Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजबंगाल में छात्र नेता अनीश खान की हत्या के बाद 'चश्मदीद' भाई पर जानलेवा...

बंगाल में छात्र नेता अनीश खान की हत्या के बाद ‘चश्मदीद’ भाई पर जानलेवा हमला, हालत गंभीर: परिजनों ने TMC नेता को बताया जिम्मेदार

इसी साल 22 फरवरी को अनीस खान की हत्या उन के घर पर कर दी गई थी। परिजनों का आरोप है कि पश्चिम बंगाल पुलिस वर्दी में आए हमलावरों ने अनीस को बुरी तरह पीटा और फिर उठाकर छत से फेंक दिया। उन्होंने अनीस की हत्या के लिए राज्य पुलिस और टीएमसी के एक नेता हंसू खान और उनके सहयोगी को जिम्मेदार ठहराया था।

पश्चिम बंगाल के हावड़ा (Howrah, West Bengal) जिले के आमता थाना अंतर्गत छात्र नेता अनीस खान (Anish khan) की हत्या के बाद अज्ञात अपराधियों ने उनके भाई सलमान खान पर निशाना बनाया है। बदमाशों ने ना सिर्फ उन्हें पीटा, बल्कि उन पर धारदार हथियार से हमला भी किया। इस घटना के बाद राज्य की राजनीति में एक बार फिर बवाल खड़ा हो गया है।

सलमान ने पुलिस को बताया कि शनिवार (10 सितंबर 2022) को सुबह 12 बजे उस समय उन पर हमला किया गया, जब वे अपने घर के बाहर बैठे हुए थे। उन्होंने बताया कि वे हमलावरों का चेहरा नहीं देख पाए, क्योंकि बाहर गहरा अंधेरा था।

अनीस खान के दादा साबिर खान का कहना है कि अज्ञात अपराधियों ने सलमान खान को कई बार पीटा और उन पर धारदार हथियार से हमला क हत्या करने की कोशिश की। बता दें कि छात्र नेता अनीस खान की हत्या में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) नेता पर उंगली उठ रही है।

सलमान खान छात्र नेता अनीस खान के चचेरे भाई हैं। अनीस की हत्या के चश्मदीद गवाहों में सलमान खान भी शामिल है। अनीस हत्याकांड मामले को लेकर सलमान हमेशा एक्टिव थे। उनके दादा साबिर खान का कहना है कि अनीस मर्डर मामले में एक्टिव रहने के कारण ही सलमान को मारने के इरादे से यह हमला किया गया।

हमले में गंभीर रूप से घायल होने के बाद सलमान को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालाँकि, स्थिति की गंभीरता को देखते हुए बाद में उलुबेरिया उपमंडल अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

साबिर खान का कहना है कि सलमान खान पर हमला करने वाले लोगों की पहचान कर ली गई है। उन्होंने बताया कि पुलिस में शिकायत करने के दौरान इन सभी की पहचान की जाएगी। उन्होंने कहा कि चश्मदीद गवाह होने के कारण सलमान को लगातार धमकियाँ मिल रही थीं। इसकी पुलिस में भी शिकायत की गई थी।

सलमान पर हमले के बाद मृतक अनीस के परिवार ने एक बार फिर से हत्याकांड की जाँच सीबीआई से कराने की माँग की है। साबिर खान का कहना है कि उनके परिवार की ओर से अमाता थाने में सुरक्षा को लेकर लिखित शिकायत दर्ज कराई गई थी। इसके बाद भी उनके परिवार पर हमले हो रहे हैं।

बता दें कि इसी साल 22 फरवरी को अनीस खान की हत्या उन के घर पर कर दी गई थी। परिजनों का आरोप है कि पश्चिम बंगाल पुलिस वर्दी में आए हमलावरों ने अनीस को बुरी तरह पीटा और फिर उठाकर छत से फेंक दिया। उन्होंने अनीस की हत्या के लिए राज्य पुलिस और टीएमसी के एक नेता हंसू खान और उनके सहयोगी को जिम्मेदार ठहराया था।

अनीस की हत्या के बाद राज्य भर छात्रों ने जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किया था। इसके बाद राज्य की ममता बनर्जी की सरकार ने एक SI सहित तीन छोटे पुलिस कर्मियों को हटाकर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली थी। राज्य सरकार ने कोर्ट में भी कहा था कि पुलिस की भूमिका सही नहीं थी।

हत्या से पहले छात्र नेता पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ पिछले 130 दिनों से धरना दे रहे थे। अनीस के नेतृत्व में छात्रों के प्रदर्शन से राज्य की ममता सरकार असहज हो गई थी और अनीश खान पर तरह-तरह से दबाव बनाया जा रहा था। अंत में उनकी हत्या कर दी गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -