Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजदीप सिद्धू का एक और वीडियो, कहा- सामने आऊँगा लेकिन सबूत जुटाने के लिए...

दीप सिद्धू का एक और वीडियो, कहा- सामने आऊँगा लेकिन सबूत जुटाने के लिए वक्त चाहिए

गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने दीप सिद्धू के खिलाफ केस दर्ज किया है।

26 जनवरी के दिन दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के नाम पर हुई हिंसा में नाम सामने आने के बाद दीप सिद्धू (Deep Sidhu) लापता चल रहे हैं। हालाँकि, ‘लापता’ होने के बाद दीप सिद्धू ने बृहस्पतिवार (जनवरी 28, 2021) देर रात वो दूसरी बार फेसबुक ‘लाइव’ के जरिए सामने आए और खुद को बेगुनाह बताया। दीप सिद्धू ने कहा कि वो जाँच में सहयोग देने को तैयार हैं लेकिन उन्हें थोड़ा सा समय चाहिए।

दीप सिद्धू ने अपने फेसबुक पेज से लाइव वीडियो में कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है और उनके पास कुछ भी छुपाने के लिए नहीं है। सिद्धू ने कहा कि उनके खिलाफ जो लुक आउट नोटिस जारी हुआ है, वो उसकी जाँच में जरूर शामिल होंगे, लेकिन उन्हें एक-दो दिन का समय चाहिए, ताकि वो सच निकाल सकें।

फेसबुक पर जारी वीडियो में दीप सिद्धू ने कहा, “मेरे बारे में लगातार झूठ फैलाया जा रहा है, ऐसे में सच इकट्ठा करना जरूरी है। जो मेरे ऊपर केस लगाए गए हैं, मैं उनको लेकर अपने सबूत पेश करूँगा।” सिद्धू ने कहा कि ये सरकार और पुलिस की कोई साजिश भी लग रही है।

उन्होंने कहा, “जब मैंने कुछ किया ही नहीं है तो मुझे डरने की जरूरत भी क्या है। लेकिन मैं जाँच में भी सहयोग करूँगा। आपको जो इन्वेस्टिगेशन करनी होगी आप कर लेना। लेकिन जो अफवाहें फैलाई जा रही हैं वो सही नहीं हैं। तुमने FIR दर्ज की, केस किए, वो कोई बड़ी बात नहीं है।”

गौरतलब है कि इससे पहले, पंजाबी अभिनेता से सामाजिक कार्यकर्ता बने दीप सिद्धू ने बृहस्पतिवार (जनवरी 28, 2021) रात डेढ़ बजे फेसबुक लाइव किया और अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें जानबूझ कर निशाना बनाया जा रहा है। सिद्धू ने किसान नेताओं को चेतावनी दी कि अगर उन्होंने अंदर की बातें खोलनी शुरू कर दी तो इन नेताओं को भागने की राह नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस बात को सिर्फ डायलॉग न समझें और उनके पास हर बात की दलील है।

फेसबुक पर लाइव वीडियो में दीप सिद्धू ने कहा था कि मैं गद्दार नहीं हूँ और मैंने लोगों को लाल किले तक नहीं पहुँचाया। पंजाबी कलाकार ने कहा कि यह जनता का निर्णय था जो पंजाब से विरोध करने के लिए सभी तरह से आया था। कोई भी उनका नेतृत्व नहीं कर रहा था। उन्होंने कहा कि किसान संगठनों के नेता जिन्होंने उन्हें देशद्रोही कहा, उन्हें शर्म आनी चाहिए क्योंकि वे सरकार की बोली बोल रहे हैं।

गद्दार कहे जाने से नाराज सिद्धू ने कहा कि उनके बारे में कई तरह की बातें कही जा रही हैं, ऐसे में वक्त आ गया है कि कुछ बातें स्पष्ट कर दी जानी चाहिए। दिल्ली में 26 जनवरी को लाल किले पर झंडा लगाने के विषय में दीप सिद्धू ने कहा कि युवाओं को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च की बात कहकर बुलाया गया था। बाद में किसान नेताओं ने दिल्ली में तय रूट पर परेड की बात कह दी, जिस पर युवाओं ने रोष जाहिर किया तो किसान नेता वहाँ से किनारा करने लगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -