Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजगुरुग्राम का गमलाचोर मनमोहन यादव गिरफ्तार, ₹40 लाख की गाड़ी में डाल ले गया...

गुरुग्राम का गमलाचोर मनमोहन यादव गिरफ्तार, ₹40 लाख की गाड़ी में डाल ले गया था पौधे: YouTuber एल्विश यादव बोले – झूठ फैलाने वालों पर करूँगा केस

गुरुग्राम का यह वीडियो वायरल होने के बाद कुछ लोगों ने आरोप लगाया था कि गमला चुराने वाली गाड़ी मशहूर यूट्यूबर एल्विश यादव की है। हालाँकि एल्विश ने इस पर कहा, "यह मेरी कार नहीं है। मैं आप सभी से विनम्र निवेदन करता हूँ कि मेरे बारे में कोई भी गलत जानकारी न फैलाएँ। नहीं तो मैं उन लोगों पर मुकदमा कर दूँगा।"

हरियाणा के गुरुग्राम में G-20 सम्मेलन की तैयारी के लिए सड़क पर रखे गए गमले चुराने के मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए शख्स का नाम मनमोहन है। उसके पास से 40 लाख रुपए की कार और चोरी के गमले भी बरामद कर लिए गए हैं। गुरुग्राम पुलिस ने बुधवार (1 मार्च 2023) को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

उन्होंने लिखा, “गुरुग्राम NH-48 पर सजावट के लिए रखे गए फूलों के गमलों को चोरी करने वाले आरोपित मनमोहन को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही चोरी किए गमले और चोरी में इस्तेमाल की गई कार भी बरामद कर ​ली गई है।”

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस अब दूसरे साथी की पहचान करने के लिए 50 वर्षीय मनमोहन से पूछताछ कर रही है। वह गुरुग्राम के गाँधी नगर इलाके का रहने वाला है। जिस कार से गमले चुराए गए, उसकी नंबर प्लेट हरियाणा के हिसार की है। यह गाड़ी मनमोहन की पत्नी के नाम पर रजिस्टर्ड है। गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के ज्वॉइंट सीईओ एसके चहल ने कहा कि गुरुग्राम में G-20 सम्मेलन के लिए लगाए गए गमलों को चुराने का मामला उनके संज्ञान में आया है। आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

शुरुआती जाँच में सामने आया है कि मनमोहन और उसका एक साथी दिल्ली से गुरुग्राम लौट रहे थे। तभी दोनों ने खूबसूरत फूलों के गमलों को देखकर अपनी गाड़ी रोक दी और गमले चोरी करके मौके से फरार हो गए। मनमोहन ने पूछताछ में बताया कि उन्हें इस बात की बिल्कुल भी जानकारी नहीं थी कि कोई उनका वीडियो बनाकार सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा।

वहीं, गुरुग्राम का यह वीडियो वायरल होने के बाद कुछ लोगों ने आरोप लगाया था कि गमला चुराने वाली गाड़ी मशहूर यूट्यूबर एल्विश यादव की है। हालाँकि, सोशल मीडिया पर ट्रोल्स के निशाने पर आने के बाद उन्होंने सिलसिलेवार कई ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने लिखा, “यह मेरी कार नहीं है। मैं आप सभी से विनम्र निवेदन करता हूँ कि मेरे बारे में कोई भी गलत जानकारी न फैलाएँ। नहीं तो मैं उन लोगों पर मुकदमा कर दूँगा।” एल्विश ने अपना बयान देते हुए कहा, “मुझे गमले चुराने की जरूरत नहीं है। मेरे घर में बहुत गमले हैं। मैं लड़कियों का दिल चुराउँगा, जो नफरत करते हैं उनकी माँ का दिल चुराउँगा, मुझे गमले की जरूरत नहीं है, मेरे घर नीम और पीपल का पेड़ है।”

एल्विश यादव ने एक अन्य ट्वीट में कहा, “सिर्फ इसलिए कि मुझे एक बार कार में देखा गया था। इसका मतलब यह नहीं है कि मैं उस कार का मालिक हूँ। कुछ गंदी सोच, जिन्हें झूठे नैरेटिव गढ़ने की आदत है। वे एक बार फिर एक झूठी कहानी लेकर बाहर आ गए हैं। मुझे भूल जाओ, वे देश या पीएम को भी नहीं छोड़ते। आप उनसे इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं कर सकते।”

इसके बाद उन्होंने लिखा, “आप सभी के लिए एक और संदेश, झूठ के पैर नहीं होते, ज्यादा देर तक नहीं चल पाता। इसलिए कितना भी जोर लगा लो, कितने भी नैरेटिव सेट कर लो, हिंदुओं के लिए बोलता आया था, बोलता हूँ और आगे भी बोलूँगा। जय श्री राम।”

बता दें कि यह कोई पहली घटना नहीं है, जब सड़क के किनारे से पौधे चुराए गए हो। ऐसी ही एक घटना उत्तर प्रदेश के आगरा से भी सामने आई थी। यहाँ भी G-20 समिट के लिए रोड पर सजाए गए 66 गमले चोरी हो गए थे। इसके अलावा अक्टूबर 2019 में भी दिल्ली के वर्टिकल गार्डन से पौधों की चोरी का एक वीडियो वायरल हुआ था। लोगों ने पौधों की चोरी करने वाले को जमकर कोसा था। वीडियो वायरल होने के बाद शख्स ने माफी माँगी थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -