Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाज'हिंदू हमारे दुश्मन': देश भर में हिंसा फैलाने के लिए 200 मुस्लिमों को मार्शल...

‘हिंदू हमारे दुश्मन’: देश भर में हिंसा फैलाने के लिए 200 मुस्लिमों को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देने वाले 3 गिरफ्तार, PFI के साहित्य और हथियार बरामद

पुलिस कमिश्नर के अनुसार, "गिरफ्तार किए गए लोगों ने मुस्लिम युवाओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देने के लिए कादिर को नियुक्त किया था। उन्होंने कादिर से कहा था कि वे उसे 6 लाख रुपए देंगे और उसका घर बनवाने में उसकी मदद करेंगे।"

तेलंगाना (Telangana) की निजामाबाद पुलिस ने कराटे और मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग की आड़ में देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में PFI के 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों के नाम शेख शहदुल्लाह, अब्दुल मोबीन और मोहम्मद इमरान हैं। इनमें एक आरोपित ने अब तक 200 मुस्लिमों को ट्रेनिंग दिए जाने की बात कबूली है।

इन लोगों को देश के अलग-अलग हिस्सों में अस्थिरता फैलाने का टास्क मिला था। गिरफ्तारी बुधवार (6 जुलाई 2022) को की गई है। तेलंगाना की निजामाबाद पुलिस इस नेटवर्क के बाकी सदस्यों की तलाश में जुट गई है।

निजामाबाद पुलिस कमिश्नर द्वारा शेयर मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कराटे और मार्शल आर्ट के इस ट्रेनिंग सेंटर में देश की धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ शिक्षा दी जा रही थी। यहाँ शरिया कानून लागू करने के लिए उकसाया जाता था। ट्रेनिंग के लिए गरीब और मध्यम वर्ग के युवाओं को भर्ती किया जा रहा था। इस सभी ने पूछताछ में स्वीकार किया कि इनके एजेंडे में अन्य धर्म के लोगों पर हमला करना भी शामिल है।

पुलिस के मुताबिक, आरोपित इमरान चिकन और अब्दुल मोबिन वेल्डिंग का काम करता है। इन सभी ने बताया कि इन्होंने न सिर्फ तेलंगाना, बल्कि आंध्र प्रदेश के भी कई जिलों के मुस्लिमों को भी प्रशिक्षित किया है। इस प्रशिक्षण में जूडो और मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग की आड़ में घातक हथियारों को भी चलाना सिखाया जाता था।

पुलिस को इन तीनों की जानकारी 2 दिन पहले गिरफ्तार हुए अब्दुल क़ादिर से मिली थी। कादिर ही युवाओं को कराटे और मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देता था। पुलिस कमिश्नर के अनुसार, “गिरफ्तार किए गए लोगों ने मुस्लिम युवाओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देने के लिए कादिर को नियुक्त किया था। उन्होंने कादिर से कहा था कि वे उसे 6 लाख रुपए देंगे और उसका घर बनवाने में उसकी मदद करेंगे।”

आरोपितों पर 120-ए, 120-बी, 153-ए, 141 IPC के साथ-साथ UAPA एक्ट की धारा 13(1) के तहत कार्रवाई की गई है। टाइम्स नाउ के मुताबिक, आरोपितों के पास से ट्रेनिंग का सामान, हथियार और भड़काऊ साहित्य बरामद किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन सभी का सरगना 52 साल का कादिर है। वह ट्रेनिंग में आने वाले युवाओं को यह कहकर भड़काता था कि हिन्दू तुम्हारे दुश्मन हैं। पुलिस का मानना है कि यहाँ तैयार किए जा रहे लोगों को हिन्दू समाज को निशाना बनाने के लिए उकसाया जा रहा था। गिरफ्तार आरोपित पहले बैन आतंकी संगठन सिमी के सदस्य थे। बाद में ये सभी PFI से जुड़ गए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -