Wednesday, July 17, 2024
Homeदेश-समाज₹5000 करोड़ में गार्डन सिटी की तर्ज पर बना बेंगलुरु का कैम्पागौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट...

₹5000 करोड़ में गार्डन सिटी की तर्ज पर बना बेंगलुरु का कैम्पागौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का T-2: PM मोदी करेंगे उद्घाटन, यात्री क्षमता होगी दोगुनी

इसमें 17 सुरक्षा चेक-इन लेन के साथ कुल टर्मिनल क्षेत्र 2,55,645 वर्ग मीटर का होगा। इतना ही नहीं, इसके गेट लाउंज में बैठने की क्षमता 5,932 होगी। टर्मिनल के डिजाइन के लिए अमेरिकी आर्किटेक्चर फर्म स्किडमोर, ओविंग्स एंड मेरिल (एसओएम) को चुना गया था।

कर्नाटक के बेंगलुरु स्थित (Bengaluru, Karnataka) के कैम्पागौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kempegowda International Airport) के टर्मिनल-2 का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। लगभग 5,000 करोड़ रुपए की लागत से बने इस भव्य टर्मिनल का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 11 नवंबर 2022 (शुक्रवार) को करेंगे। इस दौरान बेंगलुरु के संस्थापक कैम्पागौड़ा का 108 मीटर ऊँची कांस्य प्रतिमा का भी अनावरण करेंगे।

टर्मिनल-2 को बेंगलुरु के गार्डन सिटी के लिए एक श्रद्धांजलि के रूप में डिज़ाइन किया गया है। यहाँ से होकर गुजरने वाले यात्रियों को ‘बगीचे में चलना’ अनुभव मिलेगा। यात्री 10,000 वर्ग मीटर से अधिक की हरी दीवारों, लटकते बगीचों और बाहरी गार्डन से होकर गुजरेंगे। इस गार्डन को बनाने में स्वदेशी तकनीक का उपयोग किया गया है।

इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट ने पहले से ही पूरे परिसर में 100 फीसदी के रिन्यूबल एनर्जी का उपयोग करके एक बेंचमार्क स्थापित किया है। टर्मिनल 2 को स्थिरता सिद्धांतों के साथ बनाया गया है. देखने में यह टर्मिनल बेहद भव्य है। इसके साथ ही यात्रियों के आराम का पूरा भी ध्यान रखा गया है।

टर्मिनल-2 के उद्घाटन के साथ ही हवाईअड्डे पर यात्रियों को सँभालने की क्षमता बढ़ जाएगी। यात्रियों की सुविधा के लिए यहाँ चेक-इन और इमिग्रेशन के लिए काउंटर दोगुना कर दिया गया है। यह वर्तमान में यहाँ से सालाना करीब 2.5 करोड़ यात्री सफर करते हैं। टर्मिनल-2 बनने के उद्घाटन के बाद यहाँ की सालाना यात्री क्षमता बढ़कर 5-6 करोड़ हो जाएगी।

इसमें 17 सुरक्षा चेक-इन लेन के साथ कुल टर्मिनल क्षेत्र 2,55,645 वर्ग मीटर का होगा। इतना ही नहीं, इसके गेट लाउंज में बैठने की क्षमता 5,932 होगी। टर्मिनल के डिजाइन के लिए अमेरिकी आर्किटेक्चर फर्म स्किडमोर, ओविंग्स एंड मेरिल (एसओएम) को चुना गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -