Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजMLA के टिकट के लिए कॉन्ग्रेस की महिला नेता ने खुद पर चलवाई गोली:...

MLA के टिकट के लिए कॉन्ग्रेस की महिला नेता ने खुद पर चलवाई गोली: यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया, PM मोदी को दिखा चुकी है काला झंडा

यूपी पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया है कि कॉन्ग्रेस की उक्त महिला नेता ने खुद का राजनीतिक कद बढ़ाने के लिए अपने ऊपर ही गोली चलवाने की घटना को अंजाम दिया।

उत्तर प्रदेश में कॉन्ग्रेस की एक महिला नेता द्वारा खुद पर ही गोली चलवाने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। यूपी पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया है कि कॉन्ग्रेस की उक्त महिला नेता ने खुद का राजनीतिक कद बढ़ाने के लिए अपने ऊपर ही गोली चलवाने की घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने इस मामले में राजपुर टटेरी निवासी धर्मेंद्र यादव, प्रतापपुर कमैचा निवासी मुस्तकीम और पुरवा की रहने वाली रीता यादव को गिरफ्तार किया है।

ये तीनों ही अभियुक्त सुल्तानपुर जिला के चाँदा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इलाकों के निवासी हैं। नरहरपुर रेलवे क्रॉसिंग और जसलोक हॉस्पिटल के पास से इन आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त धर्मेन्द्र के कब्जे से एक तमंचा (12 बो)र व दो अदद जिन्दा कारतूस भी बरामद किए गए हैं। रीता यादव उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में खुद कॉन्ग्रेस की प्रत्याशी बनना चाहती थीं, इसीलिए उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया। ये घटना लंभुआ कोतवाली बाईपास की है।

एक और जानने लायक बात ये है कि कॉन्ग्रेस की नेता रीता यादव ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के उद्घाटन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काला झंडा दिखाया था। यूपी पुलिस ने कहा कि पूछताछ के दौरान अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि रीता यादव ने अपने परिचित पूर्व ग्राम प्रधान माधव यादव से मिलकर सुनियोजित तरीके से योजना बनाकर आगामी विधानसभा चुनाव में कॉन्ग्रेस पार्टी से विधायक का टिकेट प्राप्त करने के लिए अभियुक्तों को तैयार किया और इस घटना को अंजाम दिया।

यूपी पुलिस ने अपने बयान में कहा, “लंभुआ कस्बे के लखनऊ वाराणसी बाईपास ओवर ब्रिज पर अज्ञात बाइक सवार व्यक्तियों द्वारा संतोष यादव की 35 वर्षीय पत्नी रीता यादव पत्नी (निवासी सुनावा लालू का पुरवा थाना चाँदा जनपद सुल्तानपुर) के बाएँ पैर में गोली मार दी गई थी। अभियुक्तो की गिरफ्तारी हेतु गठित कर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गई तथा अभिसूचना तंत्र विकसित किया गया। पता चला कि अभियुक्त कॉन्ग्रेस नेता के साथ ही गाड़ी में चढ़े थे और फायरिंग कर के भाग निकले।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -