Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान में नशे में धुत टीचर ने छात्राओं के सामने उतारे कपड़े, रोकने पर...

राजस्थान में नशे में धुत टीचर ने छात्राओं के सामने उतारे कपड़े, रोकने पर प्रिंसिपल और स्टाफ को दाँत काटा और नाखून चुभाए

टीचर को इस हालत में देखकर कई लड़कियाँ वहाँ से भागने लगी। यही नहीं टीचर ने शराब पीकर तीन घंटे तक उत्पात मचाया। वहाँ मौजूद लोगों से गली-गलौच की।

राजस्थान (Rajasthan) में उदयपुर (Udaipur) जिले के कोटड़ा क्षेत्र के एक शराबी टीचर का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। नशे में धुत टीचर ने ना केवल स्कूल में छात्र-छात्राओं के सामने अपने कपड़े उतारे, बल्कि तीन घंटे तक उत्पात मचाते हुए स्टाफ और ग्रामीणों के साथ मारपीट भी की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोटड़ा के खजूरिया स्कूल का पीटीआई (शारीरिक प्रशिक्षण प्रशिक्षक) देवीलाल मीणा दोपहर करीब 12 बजे शराब के नशे में स्कूल पहुँचा। इस दौरान जब प्रिंसिपल आलोक शर्मा और दूसरे शिक्षकों ने उसे रोकने की कोशिश की और समझाया कि आप नशे की हालत में इसलिए घर चले जाएँ। इस पर उसने प्रिंसिपल को नाखूनों से जख्मी कर दिया और साथी शिक्षकों बाबूलाल खेर और भगवतीलाल को दाँतों से काट लिया।

नशे में धुत पीटीआई लगातार सभी को जान से मारने की घमकियाँ दे रहा था। इतना ही नहीं इसके बाद देवीलाल ने एक-एक करके अपने कपड़े उतारना शुरू कर दिया। इस दौरान 200 से ज्यादा छात्र-छात्राएँ मौजूद थे। टीचर को इस हालत में देखकर कई लड़कियाँ वहाँ से भागने लगी। पीटीआई ने शराब पीकर तीन घंटे तक उत्पात मचाया। वहाँ मौजूद लोगों से गली-गलौच की।

बताया जा रहा है कि शोर सुनकर जब ग्रामीण स्कूल में पहुँचे तो पीटीआई उनके साथ भी मारपीट करने लगा। हालाँकि, स्थिति काबू में नहीं आने पर इस बारे में पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस ने मौके पर पीटीआई को हिरासत में ले लिया और उसे अपने साथ थाने ले गई।

जानकारी के मुताबिक, पीटीआई टीचर इससे पहले भी कई बार स्कूल मे शराब पीकर हंगामा कर चुका है। पुलिस हर बार उसे पकड़कर ले जाती है और बिना कोई कार्रवाई करे उसे छोड़ देती है। इस मामले में कार्रवाई के लिए प्रिंसिपल आलोक शर्मा ने सीबीईओ, डीईईओ और जिला शिक्षा अधिकारी को लिखा है। यह मामला अब राजस्थान बाल आयोग तक भी पहुँच गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -