Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिमेरी नहीं तो किसी और की भी नहीं होगी... जिंदा जला देंगे: CM गहलोत...

मेरी नहीं तो किसी और की भी नहीं होगी… जिंदा जला देंगे: CM गहलोत के सामने फूट- फूट कर रोई छात्रा

"वे लड़के ब्लैकमेल करते हैं। सोशल मीडिया में मेरी फोटो लगा देते हैं। मेरे पापा उनको समझाने गए तो उन पर हमला कर दिया। मेरे को बोलते हैं कि एफआईआर करवाई तो तेरे को जिंदा जला देंगे। एफआईआर करवाए दो महीने हो गए, पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही।"

हैदराबाद, उन्नाव… और अब जोधपुर। हैवानियत का सिलसिला टूटता नहीं दिख रहा है। राजस्थान के जोधपुर में एक छात्रा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से जान बचाने की गुहार लगाई है। सीएम की जनसुवाई में पहुॅंची छात्रा अपनी पीड़ा बताते हुए रो पड़ी। कहा- मुख्यमंत्री जी मुझे बचा लो…दरिंदे मुझे जिंदा जला देंगे।

मामला जोधपुर के भोपालगढ़ थाना क्षेत्र का है। पीड़िता रविवार (नवंबर 8, 2019) को जोधपुर में सीएम अशोक गहलोत की जनसुनवाई में पहुँची थी। मुख्यमंत्री को उसने बताया कि कुछ लड़के उसे करीब 2 महीने से लगातार परेशान कर रहे हैं। आरोपितों ने खुद के नंबर वाले व्हाट्सअप पर उसकी फोटो की डीपी लगा रखी है। स्टेटस में लिख रखा है, ‘मेरी नहीं तो किसी और की भी नहीं होगी।’

मुख्यमंत्री के सामने छात्रा बिलख पड़ती है और कहती है, “वे लड़के मेरे को बोलते हैं कि मेरे से बात कर। वे ब्लैकमेल करते हैं। सोशल मीडिया में मेरी फोटो लगा देते हैं। मेरे पापा उसके घरवालों को समझाने गए तो उन पर हमला कर दिया। पापा को ज्यादा चोट पहुँची तो एमजीएम हॉस्पिटल में एडमिट कराना पड़ा। मेरे को बोलते हैं कि एफआईआर करवाई तो तेरे को जिंदा जला देंगे। एफआईआर करवाए दो महीने हो गए, पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही।”

आगे लड़की कहती है कि वह कलेक्टर से लेकर एसपी, आईजी तक के पास गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। लड़की का कहना है, “इससे उन लड़कों के हौसले बुलंद हो रहे हैं और हम डर रहे हैं। हमारे घरवाले सब्जी लेने तक के लिए बाहर नहीं जाते हैं। हमलोग उनसे डर के मारे घर में बैठे हैं। मैं पढ़ नहीं पा रही हूँ। उनकी वजह से मेरी पीएमटी (प्री-मेडिकल टेस्‍ट) की पढ़ाई छूट गई है।”

जानकारी के मुताबिक सीएम गहलोत ने लड़की को ढाढस बँधाया और साथ ही वहाँ मौजूद पुलिस कमिश्नर प्रफुल्ल कुमार को बुलाकर कार्रवाई के आदेश दिए। चूँकि मामला जोधपुर ग्रामीण का था, इसलिए वहाँ के एसपी राहुल बारहट को बुलाया गया। एसपी ने बताया कि सुरपुरा खुर्द के रहने वाले कैलाश, उसके भाई भगवान और मुकेश को 6 महीने पहले गिरफ्तार किया गया था, लेकिन बाद में वे जमानत पर छूट गए।

हैदराबाद, उन्नाव, मुजफ्फरपुर जैसी वारदातों में पुलिस का लापरवाही भरा रवैया रहा है। इस मामले में भी पुलिस-प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा दिख रहा है।

हैदराबाद, उन्नाव के बाद मुजफ्फरपुर: रेप करने में नाकाम, आरोपित ने पीड़िता को घर में घुसकर जिंदा जलाया

…एक और ‘प्रीति रेड्डी’, उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता पर लाठी-डंडे-चाकू से वार, केरोसिन डाल जलाया ज़िंदा

बक्सर में दोहराई गई हैदराबाद जैसी घटना, लड़की से सामूहिक दुष्कर्म के बाद पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,145FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe