Saturday, July 2, 2022
Homeदेश-समाजलीक हो गई ज्ञानवापी सर्वे वाली सीडी, वीडियो में शिवलिंग सहित सब कुछ स्पष्ट...

लीक हो गई ज्ञानवापी सर्वे वाली सीडी, वीडियो में शिवलिंग सहित सब कुछ स्पष्ट दिख रहा: दीवारों पर त्रिशूल के चिह्न

आज शाम को इससे पहले अदालत में शपथपत्र देने के बाद हिन्दू पक्ष की तरफ से वादी पक्ष की पाँच में से चार महिलाओं को सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट की सीडी मिली थी।

विवादित ज्ञानवापी ढाँचे के नीचे एक हिंदू मंदिर के अस्तित्व के सबसे स्पष्ट संकेत ऑनलाइन सामने आए नए वीडियो में दिख रहे हैं। वीडियो में मस्जिद के वजूखाना के अंदर शिवलिंग स्पष्ट शिवलिंग दिख रहा है। साथ ही तहखानों की दीवारों पर स्वस्तिक, त्रिशूल, कमल और हिंदू देवताओं के रूपांकनों को उकेरा गया है।

ज्ञानवापी विवादित ढाँचे के मामले पर सोमवार (30 मई, 2022) को कोर्ट के आदेश के बाद शपथपत्र देने के साथ ही बंद लिफाफे में सर्वे की रिपोर्ट और वीडियो की सीडी पक्षकारों को सौंप दी गई। हालाँकि, रिपोर्ट सौंपने के कुछ देर बाद ही पहले की तरह यह रिपोर्ट भी लीक हो गई और सर्वे का वीडियो वायरल हो गया।

वहीं हिन्दू पक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस कर दावा किया कि सर्वे के वीडियो को किसी ने वायरल कर दिया है। हिन्दू पक्ष ने अपने चारों लिफाफे भी मीडिया को दिखाए और दावा किया कि हमारे लिफाफे अभी तक सील बंद हैं।

हिन्दू पक्ष के वकील सुधीर जैन के अनुसार, “हम लोगों को मिला लिफाफा अभी तक खोला ही नहीं गया है। अभी हम लोगों को पता चला कि वीडियो कुछ मीडिया प्लेटफार्म पर चल रहा है। अब हम कोर्ट से इस बारे में शिकायत करेंगे। हम लोगों को कोर्ट से चार लिफाफे मिले थे, चारों लिफाफे अभी तक सील बंद हैं। हम लोगों ने लीक नहीं किया है।”

बता दें कि आज शाम को इससे पहले अदालत में शपथपत्र देने के बाद हिन्दू पक्ष की तरफ से वादी पक्ष की पाँच में से चार महिलाओं को सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट की सीडी मिली थी। बताया जा रहा है कि शपथ पत्र नहीं देने के कारण दूसरे पक्ष को अभी रिपोर्ट और सीडी नहीं मिली है। ऐसे में अदालत से केवल चार ही लिफाफे दिए गए और चारों को सील बंद बताने के बाद भी लीक कैसे हुआ, इस बात पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि ज्ञानवापी विवादित ढाँचे को लेकर वाराणसी कोर्ट में आज सुनवाई हुई थी। वहीं कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 4 जुलाई की तारीख दी है। जिला जज डा.अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत में आज सोमवार (30 मई, 2022) को करीब 2 घंटे तक सुनवाई चली जिसमें मुस्‍ल‍िम पक्ष ने विस्‍तार से अपनी बात रख दी है। वहीं अब इस पूरे मामले में वीडियो लीक होने से नया मोड़ आ गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी गैर-जिम्मेदाराना’: रिटायर्ड जज ने सुनाई खरी-खरी, कहा – यही करना है तो नेता बन जाएँ, जज क्यों...

दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज एसएन ढींगरा ने मीडिया में आकर बताया है कि वो सुप्रीम कोर्ट के जजों की टिप्पणी पर क्या सोचते हैं।

‘क्या किसी हिन्दू ने शिव जी के नाम पर हत्या की?’: उदयपुर घटना की निंदा करने पर अभिनेत्री को गला काटने की धमकी, कहा...

टीवी अभिनेत्री निहारिका तिवारी ने उदयपुर में कन्हैया लाल तेली की जघन्य हत्या की निंदा क्या की, उन्हें इस्लामी कट्टरपंथी गला काटने की धमकी दे रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,399FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe