Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजलोन चुकाने के लिए पड़ोसन की सवा साल की बच्ची का दबा दिया गला,...

लोन चुकाने के लिए पड़ोसन की सवा साल की बच्ची का दबा दिया गला, बालियाँ और चेन नोंचने के बाद नदी में फेंकी लाश: बंगाल में नाएजा बीबी गिरफ्तार

नाएजा बीबी ने गाँव वालों को बताया कि वो बैंक का कर्ज चुकाने को ले कर काफी परेशान थी। शुक्रवार को वो बच्ची को अपने साथ ले गई। सुनसान में उसने बच्ची के कानों से सोने की बालियाँ और गले से चाँदी की चेन निकाल ली। बाद में नाएजा ने सहना का गला दबा कर हत्या कर दी। उसने बताया कि लाश को उसने नदी में फेंक दिया और घर चली आई।

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के फरक्का उपखंड में बैंक का कर्ज चुकाने के लिए एक महिला ने पड़ोसी की नाबालिग बच्ची की हत्या कर दी। अरोपित का नाम नाएजा बीबी है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। मृतका सहना खातून की उम्र सवा साल थी। अरोपित ने बच्ची के गले में पड़ी चाँदी की माला और कानों में सोने की बाली के लालच में उसे मार डाला। घटना शुक्रवार (22 सितंबर 2023) की है।

प्रभात खबर के मुताबिक, घटना मुर्शिदाबाद जिले के शमशेरगंज थाना क्षेत्र की है। सिकदरपुर की रहने वाली नाएजा बीबी ने बंधन बैंक से कर्ज लिया था। तय समय पर वो कर्ज चुकता नहीं कर पाई थी। इस बीच नाएजा बीबी की नजर पड़ोस में रहने वाली सीमा बीबी की सवा साल की बेटी सहना खातून पर पड़ी। सहना खातून के कानों में सोने की बालियाँ और गले में चाँदी की चेन थी।

बताया जा रहा है कि नाएजा बीबी इन गहनों को हासिल कर के उसी से अपने कर्ज को चुकता करने की साजिश रचने लगी। अपनी साजिश को अंजाम देने के लिए नाएजा बीबी 22 सितंबर को पड़ोसन सीमा बीबी के घर पहुँची। यहाँ थोड़ी देर सहना को गोद में खिलाने के बाद नाएजा उसे अपने साथ ले जाने लगी। पड़ोसन और परिचित होने के कारण सीमा ने नाएजा को मना नहीं किया।

नाएजा बच्ची को लेकर चली गई और शाम तक जब बच्ची घर लौटकर नहीं आई तो घर वालों ने उसकी खोजबीन शुरू कर दी। हर तरफ तलाश के बावजूद जब सहना नहीं मिली तब सबने मिलकर नाएजा बीबी से सवाल-जवाब शुरू किया। शुरुआत में नाएजा ने तमाम बहाने बनाए, लेकिन जब ग्रामीणों ने दबाव बनाया तब उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

नाएजा बीबी ने गाँव वालों को बताया कि वो बैंक का कर्ज चुकाने को ले कर काफी परेशान थी। शुक्रवार को वो बच्ची को अपने साथ ले गई। सुनसान में उसने बच्ची के कानों से सोने की बालियाँ और गले से चाँदी की चेन निकाल ली। बाद में नाएजा ने सहना का गला दबा कर हत्या कर दी। उसने बताया कि लाश को उसने नदी में फेंक दिया और घर चली आई।

इसके बाद बच्ची के परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। शमशेरगंज थाना की पुलिस ने गाँव पहुँचकर नाएजा बीबी को गिरफ्तार कर लिया। इसके साथ नदी में फेंके गए बच्ची के शव की तलाश शुरू कर दी गई है। खबर लिखे जाने तक लाश नहीं मिली थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिना परोल के 24 साल से जेल में बंद हैं रवींद्र पाल उर्फ दारा सिंह, 60+ हो चुकी है उम्र: रिहाई की संस्तुति के...

उत्तर प्रदेश का प्रशासन 24 वर्षों से जेल काट रहे दारा सिंह की रिहाई की संस्तुति बार-बार भेजता रहा, लेकिन ओडिशा सरकार फ़ाइल दबाए बैठी रही।

‘ब्राह्मण है ज्योति मिश्रा, फिर भी SC कोटे से बन गई IFS’: जिस लड़की के UPSC चयन पर थे सवाल वह निकली पूरी फ्रॉड,...

ज्योति मिश्रा का पूरा मामला पूजा खेडकर के फ्रॉड से जुड़ी खबरें आने के बीच उजागर हुआ। जाँच में पता चला कि ज्योति ने परिवार को दो साल से गुमराह किया हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -