Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजराजस्थान में नाबालिगों से बलात्कार: कहीं स्कूल जाती लड़की को दिन दहाड़े उठाया, तो...

राजस्थान में नाबालिगों से बलात्कार: कहीं स्कूल जाती लड़की को दिन दहाड़े उठाया, तो कहीं ‘बुरी आत्मा’ उतारने के बहाने हुआ रेप

हालिया मामलों के अलावा राजस्थान में आए दिन महिलाओं से छेड़छाड़ और दुष्कर्म की घटनाएँ घटित होती हैं। पिछले दिनों मूक बधिर लड़की के साथ अलवर में गैंगरेप हुआ था और अभी कुछ दिन पहले उदयपुर के झाडोल थाना क्षेत्र में एक आदिवासी महिला के साथ गैंगरेप की घटना घटी थी।

राजस्थान में नाबालिग लड़कियों के साथ होती वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। कहीं पर स्कूल जाती लड़की को उठाकर उसका रेप किया जा रहा है तो कहीं पर किसी अन्य बहाने से नाबालिगों को निशाना बनाया जा रहा है। अभी हाल में राजस्थान से ही दो घटनाएँ प्रकाश में आई हैं जब एक नाबालिग का दिन दहाड़े दो लड़कों ने अपहरण कर उसका गैंगरेप किया और दूसरी घटना आई है जब एक ढोंगी ने झाड़-फूँक के बहाने नाबालिग की अस्मत लूटी।

स्कूल जाती लड़की से गैंगरेप

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पहली घटना नागौर जिले के मारोठ थाना क्षेत्र की है। पीड़िता के पिता ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार की सुबह उनकी बेटी स्कूल जाने के लिए निकली थी तभी दो लड़कों ने उसका बाइक से पीछा किया। बाद में उसे मौका देख बेहोश कर मार्केट ले गए और वहीं दोनों ने नाबालिग का दुष्कर्म किया।

शिकायत के अनुसार, स्कूल के लिए सुबह की निकली लड़की जब शाम तक घर नहीं पहुँची तो उसकी खोजबीन शुरू हुई। इसी दौरान किसी ने घरवालों को बताया कि पड़ोसी गाँव के दो लड़के शंकर लाल और ओम प्रकाश लड़की को उठाकर गाँव के बाहर ले गए। पिता का आरोप है कि दोनों आरोपितों ने इस दौरान पीड़िता की अश्लील वीडियो-तस्वीरें खींचीं और उसे छोड़ने से पहले धमकाया कि अगर उसने मुँह खोला तो उसे जान से मार दिया जाएगा।

इसके बाद दोनों लड़कों ने नाबालिग को भैसलाना छोड़ा और वहाँ से फरार हो गए। नाबालिग की अवस्था देख किसी ने पीड़िता के पिता को इसकी जानकारी दी तो पिता और ताऊ जाकर उसे घर लाए। शुक्रवार शाम इस संबंध में थाने में शिकायत दी गई और पुलिस ने मामले को आईपीसी की धारा 363, 342, 376(2), 376(3), 376(डी ए), और पोक्सो एक्ट की धाराओं में दर्ज किया।

बुरी आत्मा उतारने के बहाने लड़की से रेप

दूसरा मामला राजस्थान के झालावाड़ का है जहाँ एक 45 साल के शख्स ने एक नाबालिग को बुरी आत्मा के प्रभाव से छुड़ाने के नाम पर उसके साथ बलात्कार किया। आरोप है कि आरोपित रघुवीर मेघवाल ने पहले लड़की के घरवालों को कुछ सामग्री लेने के लिए बाहर भेजा और बाद में नाबालिग से बलात्कार किया।

जब माता-पिता घर लौटे तो बच्ची की हालत नाजुक थी। बहुत पूछने पर आरोपित ने गुनाह नहीं कबूला। लेकिन बाद में लड़की ने अपने माता-पिता को सारी बात बताई और इस वारदात के मद्देनजर शिकायत दर्ज की गई। शुक्रवार को आरोपित गिरफ्तार हुआ। अब वह न्यायिक हिरासत में है।

राजस्थान में दुष्कर्म की कई और घटनाएँ

उल्लेखनीय है कि इन हालिया मामलों के अलावा राजस्थान में आए दिन महिलाओं से छेड़छाड़ और दुष्कर्म की घटनाएँ घटित होती हैं। पिछले दिनों मूक बधिर लड़की के साथ अलवर में गैंगरेप हुआ था और अभी कुछ दिन पहले उदयपुर के झाडोल थाना क्षेत्र में एक आदिवासी महिला के साथ कथित गैंगरेप की घटना घटी थी। उससे पूर्व कैथवाड़ा की एक घटना ने सबको झकझोर दिया था जब लड़की ने गैंगरेप से तंग आकर सुसाइड कर ली थी और बाद में सुसाइड नोट से पता चला था कि उसके ऊपर जीते जी क्या गुजर रही थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -