Monday, August 2, 2021
Homeदेश-समाजकन्हैया कुमार पर 9वीं बार हमला, इस बार चप्पल फेंक कर मारा: पहले झेल...

कन्हैया कुमार पर 9वीं बार हमला, इस बार चप्पल फेंक कर मारा: पहले झेल चुके हैं अंडा, मोबिल, पत्थर

कन्हैया कुमार की ओर चप्पल उछालने वाले आरोपित युवक चंदन कुमार का कहना है कि कन्हैया देश का गद्दार है। वह देश में दंगा भड़काना चाहता है।

नागरिकता कानून के विरोध में बिहार में ‘जन-गण-मन यात्रा’ पर निकले CPI नेता और जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को बिहार में एक बार फिर भारी विरोध का सामना लखीसराय में करना पड़ा है। रिपोर्ट्स के अनुसार लखीसराय जिला मुख्यालय स्थित गाँधी मैदान में सभा करने पहुँचे कन्हैया कुमार को नारंगी शर्ट पहने एक युवक ने चप्पल फेंक कर मारा। चप्पल फेंक कर मारने वाले युवक का नाम चंदन कुमार है। पुलिस ने आरोपित युवक को कन्हैया समर्थकों की मार से बचाते हुए हिरासत में ले लिया।

कन्हैया कुमार की ओर चप्पल उछालने वाले आरोपित युवक चंदन कुमार का कहना है कि कन्हैया देश का गद्दार है। वह देश में दंगा भड़काना चाहता है। जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता हो चुके कन्हैया कुमार पर इससे पहले चप्पल से हमला करने के मामले में शिवसेना के प्रदेश सचिव सहित दो शिव सैनिकों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें प्रदेश सचिव विक्रमादित्य सिंह और व्यावसायिक प्रमुख संजय प्रसाद शामिल हैं।

इससे पहले उनके काफ़िले पर आरा जिले में भी हमला किया गया था। दरअसल कन्हैया कुमार जब बिहार में आरा के रमना मैदान जा रहे थे, उसी दौरान स्थानीय लोगों ने कन्हैया कुमार के काफिले पर हमला कर दिया। इस हमले में काफिले में शामिल कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए थे।

कन्हैया कुमार इन दिनों नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के खिलाफ ‘जन-गण-मन यात्रा’ पर निकले हुए हैं लेकिन उन्हें लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है। बिहार के जिस भी जिले में वह अब तक पहुँचे हैं, उनमें से अधिकतर जगहों पर कन्हैया कुमार के काफिले पर हमला बोला गया है।

बिहार के आरा में जब उनके काफिले पर हमला हुआ था तो इसमें ईंट-पत्थर इस्तेमाल किया गया जिससे उनकी गाड़ियाँ भी क्षतिग्रस्त हो गई हैं। इससे पहले कन्हैया कुमार पर जमुई से नवादा जाते वक़्त भी उनके काफिले को निशाना बनाया गया था, जिस पर अंडे और मोबिल ऑयल फेंके गए थे। कन्हैया कुमार के समर्थकों और स्थानीय लोगों में इस बात पर झड़प भी हुई थी। हालाँकि, कन्हैया कुमार को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ था।

कन्हैया कुमार ने 30 जनवरी को यह ‘जन-गण-मन यात्रा’ शुरू की थी। एक महीने तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान कन्हैया कुमार बिहार के लगभग सभी प्रमुख शहरों में पहुँच रहे हैं। अब तक उनकी यह यात्रा 11 के लगभग शहरों में पहुँची है, जिनमें से 9 में वो अपने काफिले समेत कूटे जा चुके हैं।

फिर थूरे गए कन्हैया कुमार: दो हफ्ते में 8वीं बार हुआ काफिले पर हमला, बिहार के आरा में हुआ यह

पथराव के बाद जान बचाकर भागे कन्हैया कुमार: शिवसैनिकों सहित 3 गिरफ्तार, 30 पर FIR

हर दूसरे दिन पिट रहे हैं कन्हैया कुमार, जूता-चप्पल, अंडा, मोबिल, पत्थर… सब बरसा रहे बिहारी

कन्हैया कुमार ये बि​​हारी हैं सब पबित्तर कर देंगे, मैदान से लेकर वामपं​थी प्रोपेगेंडा की दुकान तक

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सबको मार डालेंगे’: धमकी देकर गायब हो गए थे मिजोरम सांसद, CM सरमा ने दिया FIR वापस लेने का आदेश

मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दोस्ताना रुख अपनाते हुए असम पुलिस को आदेश दिया है कि मिजोरम सांसद वनलालवेना के खिलाफ FIR को वापस लिया जाए।

‘रिस्क है, भारत काम नहीं देगा’: Pak के कश्मीर लीग में नहीं खेलेंगे मोंटी पनेसर, BCCI के बाद ECB ने भी चेताया

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर मोंटी पनेसर ने पाकिस्तान द्वारा आयोजित किए जा रहे 'कश्मीर प्रीमियर लीग (KPL)' में हिस्सा नहीं लेने का फैसला लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,557FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe