Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजजीतेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी हरिद्वार से गिरफ्तार, धर्म संसद मामले में गुलबहार...

जीतेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी हरिद्वार से गिरफ्तार, धर्म संसद मामले में गुलबहार खान ने की थी उत्तराखंड में शिकायत

यति नरसिंहानंद जीतेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी के मामले में इस बात पर अड़े हुए हैं कि या तो उन्हें पुलिस छोड़े या फिर नरसिंहानंद को भी गिरफ्तार करे।

उत्तराखंड (Uttarakhand) के हरिद्वार में हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण देने के मामले में जीतेंद्र नारायण त्यागी (पूर्व नाम वसीम रिजवी) (Wasim Rizvi alias Jitendra Narayan Tyagi) को उत्तराखंड पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें हरिद्वार के नारसन बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया। रिजवी हरिद्वार नगर कोतवाली लेकर आई है। इस बीच उनके समर्थन में कोतवाली में लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है।

इस घटना को लेकर ऑपइंडिया ने स्वामी यति नरसिंहानंद महाराज (Yati Narsinghanand Maharaj) से संपर्क किया। उन्होंने जीतेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। यति नरसिंहानंद जीतेंद्र नारायण त्यागी की गिरफ्तारी के मामले में इस बात पर अड़े हुए हैं कि या तो उन्हें पुलिस छोड़े या फिर नरसिंहानंद को भी गिरफ्तार करे।

उल्लेखनीय है कि हरिद्वार निवासी गुलबहार खान ने ही पुलिस में शिकायत की थी। इस शिकायत में ये आरोप लगाय़ा गया था, “वसीम रिज़वी जो अब जितेंद्र नारायण त्यागी के नाम से जाने जाते हैं, ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर पैगम्बर मोहम्मद और उनके अनुयायियों के खिलाफ गलत बयानी की है। यह एक सोची-समझी साजिश है। आरोपितों ने इन बयानों को सोशल मीडिया पर भी शेयर किया है।” ये धर्म संसद खड़खड़ी स्थित वेद निकेतन में 7 से 19 दिसंबर 2021 के दौरान आयोजित हुआ था।

गौरतलब है कि इस मामले में उनके खिलाफ पुलिस ने धारा 153A के तहत केस दर्ज किया था। अपने खिलाफ केस दर्ज कराए जाने पर जितेंद्र नारायण त्यागी ने ऑपइंडिया को बताया था। उन्होंने कहा था, “मेरे विरुद्ध हरिद्वार में जो मुकदमा दर्ज करवाया गया है, इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने हैदराबाद में भी मुकदमा दर्ज करवाया था। भारत के विभिन्न थानों में हेट स्पीच बता कर मेरे विरुद्ध जो मुकदमे दर्ज करवाए जा रहे हैं ये कट्टरपंथी मुल्लाओं की, मुस्लिम समाज के आतंकी लोगों की बौखलाहट है। क्योंकि वो समझ रहे हैं कि उनकी पोल खुल चुकी है। सच्चाई कहना हेट स्पीच नहीं है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के बाहर ‘सर तन से जुदा’ की गूँज के 11 दिन बाद उदयपुर में काट दिया गया था कन्हैयालाल का गला, 2...

राजस्थान के अजमेर दरगाह के सामने 'सर तन से जुदा' के नारे लगाने वाले खादिम मौलवी गौहर चिश्ती सहित छह आरोपितों को कोर्ट ने बरी कर दिया है।

जिस किले में प्रवेश करने से शिवाजी को रोक नहीं पाई मसूद की फौज, उस विशालगढ़ में बढ़ रहा दरगाह: काटे जा रहे जानवर-156...

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में स्थित विशालगढ़ किला में लगातार अतिक्रमण बढ़ रहा है। यहाँ स्थित एक दरगाह के पास कई अवैध दुकानें बन गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -