Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजकर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री के घर पड़ा IT का छापा, कॉन्ग्रेस ने कहा 'दुर्भावपूर्ण...

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री के घर पड़ा IT का छापा, कॉन्ग्रेस ने कहा ‘दुर्भावपूर्ण कदम’

"आयकर विभाग के कई छापे जी परमेश्वर आर एल जलप्पा और अन्य के यहाँ पर राजनीति से प्रेरित और दुर्भावनापूर्ण सोच के लिए किए गए हैं।"

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के निवास स्थान और उनके स्वामित्व वाले मेडिकल कॉलेज में आयकर विभाग ने गुरुवार (10 अक्टूबर 2019) को छापेमारी की। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रेड के लिए पूर्व डिप्टी सीएम के लगभग 30 ठिकानों को चिह्नित किया गया है। कहा जा रहा है उनसे संबंधित ट्रस्ट द्वारा संचालित मेडिकल कॉलेज में कुछ अनियमतताएँ पाई गई हैं। इसके अलावा आयकर विभाग ने कोलार में कॉन्ग्रेस के दिग्गज नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री आरएल जलाप्पा के स्वामित्व वाले मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पर भी छापेमारी की।

प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री का इस छापेमारी पर मीडिया से कहना है, “मुझे इन छापेमारी के बारे में कोई जानकारी नहीं है। मुझे नहीं मालूम आयकर विभाग के लोग कहाँ छापेमारी को अंजाम दे रहे हैं। उन्हें कर लेने दीजिए। मुझे इससे कोई आपत्ति नहीं है, अगर हमारी तरफ से कोई गलती है तो हम इसे सुधारेंगे।”

इसके बाद अपने एक बयान में पूर्व उपमुख्यमंत्री कहते नजर आए कि अगर ये रेड केवल शैक्षणिक संस्थानों पर की जा रही हैं, तो उन्हें इससे कोई आपत्ति नहीं, आयकर विभाग सभी कागजातों की जाँच कर ले।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से ज्ञात हुआ है कि पूर्व उपमुख्यमंत्री से संबंधित परिसरों में आज करीब आधे घंटे तक छापेमारी की गई। वहीं, एएनआई द्वारा दी जानकारी में कहा गया कि जी परमेश्वर स्वामित्व वाले मेडिकल कॉलेज (जिसका संचालन ट्रस्ट की तरफ से किया जा रहा है) में आयकर विभाग को अनियमितताएँ मिली हैं।

इस रेड पर पूर्व मुख्यमंत्री और प्रतिपक्ष नेता सिद्धारमैया ने आयकर छापे को राजनीति से प्रेरित और दुर्भावपूर्ण बताया। उन्होंने ट्वीट करके कहा, “आयकर विभाग के कई छापे जी परमेश्वर आर एल जलप्पा और अन्य के यहाँ पर राजनीति से प्रेरित और दुर्भावनापूर्ण सोच के लिए किए गए हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe