Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजआसमान से राहत की बारिश, लेकिन दिल्ली-एनसीआर के लिए बन गई आफत: IGI एयरपोर्ट...

आसमान से राहत की बारिश, लेकिन दिल्ली-एनसीआर के लिए बन गई आफत: IGI एयरपोर्ट का छत गिरा, जगह-जगह जलभराव-ट्रैफिक जाम से जनता परेशान

हादसा IGI एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर लगी छतरी के गिरने से हुआ, जिसके नीचे खड़ी कार में बैठे एक व्यक्ति की मौत हो गई। सरकार ने मृतक के परिजनों और घायलों के लिए मुआवजे की घोषणा की है।

दिल्ली-एनसीआर में प्री-मानसून की बारिश आफत बनकर आई। गुरुवार-शुक्रवार की रात जमकर हुई बारिश से जगह-जगह परेशानियाँ खड़ी हो गईं। कहीं जल भराव की वजह से हर तरफ पानी ही पानी दिखा, तो कहीं गाड़ियों की लंबी लाइनें लग गई। इस बीच, शुक्रवार (28 जून 2024) की सुबह करीब 5.30 बजे दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर बड़ा हादसा हो गया, जिसमें 1 व्यक्ति की मौत हो गई, तो 6 लोग घायल हो गए। ये हादसा एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर लगी छतरी के गिरने से हुआ, जिसके नीचे खड़ी कार में बैठे एक व्यक्ति की मौत हो गई। सरकार ने मृतक के परिजनों और घायलों के लिए मुआवजे की घोषणा की है।

दिल्ली फायर ब्रिगेड के अधिकारी ने बताया, ‘सुबह करीब 5.30 बजे हमें दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर छत गिरने की सूचना मिली। दमकल की तीन गाड़ियों को मौके पर भेजा गया है।’ दिल्ली-एनसीआर में हुई भारी बारिश के बीच यह हादसा हुआ। बताया जा रहा है कि दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर जो कैनोपी गिरी है, वो साल 2009 में बनी थी।

इस मामले में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री राम मोहन नायडू ने कहा कि मृतक के परिजनों को सरकार 20 लाख की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। वहीं, घायलों को 3-3 लाख रुपए दिए जाएँगे।

DIAL (दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड) के प्रवक्ता ने कहा, “आज सुबह से ही भारी बारिश के कारण, दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल 1 के पुराने हिस्से में छतरी का एक हिस्सा सुबह 5 बजे के आसपास गिर गया। घायलों के बारे में बताया गया है, और आपातकालीन कर्मचारी प्रभावित लोगों को सभी आवश्यक सहायता और चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए काम कर रहे हैं। इस घटना की वजह से टर्मिनल 1 से सभी उड़ानें अस्थायी रूप से रोक दी गई हैं और सुरक्षा उपाय के रूप में चेक-इन काउंटर बंद कर दिए गए हैं। हम किसी भी असुविधा के लिए खेद व्यक्त करते हैं।”

दिल्ली में जलभराव की स्थिति से परेशानी

राजधानी दिल्ली के सर्वाधिक प्रतिष्ठित इलाकों में भी जलभराव की समस्या देखी जा रही है। दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में जलभराव देखा गया। साउथ दिल्ली में गोविंदपुरी और नोएडा सेक्टर 95 में जलभराव देखने को मिला। दिल्ली की सड़कों पर पानी भर गया है। रायसीना हिल्स की तस्वीरें भी सामने आई हैं। बताया जा रहा है कि कई सांसदों के घरों के सामने पानी भरने से लोग अपने घरों में ही फँसे रहे।

दिल्ली के आईटीओ इलाके में हर तरफ जलभराव की वजह से जाम की स्थिति पैदा हो गई है। एएनआई ने ड्रोन की मदद से बनाया वीडियो जारी किया है, इससे हालात का अंदाजा लगाया जा सकता है। आईटीओ पर बारिश की वजह से गाड़ियाँ रेंगती हुई दिख रही हैं।

पानी में बहती नजर आई कार

आईएमडी के मुताबिक, 28 जून को दिल्ली और अन्य राज्यों में अलग-अलग स्थानों पर 30 से 40 किमी प्रति घंटे रफ्तार की हवाओं और गरज-चमक के साथ आँधी व बारिश होने की संभावना है। गुरुवार सुबह से ही आसमान में काले बादल छाये हुए थे और तेज ठंडी हवाएं भी चल रही थी। मौसम विभाग ने तीन जुलाई तक के लिए बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -