Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले मुंबई में बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश: ATS...

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले मुंबई में बड़ी आतंकी साजिश का पर्दाफाश: ATS ने गेस्ट हाउस पर छापा मार 6 को दबोचा, हथियार भी जब्त

गणतंत्र दिवस को देखते हुए मुंबई पुलिस और आतंकवाद निरोधी दस्ता लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं। इसी क्रम में एटीएस को सूचना मिली थी कि कुछ हथियारबंद लोग एक बोरीबली के एक गेस्ट हाउस में हैं।

एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड की मुंबई यूनिट ने एक गेस्ट हाउस पर छापेमारी की और 6 बदमाशों को धर दबोचा। उनके पास से ATS ने 3 पिस्टल और 36 राउंड गोलियाँ बरामद की हैं। गिरफ्तार किए गए बदमाश दिल्ली और यूपी से ताल्लुक रखते हैं और मुंबई में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने पहुँचे थे। लेकिन एटीएस ने उनके मंसूबों को ध्वस्त करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

गणतंत्र दिवस को देखते हुए मुंबई पुलिस और आतंकवाद निरोधी दस्ता लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं। इसी क्रम में एटीएस को सूचना मिली थी कि कुछ हथियारबंद लोग एक बोरीबली के एक गेस्ट हाउस में हैं। ये लोग किसी वारदात को अंजाम देने की योजना पर काम कर रहे हैं। सूचना पाते ही एटीएस सक्रिय हो गई और छापेमारी कर सभी बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान किसी तरह की गोलीबारी की खबर नहीं आई है।

मुंबई में एटीएस ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर बोरीबली स्थित एक गेस्ट हाउस में ये छापेमारी की गई। इस दौरान एटीएस ने 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इन बदमाशों के पास से 3 पिस्टल और 36 राउंड गोलियाँ बरामद हुई हैं। ये बदमाश किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए पहुँचे थे। शुरुआती छानबीन में पता चला है कि ये लोग दिल्ली के रहने वाले हैं। कुछ का ताल्लुक यूपी से भी है।

जाँच में जुटी एटीएस

एक साथ इतने अपराधियों के गिरफ्त में आने के बाद सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों का ये भी कहना है कि अभी इन लोगों का कोई बाहरी लिंक नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इस अपराधियों से पूछताछ पूरी हो जाएगी। सूत्रों ने बताया है कि 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा से पहले आतंकी भी किसी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। इसी लिए सुरक्षा बल पहले से ही तैयार हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -