Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजदलित रेपिस्ट के कारण पीड़‍िता हुई अशुद्ध, शुद्धिकरण के लिए पंचायत का तुगलकी फरमान...

दलित रेपिस्ट के कारण पीड़‍िता हुई अशुद्ध, शुद्धिकरण के लिए पंचायत का तुगलकी फरमान – भंडारा कराओ

इस अजीबोगरीब फैसले से पीड़िता का परिवार परेशान है। परिवार को न तो सामाजिक कार्यक्रमों में बुलाया जा रहा है और न ही कोई उनके घर में किसी कार्यक्रम में शामिल हो रहा है। ऐसे में पीड़िता के माता-पिता ने राजगढ़ पहुँचकर अधिकारियों से इंसाफ की गुहार लगाई।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे राजगढ़ जिले में एक बेहद ही असंवेदनशील मामला सामने आया है। यहाँ पर एक रेप पीड़िता के परिवार को समाज से बहिष्कृत कर दिया गया है। दरअसल, जिले के नरसिंहगढ़ ब्लॉक के डूंगरपुरा गाँव में कुछ महीने पहले एक किशोरी के साथ रेप हुआ था। इस किशोरी के साथ दलित जाति के युवक ने रेप किया था। अब इस मामले पर गाँव के सामाजिक पंचायत ने एक अजीबोगरीब फैसला सुनाया है। पंचों ने पीड़िता के शुद्धिकरण के लिए उसके परिवार को भंडारा कराने का आदेश दिया है। पंचायत का कहना है कि रेप करने वाला आरोपी दलित जाति का था, इसलिए पीड़िता का परिवार अछूत हो गया है।

इस अजीबोगरीब फैसले से पीड़िता का परिवार परेशान है। परिवार को न तो सामाजिक कार्यक्रमों में बुलाया जा रहा है और न ही कोई उनके घर में किसी कार्यक्रम में शामिल हो रहा है। ऐसे में पीड़िता के माता-पिता ने राजगढ़ पहुँचकर अधिकारियों से इंसाफ की गुहार लगाई। गाँव वालों के इस अजीब फैसले की शिकायत मानवाधिकार आयोग में भी की गई है।

पंचायत द्वारा जारी किए गए फरमान में कहा गया है कि इस भंडारे में गाँव के ही नहीं, बल्कि आस-पास के ग्रामीण भी शामिल हों। इसके लिए लिखित में पंचनामा तैयार किया गया। जिस पर पंचों के साथ-साथ पीड़िता के माता-पिता से भी हस्ताक्षर करवाए गए। हालाँकि, पीड़िता के पिता ने भंडारा करवाने की कोशिश की, मगर गरीबी के कारण वे भंडारा नहीं करा पाए। जिसके बाद गाँव के साथ ही आस-पास के लोगों ने भी उनका बहिष्कार कर दिया है। हाल ही में पीड़ित परिवार के घर एक आयोजन हुआ था, जिसका कार्ड गाँव के किसी भी व्यक्ति ने स्वीकार नहीं किया।

वहीं इस बारे में जिले की पुलिस का कहना है कि ये मामला उनके संज्ञान में आया है, लेकिन पीड़ित परिवार की तरफ से अभी तक कोई लिखित शिकायत नहीं आई है। शिकायत आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के मुताबिक, इसी साल मार्च में 17 साल की नाबालिग के साथ गाँव के ही दलित युवक सियाराम ने रेप किया था। जिसकी रिपोर्ट पीड़ित परिवार ने पुलिस में की। एफआईआर के लगभग आठ दिन बाद आरोपित को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe