Wednesday, November 30, 2022
Homeदेश-समाजयति नरसिंहानंद का 'पुराना वीडियो' वायरल: वामपंथी पत्रकार के ट्वीट का NCW ने लिया...

यति नरसिंहानंद का ‘पुराना वीडियो’ वायरल: वामपंथी पत्रकार के ट्वीट का NCW ने लिया संज्ञान, कार्रवाई के लिए यूपी DGP को पत्र

"ज्यादातर कॉलगर्ल हिंदू महिलाएँ होती हैं। ये वो महिलाएँ होती हैं, जो प्रेम के चक्कर में जेहादी मुस्लिमों के चंगुल में फँसकर अपनी फोटो खिंचवा बैठती हैं। उनके द्वारा कभी पैसे के लिए, कभी किसी अधिकारी को खुश करने के लिए तो कभी नेताओं के लिए भेजी जाती हैं। कितनी दुर्गति हो गई हमारी बहन-बेटियों की?"

राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) को गाजियाबाद के डासना मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती के खिलाफ संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया है। यह निर्देश उनके कथित भाषण का वीडियो ट्विटर पर वायरल होने के बाद आया है।

स्रोत:@NCWIndia/ट्विटर

महिला आयोग ने पत्रकार से फिल्मकार बने विनोद कापड़ी द्वारा साझा किए गए एक वीडियो का हवाला दिया। इस वीडियो को देखकर महिला आयोग ने निष्कर्ष निकाला कि यति नरसिंहानंद ने “महिलाओं पर अनुचित टिप्पणी और उनके लिए अभद्र शब्दों का उपयोग किया था।” कापड़ी ने अपने ट्वीट में महिला आयोग को भी टैग किया था।

वीडियो में यति नरसिंहानंद ने कहा है, “ज्यादातर कॉलगर्ल हिंदू महिलाएँ होती हैं। ये वो महिलाएँ होती हैं, जो प्रेम के चक्कर में जेहादी मुस्लिमों के चंगुल में फँसकर अपनी फोटो खिंचवा बैठती हैं। उनके द्वारा कभी पैसे के लिए, कभी किसी अधिकारी को खुश करने के लिए तो कभी नेताओं के लिए भेजी जाती हैं। कितनी दुर्गति हो गई हमारी बहन-बेटियों की?” हालाँकि, इस वीडियो की सत्यता की ऑपइंडिया पुष्टि नहीं करता है।

गौरतलब है कि हाल के दिनों में यति नरसिंहानंद की हत्या के प्रयास हुए हैं। 2 जून को गाजियाबाद के डासना मंदिर के सेवादारों ने महंत यति नरसिंहानंद की हत्या के प्रयास के संदेह में विपुल विजयवर्गी और काशिफ नाम के दो लोगों को पकड़ा था। यति नरसिंहानंद सरस्वती ने एक ट्वीट में कहा था, “आज दो और सूअर पकड़े गए जो मेरी हत्या करने आए थे। मुझे मारना इतना आसान नहीं है।”

डासना मंदिर के पुजारी के करीबी अनिल यादव ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस अधीक्षक डॉ इराज राजा ने बताया था कि दोनों संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 17 मई को दिल्ली पुलिस ने 24 वर्षीय जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी मोहम्मद डार उर्फ जहाँगीर की दिल्ली के पहाड़गंज से गिरफ्तारी थी। इसके बाद डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिघानंद सरस्वती की हत्या की साजिश का खुलासा हुआ था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मौलाना साद को सौंपी जाए निजामुद्दीन मरकज की चाबियाँ’: दिल्ली HC के आदेश पर पुलिस को आपत्ति नहीं, तबलीगी जमात ने फैलाया था कोरोना

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को तबलीगी जमात के निजामुद्दीन मरकज की चाबी मौलाना साद को सौंपने की हिदायत दी। पुलिस ने दावा किया है कि वह फरार है।

e₹-R के लिए हो जाइए तैयार, डिजिटल रुपए के लॉन्च के लिए तैयार है रिजर्व बैंक: इन 8 बैंकों से होगी लेनदेन की शुरुआत,...

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने गुरुवार (1 दिसबंर, 2022) से रिटेल डिजिटल रुपए (Digital Rupee) या ई-रुपी (e₹-R) को लॉन्च करने का ऐलान किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,110FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe