Friday, April 23, 2021
Home देश-समाज 'यहाँ मोदी का नहीं हमारा कानून चलता है': दीया जलाने पर रेवंत सिंह की...

‘यहाँ मोदी का नहीं हमारा कानून चलता है’: दीया जलाने पर रेवंत सिंह की हत्या, हमलावर मुस्लिम पड़ोसी

रेवंत सिंह की पत्नी तीन साल से मानसिक रूप से अस्वस्थ हैं और हर माह उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए जाना होता है। एक भाई है, उनकी मानसिक हालत भी ठीक नहीं है। चार छोटे बच्चे हैं, जिनके लिए खाना-पीना बनाने से लेकर अपनी पत्नी का ध्यान रखने वाले अकेले रेवंत सिंह ही थे।

रेवंत सिंह मर गए। उनका कसूर यह था कि उन्होंने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन थाली-ताली बजाई थी। रामनवमी पर अपने घर में दीया जलाया था। यह उनके पड़ोस में रहने वाले कुछ मुस्लिम युवकों को नागवार गुजरा और उन्होंने रेवंत पर एक दिन घात लगाकर हमला कर दिया। 5 दिन कोमा में रहने के बाद 9 अप्रैल को उन्होंने दम तोड़ दिया। घटना राजस्थान की है।

रेवंत की मौत ने उनके पूरे परिवार को बेसहारा कर दिया है। गड़ी चंपावत निवासी सांग सिंह (राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना जैसलमेर के जिला अध्यक्ष) और मूल सिंह राठौड़ (माड़वा अध्यक्ष, राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना) ने ऑपइंडिया को बताया कि रेवंत जैसलमेर के माड़वा गाँव के रहने वाले थे। उनकी पत्नी तीन साल से मानसिक रूप से अस्वस्थ हैं और हर माह उन्हें इलाज के लिए अस्पताल जाना होता है। एक भाई है, उनकी मानसिक हालत भी ठीक नहीं है। चार छोटे बच्चे हैं, जिनके खाना-पीना बनाने से लेकर सारी जिम्मेदारी अकेले रेवंत पर ही थी।

‘थाली-घंटी नहीं बजेगी, यहाँ मोदी नहीं हमारा राज चलता है’

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर कोरोना संक्रमण से मुकाबले में अपनी जान की परवाह नहीं करने वालों के प्रति आभार जताने के लिए पूरे देश ने 22 मार्च को थाली, ताली, शंख, घंटी बजाई थी। लेकिन मुस्लिम बाहुल्य इलाके में रहने वाले रेवंत को ऐसा करने पर धमकी दी गई।

जनता कर्फ्यू के दिन घंटी-थाली बजाने पर पड़ोस में ही रहने वाले 7-8 गुंडों ने घर जाकर उन्हें धमकाया। उनके साथ धक्का-मुक्की की। रेवंत सिंह को धमकी देते हुए कहा कि यहाँ किसी मोदी का नहीं, बल्कि उनका कानून चलता है। जैसा वो कहेंगे उन्हें मानना होगा।

रेवंत सिंह के भतीजे ने भणियाणा थाने में दिलदार खां पुत्र शहीद खां, फिरोज खां पुत्र शहीद खां और इकबाल पुत्र रहमतुल्ला खां के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज करवाया है। मारपीट की इस घटना में रेवंत सिंह बुरी तरह से घायल हो गए थे। 5 दिन तक कोमा में रहने के बाद बृहस्पतिवार (अप्रैल 09, 2020) को मौत हो गई। मारपीट की यह घटना 4 अप्रैल को माड़वा गाँव में हुई थी।

ऑपइंडिया से बातचीत में हिन्दू संगठनों ने बताया कि रेवंत सिंह की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। लेकिन उन्होंने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन थाली-घंटी बजाने के बाद रामनवमी के दिन दीपक जलाए थे। इस कारण स्थानीय मुस्लिम उनसे नाराज थे और घर में घुस धमकाया भी था।

राशन लेकर लौट रहे थे घर, घात लगाकर किया हमला

रेवंत सिंह पर उस वक़्त हमला किया गया जब वे राशन की दुकान से लौट रहे थे। आर्थिक रूप से कमजोर रेवंत सिंह को स्थानीय हिन्दू परिवारों और करणी सेना ने कुछ रुपए इकट्ठा कर नजदीकी अस्पताल में भर्ती किया, जहाँ पाँच दिन तक कोमा में रहने के बाद उनकी मृत्यु हो गई।

राष्ट्रीय करणी सेना के जिलाध्यक्ष ने बताया कि रेवंत सिंह का शव अभी भी राजस्थान के मथुरादास माथुर अस्पताल में ही है। इस मामले में आठ व्यक्तियों के शामिल होने की बात भी सामने आई है, जिनमें से एक की गिरफ्तारी हो चुकी है। रेवंत सिंह के साथ मारपीट करने वालों पर हिन्दू संगठनों ने कार्रवाई की माँग की है। उन्होंने बताया कि यह इलाका मुस्लिम आबादी वाला है और वर्तमान में सीएम अशोक गहलोत मंत्रिमंडल के सालेह मोहम्मद (Saleh Mohammad) विधायक हैं।

ज्ञात हो कि हाल ही में दिल्ली में हुए हिन्दू विरोधी दंगों में दंगाइयों ने एक चाय वाले की दुकान सिर्फ इसलिए जला दी थी क्योंकि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ किया करता था। रेवंत सिंह के साथ हुआ यह हादसा भी इसी घटना से मिलता-जुलता नजर आता है।

रेवंत सिंह की मृत्यु से आक्रोशित भाजपा नेता महंत प्रतापपुरी ने कहा – “यह मारपीट द्वेष के कारण हुई थी। ये लोग रेवंत सिंह के पीएम मोदी की अपील पर थाली बजाने से नाराज थे। इसी कारण उन्होंने उसे रास्ते में रोका और उसे बुरी तरह से मारा।”

मृतक रेवंत सिंह के बच्चे और उनका घर –

महंत प्रतापपुरी ने आरोपितों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की अपील की है और कहा है कि आरोपितों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी होनी चाहिए। वहीं एसएसपी किरण जंग ने कहा कि जाँच के बाद हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विरार हो या भंडारा, सवाल वहीः कब तक जड़ता को मुंबई स्पिरिट या दिलेर दिल्ली बता मन बहलाते रहेंगे

COVID-19 की दूसरी लहर बहुत तेज है और अधिकतर राज्यों में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। पर ऐसा क्यों है कि महाराष्ट्र सरकार के संक्रमण रोकने के प्रयास शुरू से ही असफल दिखाई देते रहे हैं?

B.1.618 ट्रिपल म्यूटेंट कोरोना वायरस: 60 दिनों में 12% केस इसी के, टीकों-एंटीबॉडी का मुकाबला करने में भी सक्षम

"बंगाल में हाल के महीनों में B.1.618 बहुत तेजी से फैला है। B.1.617 के साथ मिलकर इसने पश्चिम बंगाल में बड़ा रूप धारण कर लिया है।"

शाहनवाज दूत है, कोरोना मरीजों के लिए बेच डाला कार: 10 महीने पुरानी खबर मीडिया में फिर से क्यों?

'शाहनवाज शेख ने मरीजों को ऑक्सीजन सिलिंडर मुहैया कराने के लिए अपनी SUV बेच डाली' - जून 2020 में चली खबर अप्रैल 2021 में फिर चलाई जा रही।

13 मरीज अस्पताल में जल कर मर गए, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा – ‘यह नेशनल न्यूज नहीं’

महाराष्ट्र में आग लगने से 13 कोविड मरीजों की दर्दनाक मौत को लेकर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि यह राष्ट्रीय खबर नहीं है।

डॉ आमिर खान गिरफ्तार, ₹4000 का इंजेक्शन बेच रहा था ₹60000 में: कोरोना पीड़ितों को ठगने में MR इमरान भी शामिल

अस्सिस्टेंट ड्यूटी डॉक्टर आमिर खान और MR इमरान खान के खिलाफ एक महिला ने शिकायत की थी। दोनों इंजेक्शन को 15 गुना अधिक कीमत पर बेच रहे थे।

थरूर और पवार ने पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की ‘मौत की खबर’ फैलाई, बाद में डिलीट किए ट्वीट्स

थरूर ने लिखा, "पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के गुजर जाने से मैं बेहद दुःखी हूँ।" महाजन के परिजनों ने फेक न्यूज़ पर आपत्ति जताई।

प्रचलित ख़बरें

‘प्लाज्मा के लिए नंबर डाला, बदले में भेजी गुप्तांग की तस्वीरें; हर मिनट 3-4 फोन कॉल्स’: मुंबई की महिला ने बयाँ किया दर्द

कुछ ने कॉल कर पूछा क्या तुम सिंगल हो, तो किसी ने फोन पर किस करते हुए आवाजें निकाली। जानिए किस प्रताड़ना से गुजरी शास्वती सिवा।

सीताराम येचुरी के बेटे का कोरोना से निधन, प्रियंका ने सीताराम केसरी के लिए जता दिया दुःख… 3 बार में दी श्रद्धांजलि

प्रियंका गाँधी ने इस घटना पर श्रद्धांजलि जताने हेतु ट्वीट किया। ट्वीट को डिलीट किया। दूसरे ट्वीट को भी डिलीट किया। 3 बार में श्रद्धांजलि दी।

पाकिस्तान के जिस होटल में थे चीनी राजदूत उसे उड़ाया, बीजिंग के ‘बेल्ट एंड रोड’ प्रोजेक्ट से ऑस्ट्रेलिया ने किया किनारा

पाकिस्तान के क्वेटा में उस होटल को उड़ा दिया, जिसमें चीन के राजदूत ठहरे थे। ऑस्ट्रेलिया ने बीआरआई से संबंधित समझौतों को रद्द कर दिया है।

रेप में नाकाम रहने पर शकील ने बेटी को कर दिया गंजा, जैसे ही बीवी पढ़ने लगती नमाज शुरू कर देता था गंदी हरकतें

मेरठ पुलिस ने शकील को गिरफ्तार किया है। उस पर अपनी ही बेटी ने रेप करने की कोशिश का आरोप लगाया है।

मधुबनी: धरोहर नाथ मंदिर में सोए दो साधुओं का गला कुदाल से काटा, ‘लव जिहाद’ का विरोध करने वाले महंत के आश्रम पर हमला

बिहार के मधुबनी जिला स्थित खिरहर गाँव में 2 साधुओं की गला काट हत्या कर दी गई है। इससे पहले पास के ही बिसौली कुटी के महंत के आश्रम पर रात के वक्त हमला हुआ था।

अम्मी कोविड वॉर्ड में… फिर भी बेहतर बेड के लिए इंस्पेक्टर जुल्फिकार ने डॉक्टर का सिर फोड़ा: UP पुलिस से सस्पेंड

इंस्पेक्टर जुल्फिकार ने डॉक्टर को पीटा। ये बवाल उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में कोविड-19 लेवल थ्री स्वरूपरानी अस्पताल (SRN Hospital) में हुआ।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

293,845FansLike
83,429FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe