Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजइंदौर पुलिस की वेबसाइट पर भारत विरोधी बातें: मोहम्मद बिलाल का कनेक्शन, जासूस बहनों...

इंदौर पुलिस की वेबसाइट पर भारत विरोधी बातें: मोहम्मद बिलाल का कनेक्शन, जासूस बहनों से भी जुड़े हैं तार

इंदौर पुलिस की वेबसाइट हैक करने में पाक हैकर का आया नाम, BJP की वेबसाइट भी कर चुका है हैक

मध्य प्रदेश की इंदौर पुलिस की मंगलवार (13 जुलाई 2021) को हुई वेबसाइट हैकिंग मामले में मोहम्मद बिलाल नाम के पाकिस्तानी हैकर के शामिल होने की बात सामने आई है। ये वही मोहम्मद बिलाल है, जिसका नाम पाकिस्तान के संपर्क में रहने वाली महू में पकड़ी गईं दो संदिग्ध युवतियों के मामले आया था। हालाँकि, पुलिस इसकी पुष्टि नहीं कर रही है, लेकिन आशंका जता रही है कि यह वही मोहम्मद बिलाल हो सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, बिलाल ने पुलिस को चैलेंज करने के लिए वेबसाइट को मंगलवार को हैक कर लिया था। हालाँकि, पुलिस की आईटी टीम ने 6 घंटे में वेबसाइट को रिकवर कर लिया।

वेबसाइट को हैक करने के बाद हैकर्स ने डीजीपी, मध्य प्रदेश सहित तमाम बड़े अधिकारियों के नामों की ‘हैक्ड बाय मोहम्मद बिलाल टीम पीसीई – फ्री कश्मीर पाकिस्तान जिंदाबाद’ लिख दिया था। इसके अलावा, राज्य के डीजीपी और इंदौर आईजी की प्रोफाइल की जगह तिरंगे को गलत तरीके से लगा दिया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, इंदौर के आईजी हरिनारायण मिश्रा चारी ने बताया है “पुलिस टीम ने हैकर के खिलाफ अहम जानकारियाँ हासिल कर ली हैं। विशेषज्ञों की टीम हैकर के आईपी एड्रेस तक पहुँच गई है। वेबसाइट को रिस्टोर करने के बाद उसे लॉक कर दिया गया है। इसके साथ अज्ञात हैकर के खिलाफ केस भी रजिस्टर किया गया है।”

आईजी ने आगे कहा, ” हम सभी जानते हैं कि साइबर की दुनियाँ ऐसी है कि दुनिया के किसी भी कोने में बैठकर अपराध किया जा सकता है। अपराध करना आसान है, लेकिन ये भी सही है कि इससे बच पाना बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि जैसे ही कोई अपराध करता है तो उसकी बहुत सारी गतिविधियाँ और सूचनाएँ साइबर वर्ल्ड में कैद हो जाती हैं। उन्हीं पदचिन्हों के आधार पर पुलिस आरोपित तक पहुँचती है। इस मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया है।”

इस मामले में एक्सपर्ट हिमांशु की शिकायत के आधार पर आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, मोहम्मद बिलाल दिल्ली BJP की वेबसाइट भी हैक कर चुका है। उसने नंवबर 2019 में दिल्ली BJP की वेबसाइट हैक कर उस पर पाकिस्तान और कश्मीर जिंदाबाद लिख दिया था। उसने बड़े शब्दों में लिखा था- ’27 फरवरी याद है न।’ दरअसल, 27 फरवरी को ही मुसलमानों की भीड़ ने गोधरा स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन में आग लगा दी थी। इसके बाद गुजरात सांप्रदायिक दंगे भड़क उठे थे।

इसके अलावा, 15 अक्टूबर 2018 को गोवा BJP की वेबसाइट और अप्रैल 2018 में आंध्रा यूनिवर्सिटी की वेबसाइट को भी बिलाल और उसकी टीम ने हैक कर लिया था।

हीं, दो महीने पहले महू आर्मी छावनी एरिया में पाकिस्तान के लगातार संपर्क में रहने वाली दो महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार यासीन और हीना सेना के रिटायर चांद खां की बेटी हैं और दोनों ने सैन्य विज्ञान की पढ़ाई की है। जब एटीएस, एनआईए समेत कई एजेंसियों ने उनसे पूछताछ शुरू की तो उन्होंने बताया कि फेसबुक के जरिये वे पाकिस्तानी युवक से बात करती हैं और उनसे निकाह करना चाहती हैं। उस दौरान भी मोहम्मद बिलाल का नाम ही सामने आय़ा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe