Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाज'क्राइम सीन को बर्बाद किया, ऑटोप्सी रिपोर्ट में कई खामियाँ': सुशांत मामले में डेढ़...

‘क्राइम सीन को बर्बाद किया, ऑटोप्सी रिपोर्ट में कई खामियाँ’: सुशांत मामले में डेढ़ महीने में पलटे AIIMS के डॉ सुधीर

43 दिन पहले जिस डॉ सुधीर गुप्ता ने कहा था कि जो डिटेल्स हैं, उनके आधार पर निर्णयात्मक रिपोर्ट देना संभव नहीं है, क्योंकि क्राइम सीन 'फॉरेंसिक्ली सुइटेबल' नहीं है... अब वही डॉक्टर सुशांत की आत्महत्या पर मुहर कैसे लगा सकते हैं?

‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ ने सुशांत सिंह राजपूत के मामले में एम्स के पैनल की अध्यक्षता कर रहे डॉक्टर सुधीर गुप्ता का एक टेप जारी कर के बड़ा खुलासा किया है। उस ऑडियो टेप में डॉक्टर सुधीर गुप्ता कहते दिख रहे हैं कि क्राइम सीन ‘कंटेमिनेट’ कर दिया गया था और फॉरेंसिक रूप से जाँच के लिए कोई विश्वस्त साक्ष्य उपस्थित नहीं थे। अब ‘रिपब्लिक’ ने पूछा है कि कुछ हफ्ते पहले के इस बयान से वो पलट कैसे गए?

चैनल ने कहा कि आज सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले पर तब सवाल उठाने वाले डॉक्टर सुधीर गुप्ता अब इसे आत्महत्या कैसे बता सकते हैं? वायरल टेप में डॉक्टर गुप्ता कहते दिख रहे हैं कि जब तक क़ानूनन फैसला न हो जाए, तब तक सबूतों को बिना छेड़छाड़ किए रखने की जिम्मेदारी होती है। उस समय उन्होंने कहा था कि सुशांत से जुड़े सारे दस्तावेज अभी नहीं भेजे गए हैं, जिनका वो लोग इंतजार कर रहे हैं।

तब डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने कहा था कि सबूत आगे की जाँच के लिए उपयुक्त नहीं हैं और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कई खामियाँ हैं, लेकिन अब मीडिया में उनके हवाले से अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं कि सुशांत की मौत आत्महत्या है। साथ ही चैनल ने उनका एक व्हाट्सप्प चैट भी निकाला है, जिसमें वो दावा कर रहे हैं। वकील विकास सिंह ने भी कहा है कि सुशांत की बहन द्वारा लिए गए फोटोग्राफ्स को देख कर डॉक्टर गुप्ता ने कहा था कि ये हत्या का मामला है, आत्महत्या हो ही नहीं सकता।

ये सारा स्टिंग ‘रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क’ के पत्रकार प्रकाश सिंह ने किया। इस पर बोलते हुए अर्नब गोस्वामी ने कहा कि इस टेप को दिखाने के लिए वो इसलिए बाध्य हो गए क्योंकि 43 दिन पहले (अगस्त 22, 2020) एक डॉक्टर ने ऑटोस्पी रिपोर्ट में इतनी खामियाँ देखीं और बताया कि उनके आधार पर रिपोर्ट तैयार नहीं की जा सकती। तब डॉक्टर गुप्ता ने कहा था कि सारे सबूतों को मिटा दिया गया। इसी को लेकर अर्नब ने पूछा कि अब सबूत वापस कैसे आ गया?

अर्नब गोस्वामी ने चुनौती दी कि अब डॉक्टर सुधीर गुप्ता ये कह कर दिखाएँ कि ये उनकी आवाज़ नहीं है। डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने ये भी कहा था कि क्राइम सीन को यथावत नहीं रखा गया और इसके साथ छेड़छाड़ हुई है। बकौल अर्नब गोस्वामी, डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने उस समय ये कहा था कि जो डिटेल्स हैं, उनके आधार पर निर्णयात्मक रिपोर्ट देना संभव नहीं है, क्योंकि क्राइम सीन ‘फॉरेंसिक्ली सुइटेबल’ नहीं है।

डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने ये भी पूछा था कि सुशांत के मृत शरीर को सीधे मॉर्चरी में क्यों ले जाया गया, उन्हें इमरजेंसी ट्रीटमेंट क्यों नहीं दिया गया? साथ ही एक न्यूज़ चैनल पर निशाना साधते हुए अर्नब गोस्वामी ने कहा कि ‘तक’ वाले दलाल लोग रिया चक्रवर्ती के पीआर मशीनरी हैं। डॉक्टर सुधीर गुप्ता ने तब प्रकाश सिंह से ये भी पूछा था कि मौत के समय को लेकर ऑटोप्सी रिपोर्ट में कुछ लिखा ही नहीं है – ऐसा चैनल ने दावा किया।

एनडीटीवी सहित कई मीडिया चैनलों और खबरिया पोर्टलों ने एम्स के जाँच पैनल की अगुवाई कर रहे डॉक्टर सुधीर गुप्ता के हवाले से खबर प्रकाशित की थी कि सुशांत मामले की गुत्थी सुलझ गई है और उनकी रिपोर्ट में आया है कि ये हत्या नहीं, आत्महत्या था। इससे 1 दिन पहले अर्नब गोस्वामी ने इन ख़बरों को ‘प्लांटेड स्टोरीज’ करार दिया था। उन्होंने पूछा था कि ये चीजें ऑन रिकॉर्ड क्यों नहीं बोली जा रही?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हंगामा 2 देखिए, राज की वजह से नुकसान न हो: फैन्स से शिल्पा शेट्टी की गुजारिश, घर पहुँच मुंबई पुलिस ने दर्ज किया बयान

राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के केस में मुंबई पुलिस के समक्ष आज बयान दर्ज करवाने के बीच शिल्पा शेट्टी ने अपनी फिल्म हंगामा 2 के लिए अपील की।

‘CM अमरिंदर सिंह ने किसानों को संभाला, दिल्ली भेजा’: जाखड़ के बयान से उठे सवाल, सिद्धू से पहले थे पंजाब कॉन्ग्रेस के कैप्टन

जाखड़ की टिप्पणी के बाद यह आशय निकाला जा रहा है कि कॉन्ग्रेस ने मान लिया है कि उसी ने किसानों को विरोध के लिए दिल्ली की सीमाओं पर भेजा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,924FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe