Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाज'वह रोज दारू पीता है, लड़की बाजी करता है... मेरे दो बच्चों को कैद...

‘वह रोज दारू पीता है, लड़की बाजी करता है… मेरे दो बच्चों को कैद कर रखा है’: उद्धव के मंत्री धनंजय मुंडे नए विवादों में घिरे

“मेरी छोटी बेटी 14 साल की है और बंगले पर कोई महिला केयरटेकर भी नहीं है। धनंजय मुंडे का चाल-चलन अच्छा नहीं है। वह रोज लड़की बाजी करता है और दारू पीता है। दोनों बच्चों को मेरे खिलाफ भड़काता है और नशे में उनके सामने कपड़े उतारकर नंगा हो जाता है। इसलिए बच्चों के साथ कुछ भी हुआ तो उसके लिए धनंजय मुंडे जिम्मेदार होंगे।”

उद्धव सरकार में मंत्री व नेशनल कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) के नेता धनंजय मुंडे फिर विवादों में हैं। इस दफा उनके ख़िलाफ़ शिकायत उनकी लिव इन पार्टनर करुणा शर्मा ने की है। दोनों के दो बच्चे हैं। पिछले दिनों करुणा की ही बहन रेनू शर्मा ने एनसीपी नेता पर बलात्कार का आरोप लगाया था।

करुणा ने धनंजय मुंडे पर उनके बच्चों को कैद किए रखने का इल्जाम लगाया है। उन्होंने कहा है कि मुंडे ने उनके दो बच्चों को अपने बंगले ‘चित्रकूट’ में 3 महीने से ‘कैद’ कर रखा है। उन्होंने दावा किया कि जब वह 24 जनवरी को बच्चों से मिलने गईं तो 30-40 पुलिसकर्मियों की बड़ी टीम ने उन्हें बंगले में प्रवेश करने से रोक दिया।

बच्चों की सुरक्षा के लिए चिंतित करुणा ने पुलिस महानिदेशक हेमंत नगराले के पास अपनी शिकायत दी है। उन्होंने कहा है, “मेरी छोटी बेटी 14 साल की है और बंगले पर कोई महिला केयरटेकर भी नहीं है। धनंजय मुंडे का चाल-चलन अच्छा नहीं है। वह रोज लड़की बाजी करता है और दारू पीता है। दोनों बच्चों को मेरे खिलाफ भड़काता है और नशे में उनके सामने कपड़े उतारकर नंगा हो जाता है। इसलिए बच्चों के साथ कुछ भी हुआ तो उसके लिए धनंजय मुंडे जिम्मेदार होंगे।”

अपनी शिकायत में महिला ने कहा है कि यदि उन्हें उनके बच्चों से मिलने नहीं दिया गया तो वह 20 फरवरी 2021 से आमरण अनशन पर बैठेंगी। इसके लिए उन्होंने चित्रकूट बंगले के सामने, मंत्रालय के सामने या आजाद मैदान में बैठने के लिए अनुमति माँगी है। साथ ही मुंडे के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की माँग की है।

अपनी शिकायत में उन्होंने मुंडे के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 376, 377, 420, 471, 324, 363, 506, घरेलू हिंसा की धारा 18, 19 व आईटी एक्ट दांपत्य अधिकार की धारा 9 के तहत मामला दर्ज करने को कहा है।

गौरतलब है कि धनंजय मुंडे और उनकी लिव इन पार्टनर में काफी समय से कुछ ठीक नहीं चल रहा है। पिछले दिनों जब करुणा की बहन रेनू शर्मा ने मुंडे पर रेप का आरोप लगाया तो उन्होंने (धनंजय ने) अपनी सफाई देते हुए करुणा से अपने रिश्तों का खुलासा किया था। उन्होंने यह भी बताया था,

“ साल 2019 से करुणा, उसकी बहन रेनू और भाई ब्रिजेश ने मुझे ब्लैकमेल करना शुरू किया और मुझसे पैसे माँगने लगे। उन्होंने मुझे मारने की धमकी भी दी। 12 नवंबर 2020 को मैंने इस बाबत एक शिकायत भी करवाई थी। रेनू ने फर्जी और बदनाम करने वाले आरोप सोशल मीडिया पर पोस्ट करने शुरू किए। सारे आरोप निराधार हैं और सब कुछ उनके पैसे लेने के लिए करुणा और ब्रिजेश के प्लान का हिस्सा है।”

इसके बाद मालूम हुआ कि करुणा और धनंजय ने बंबई हाईकोर्ट को सूचित किया कि उन्होंने एक मध्यस्थ के जरिए आपसी विवाद सुलझाने का फैसला किया है। दूसरी ओर ये भी खबर आई कि गायिका रेनू शर्मा ने भी धनंजय मुंडे के खिलाफ दायर की गई अपनी शिकायत को वापस ले लिया। मगर, ताजा शिकायत से पता चलता है कि ये मामला अभी पूरी तरह शांत नहीं हुआ है न ही कोर्ट से बाहर इसे सुलझाने के प्रयास हो रहे हैं।

बता दें कि पिछले साल दिसंबर (2020) में मुंडे ने हाई कोर्ट में मानहानि का एक मुकदमा दर्ज कर अनुरोध किया था। उसमें कहा गया था कि महिला को उसके सोशल मीडिया अकाउंट पर उनकी निजी तस्वीरें एवं वीडियो पोस्ट करने से रोकने का आदेश दिया जाए। अदालत ने 16 दिसंबर को दिए अंतरिम आदेश में महिला को निर्देश दिया था कि वह अगले आदेश आने तक मुंडे की कोई निजी तस्वीर या वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड न करे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,125FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe