Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजबरेली में काँवड़ मार्ग में धरने पर बैठ गई मुस्लिम महिलाएँ, काँवड़ियों पर लाठीचार्ज...

बरेली में काँवड़ मार्ग में धरने पर बैठ गई मुस्लिम महिलाएँ, काँवड़ियों पर लाठीचार्ज के बाद हटाए गए SSP; इंस्पेक्टर सस्पेंड

मुस्लिम समुदाय की महिलाओं ने रविवार को काँवड़ मार्ग पर धरना दे दिया। मामले की जानकारी पुलिस को हुई तो वो मौके पर पहुँची। धरना दे रहीं महिलाओं को समझाने की काफी कोशिश की गई पर वो नहीं हटीं।

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के जोगी नवादा में काँवड़ रूट को लेकर विवाद जारी है। रविवार (30 जुलाई 2023) को जिस रूट से काँवड़ यात्रा निकलनी थी, उस पर मुस्लिम महिलाओं ने धरना दिया। प्रशासन की तमाम कोशिशों के बावजूद वो नहीं हटीं। काँवड़ यात्रा पर लाठी चार्ज होने के बाद महिलाओं का धरना खत्म हुआ। मौके पर भारी फ़ोर्स लगाया गया है। उधर काँवड़ियों पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक IPS प्रभाकर चौधरी को हटा दिया गया है। साथ ही SHO और चौकी प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला बारादरी थाना क्षेत्र के जोगी नवादा इलाके का है। यहाँ गुंसाई गौटिया नाम के इलाके से पिछले सप्ताह निकली काँवड़ यात्रा पर मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा पत्थरबाजी की गई थी। मची अफरातफरी के बीच पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। सोमवार (31 जुलाई) से इसी रास्ते से फिर काँवड़ यात्री जल चढ़ाने के लिए जाने वाले थे। इस बीच मुस्लिम समुदाय की महिलाओं ने रविवार को काँवड़ मार्ग पर धरना दे दिया। मामले की जानकारी पुलिस को हुई तो वो मौके पर पहुँची। धरना दे रहीं महिलाओं को समझाने की काफी कोशिश की गई पर वो नहीं हटीं।

इस धरना-प्रदर्शन का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में हिजाब पहने महिलाओं के एक समूह को सड़क पर बैठ कर नारेबाजी करते देखा जा सकता है। महिलाओं के पीछे कुछ नाबालिग बच्चे और पुरुष खड़े दिखाई दे रहे हैं। वहीं मौके पर रैपिड एक्शन फ़ोर्स की भी तैनाती देखी जा सकती है। धरना दे रहीं महिलाओं का एलान था कि वो उस मार्ग से काँवड़ यात्रा नहीं निकलने देंगीं।

बताया जा रहा है कि काँवड़ यात्री भी इस बात को ले कर अड़े थे कि वो यात्रा के मार्ग में बदलाव नहीं करेंगे। थोड़ी समय बाद पुलिस ने काँवड़ियों पर लाठीचार्ज किया। इस से भीड़ तितर-बितर हो गई। आखिरकार काँवड़ यात्रा भी इस बार उस मार्ग से नहीं निकल पाई, जहाँ धरना दिया गया था। काँवड़ियों पर लाठीचार्ज के बाद मुस्लिम महिलाओं ने अपना धरना खत्म कर लिया। इस पूरे विवाद की जड़ में शाननूरी मस्जिद बताई जा रही है। पिछली बार 23 जुलाई 2023 को काँवड़ यात्रा पर हुई पत्थरबाजी में भी इसी मस्जिद का नाम सामने आया था। तब पुलिस ने समाजवादी पार्टी के नेता उस्मान अल्वी को गिरफ्तार किया था।

लाठीचार्ज के बाद हटाए गए SSP, इंस्पेक्टर सस्पेंड

बताते चलें कि पुलिस द्वारा काँवड़ यात्रियों पर हुए लाठीचार्ज का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में भाग रहे काँवड़ यात्रियों को पुलिस दौड़ा कर पीटती दिखाई दे रही थी। मामला संज्ञान में आने के बाद बरेली पुलिस के SSP प्रभाकर चौधरी को हटा कर लखनऊ PAC भेज दिया गया है। वहीं लाठीचार्ज में शामिल SHO इंस्पेक्टर अभिषेक सिंह और सब इंस्पेक्टर अमित कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है। फिलहाल जिले में नए SSP IPS धुले सतीश चंद्रभान की तैनाती की गई है।

ऑपइंडिया से बात करते बरेली के हिन्दू संगठन से जुड़े पदाधिकारी हिमांशु पटेल ने बताया कि 23 जुलाई को हुई पत्थरबाजी में पुलिस ने सिर्फ 2 लोगों को पकड़ कर खानापूर्ति की थी, इसलिए उपदव्रियों के हौसले इतने बुलंद हुए। उन्होंने काँवड़ियों को आतंकी बोलने वाली बरेली पुलिस DSP दीपशिखा पर भी कार्रवाई न होने पर आश्चर्य जताया। हिमांशु ने हमें बताया कि जिस दिन काँवड़ यात्रियों पर पुलिस ने लाठियाँ बरसाईं थीं, उस दिन 3 हजार मुस्लिम भी धारा 144 का उल्लंघन कर के सड़कों पर जमा थे। लेकिन पुलिस की कार्रवाई एकतरफा हिन्दुओं पर ही हुई थी। हिमांशु पटेल ने सड़क कब्ज़ाने वाली मुस्लिम महिलाओं पर कार्रवाई की माँग की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -