Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजकन्हैया लाल की गर्दन काटकर हत्या का आसिफ खान ने किया समर्थन, फेसबुक पर...

कन्हैया लाल की गर्दन काटकर हत्या का आसिफ खान ने किया समर्थन, फेसबुक पर लिखा- ‘बहुत अच्छा किया मेरे भाई’, नोएडा पुलिस ने भेजा जेल

नोएडा जोन के Additional CP रणविजय सिंह ने बताया कि थाना एक्सप्रेस-वे में छपरौली गाँव के ग्रामीणों ने इस संबंध में लिखित सूचना दी थी। सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर उदयपुर की घटना का वीडियो वायरल हो रहा था, इसी पर आरोपित ने आपत्तिजनक कमेंट की थी।

उदयपुर में कन्हैया लाल की हत्या के बाद राजस्थान पुलिस की लापरवाही की भारी आलोचना हो रही है, वहीं उत्तर प्रदेश पुलिस बेहद सतर्क और मुस्तैद नजर आ रही है। उदयपुर घटना का सोशल मीडिया पर समर्थन करने नोएडा पुलिस ने गुरुवार (30 जून 2022) को आसिफ खान नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, उदयपुर घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। इस वीडियो प छपरौली गाँव के निवासी आसिफ खान ने लाइक और कमेंट किया और लिखा कि ‘बहुत अच्छा किया मेरे भाई।’ इस कमेंट को जब गाँव के लोगों ने देखा तो इसी शिकायत एक्सप्रेस-वे थाने में की।

नोएडा पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आसिफ खान को तुरंत गिरफ्तार कर लिया और उसके मोबाइल को भी जब्त कर लिया है। उस पर धारा 505(2) (विभिन्न समुदायों के बीच शत्रुता, घॄणा या वैमनस्य की भावना पैदा करने के आशय से असत्य कथन, जनश्रुति आदि परिचालित करना) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इस घटना की जानकारी पुलिस ने ट्विटर पर भी दी है।

आसिफ खान मूल रूप से मुजफ्फरनगर का रहने वाला है और उसके अब्बू का नाम यूसुफ खान है। वे दोनों पिछले 25 सालों से छपरौली गाँव में रह रहे हैं। थाना प्रभारी सुधीर कुमार के अनुसार, आरोपित पर मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

नोएडा जोन के Additional CP रणविजय सिंह ने बताया कि थाना एक्सप्रेस-वे में छपरौली गाँव के ग्रामीणों ने इस संबंध में लिखित सूचना दी थी। सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर उदयपुर की घटना का वीडियो वायरल हो रहा था, इसी पर आरोपित ने आपत्तिजनक कमेंट की थी।

बता देें कि उदयपुर घटना को लेकर किसी तरह की कानून-व्यवस्था ना बिगड़े, इसको लेकर यूपी पुलिस बेहद सतर्क है। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) डीएस चौहान ने कहा था कि प्रदेश में पुलिस चौकसी बढ़ाई गई है। ऐसे में कोई भी अगर सोशल मीडिया पर फर्जी खबर, अफवाह या भड़काऊ पोस्ट पर लाइक, कमेंट या शेयर करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -