Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजटोपी वाले ड्राइवर ने बीच सड़क पर खड़ी की ट्रक, चादर बिछाकर पढ़ने लगा...

टोपी वाले ड्राइवर ने बीच सड़क पर खड़ी की ट्रक, चादर बिछाकर पढ़ने लगा नमाज: Video वायरल होने के बाद गुजरात पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस सम्बन्ध में पालनपुर (पश्चिम) के एक थाने में 12 जनवरी को मामला दर्ज किया गया था। इसके अगले दिन पुलिस ने आरोपित ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया है कि सड़क पर नमाज पढ़ने वाले शख्स पर भारतीय दंड संहिता की धारा 283, 186 और 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गुजरात के बनासकांठा जिले के पालनपुर शहर का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में एक मुस्लिम शख्स बीच रोड पर ट्रक खड़ा कर नमाज पढ़ते हुए देखा जा सकता है। यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल है। जानकारी के अनुसार, बीच सड़क पर नमाज पढ़ने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने इस सम्बन्ध में पालनपुर (पश्चिम) के एक थाने में 12 जनवरी 2024 को मामला दर्ज किया था। इसके अगले दिन शनिवार (13 जनवरी 2024) को पुलिस ने ट्रक ड्राइवर को गिरफ्तार किया। पुलिस ने इस सम्बन्ध में की गई कार्रवाई का ब्योरा भी दिया है। पुलिस ने बताया है कि सड़क पर नमाज पढ़ने वाले शख्स पर भारतीय दंड संहिता की धारा 283, 186 और 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

जाँच में यह सामने आया है कि जिस ट्रक के सामने आरोपित नमाज पढ़ रहा था, वह उसी का है। वीडियो पालनपुर शहर के अरोमा सर्कल का बताया जा रहा है। यह वीडियो शुक्रवार (12 जनवरी, 2024) को वायरल हो गया था। वीडियो में दिखता है कि सड़क पर एक ट्रेलर ट्रक कारों से भरा हुआ खड़ा है। ट्रक के आगे एक मुस्लिम शख्स सर पर टोपी लगाए चादर लेकर बैठा है। वह वायरल वीडियो में बीच सड़क पर नमाज पढ़ते हुए दिखता है। ड्राइवर का नाम बाछल खान बताया गया है।

यह वीडियो यहाँ से गुजर रहे किसी व्यक्ति ने बना लिया और सोशल मीडिया पर डाल दिया जो वायरल हो गया। इसके बाद यह मामला जब पुलिस के संज्ञान में आया तो उसने इस पर FIR दर्ज कर ली और इसकी जाँच की। इसके बाद इस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया।

गौरतलब है कि इससे पहले रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, गार्डन, बड़े शॉपिंग मॉल और शैक्षणिक संस्थानों समेत कई सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ने के वीडियो सामने आ चुके हैं। पिछले कुछ समय से ऐसी घटनाएँ बढ़ी हैं। सार्वजनिक स्थल पर नमाज पढ़ने की घटनाओं से गुजरात भी अछूता नहीं है। जूनागढ़ के ऊपरकोट किले के बगीचे के साथ-साथ वडोदरा की एमएस यूनिवर्सिटी में नमाज पढ़े जाने के वीडियो पहले ही सामने आ चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -