कि अंकिता उन लोगों (आरोपितों को) अपने साथियों के बीच ‘बदनाम’ करती थी। उसने दावा किया कि पीड़िता रिजॉर्ट की बातें अपने साथियों को बताती थी कि यहाँ उसे कस्टमर से संबंध बनाने के लिए कहा जाता है।

आरोपितों ने खुलासा किया कि अंकिता कहती थी कि वह रिजॉर्ट की हकीकत सबको बता देगी, इसलिए उसके साथ हाथापाई हुई और फिर उसे नहर में धकेल दिया।

बता दें कि अंकिता गत 18 सितंबर से लापता थी। हालाँकि, उसका शव शनिवार (24 सितंबर, 2002) सुबह ऋषिकेश के चिल्ला पावर हाउस के पास से बरामद किया गया था। एक सप्ताह तक पानी में रहने के कारण उसका शव बुरी तरह गल चुका है। रविवार (25 सितंबर) को अंकिता का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

अंकिता भंडारी की हत्या के मामले में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी कड़ी नजर बनाए हुए हैं। साथ ही उन्होंने शनिवार को अंकिता के पिता से बात कर उन्हें सांत्वना दी है। साथ ही अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया है।

मुख्यमंत्री धामी ने ट्वीट कर बताया, “आज अंकिता भंडारी के पिताजी से दूरभाष के माध्यम से बात करते हुए अपनी शोक संवेदनाएँ प्रकट की। साथ ही उन्हें आश्वस्त किया कि राज्य सरकार इस जघन्य अपराध की निष्पक्ष जाँच कर दोषियों पर कठोरतम कार्रवाई करेगी, जो इस प्रकार के घृणित कार्य को करने वाले अपराधियों के लिए एक नजीर साबित होगी।”

वहीं, एक अन्य ट्वीट में पुष्कर सिंह धामी ने बताया है कि आरोपित पुलकित आर्य के भाई व पिता को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। उन्होंने लिखा, “अंकिता हत्याकांड मामले में हमने मुख्य आरोपित पुलकित आर्य के भाई अंकित आर्य को उत्तराखंड अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग के नामित उपाध्यक्ष पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। साथ ही अंकित आर्य एवं उनके पिता विनोद आर्य को भाजपा से भी निष्कासित कर दिया गया है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कागज तो दिखाना ही पड़ेगा: अमर, अकबर या एंथनी… भोले के भक्तों को बेचना है खाना, तो जरूरी है कागज दिखाना – FSSAI अब...

सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि कांवड़ रूट में नाम दिखने पर रोक लगाई जा रही है, लेकिन कागज दिखाने पर कोई रोक नहीं है।

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -