Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजजिस 'अफगान दरबार' को बंद कराने पहुँचे बालमुकुंद आचार्य, उसका मालिक ताहिर खुद बोला...

जिस ‘अफगान दरबार’ को बंद कराने पहुँचे बालमुकुंद आचार्य, उसका मालिक ताहिर खुद बोला – ‘मेरे पास लाइसेंस नहीं’: भाजपा MLA को चैलेन्ज दे रही थी भीड़, बदनाम कर रहा गिरोह

वीडियो में दूसरा पक्ष भी विवाद की मुद्रा में दिखाई दे रहा है और पुलिस बीच-बचाव करती नजर आ रही है। जिस स्थान पर यह विवाद हुआ वहाँ एक दुकान का बोर्ड अरबी भाषा में लिखा दिखाई पड़ा।

राजस्थान की राजधानी जयपुर के हवामहल विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर विधायक बने आचार्य बालमुकुंद ने अपने क्षेत्र में खुली मांस की अवैध दुकानों को बंद करवाने का अभियान छेड़ रखा है। एक वायरल वीडियो में उन्होंने प्रशासन को 4 दिसंबर की शाम तक मोहलत दी। पुलिस ने विधायक बालमुकुंद से कार्रवाई के लिए 2 दिनों की मोहलत माँगी है। इस बीच आचार्य बालमुकुंद की इस कार्रवाई का कुछ स्थानों पर मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगों ने विरोध किया। वहीं सोशल मीडिया पर भी कट्टरपंथी, लिबरल और वामपंथी गैंग उनको कटघरे में खड़ा करने का प्रयास करने लगा।

अपने नाम के पीछे त्यागी लगाने वाले मुस्लिम पत्रकार वसीम अकरम त्यागी ने विधायक बालमुकुंद द्वारा की जा रही कार्रवाई को गलत ठहराने की कोशिश की। वसीम अकरम ने लिखा , “बालमुकुंदाचार्य अपने साथ गुंडे लेकर मुस्लिमों की दुकान बंद कराने पहुँचा था। ये गुंडे मुस्लिमों को भद्दी गालियाँ दे रहे हैं।” वसीम अकरम ने नरेंद्र मोदी और राजस्थान पुलिस को टैग करते हुए कार्रवाई की माँग की है। साथ ही उसने विधायक आचार्य बालमुकुंद को आने वाले समय का नासूर भी बता डाला।

दिल्ली के कॉन्ग्रेस नेता मोहम्मद समीर ने विक्टिम कार्ड खेला है। उन्होंने आचार्य बालमुकुंद द्वारा की जा रही कार्रवाई की जद में आने वाले अवैध दुकानदारों को गरीब समुदाय विशेष का दर्जा दे डाला है। कार्रवाई को उन्होंने हमला का नाम दिया। कॉन्ग्रेस नेता समीर ने भाजपा को जिताने पर नाराजगी जताते हुए आगे कहा कि उनको राजस्थान से कोई हमदर्दी नहीं है।

खुद को ‘किसान पुत्र’ और लेखक बताने वाले हंसराज मीणा ने आरोप लगाया है कि विधायक आचार्य बालमुकुंद उसके मुस्लिम भाइयों को माँ-बहन की गालियाँ दे रहे हैं। हंसराज ने विधायक बालमुकुंद को गुंडा बताते हुए उन पर कार्रवाई की माँग की है। हालाँकि, हंसराज मीणा द्वारा शेयर किए गए वीडियो में दूसरा पक्ष भी विवाद की मुद्रा में दिखाई दे रहा है और पुलिस बीच-बचाव करती नजर आ रही है। जिस स्थान पर यह विवाद हुआ वहाँ एक दुकान का बोर्ड अरबी भाषा में लिखा दिखाई पड़ा।

पत्रकार कविश अज़ीज़ ने अफगानी दरबार होटल का एक वीडियो शेयर किया है जहाँ विधायक बालमुकुंद पहुँचे थे। कविश अजीज के मुताबिक राजस्थान में चुनाव जीतते ही भाजपा विधायक बालमुकुंद ने मुस्लिमों की मीट की दुकान बंद कराना शुरू कर दिया।

दूसरी तरफ से दिया जा रहा था चैलेन्ज

अपने नाम में त्यागी लगाने वाले वसीम अकरम ने 57 सेकेंड का जो वीडियो शेयर कर के भाजपा विधायक आचार्य बालमुकुंद पर मुस्लिमों को माँ-बहन की गालियाँ देने का आरोप लगाया है वह आधा अधूरा है। इस मामले में पूरा वीडियो @nareshvashishth नाम के हैंडल ने शेयर किया है जो कि 2 मिनट 8 सेकेंड का है। वीडियो के पहले हिस्से में विधायक बालमुकुंद पुलिस से खुलेआम बिना लाइसेंस चल रहे अवैध बूचड़खानों की शिकायत करते नजर आ रहे हैं।

इसी वीडियो में आचार्य बालमुकुंद ने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर आरोप लगाया है कि उन्होंने पप्पू कसाई से दोस्ती की थी। उन्होंने इसी दोस्ती की वजह से कसाइयों का अवैध काम चलने की बात कही। उन्होंने हाथ जोड़ कर कहा, “ये सनातनी लोग हैं। ये अवैध काम चलने नहीं देंगे चाहे कोई भी हो।” साथ ही उन्होंने कहा कि जिसे काम करना है वो लाइसेंस ले कर ईमानदारी से काम करे।

इस बीच सामने एक गली दिखी जहाँ पुलिस की सख्ती के बावजूद लोगों का जमावड़ा हो गया था। यह जमावड़ा सड़क पर ही किया गया था जिस से लोगों को आने-जाने में भी दिक्कत आ रही थी। जमावड़े से नारेबाजी जैसी आवाजें भी आने लगीं। पुलिस जमावड़ा लगाई भीड़ को वापस जाने के लिए कहती रही लेकिन उन पर कोई फर्क नहीं पड़ा। दूसरी तरह से पुलिस के साथ खड़े विधायक बालमुकुंद और उनके सहयोगियों को ललकारा जा रहा था।

इसी के जवाब में आचार्य बालमुकुंद के साथ मौजूद लोगों ने भी दूसरी तरफ खड़े लोगों को अपनी तरफ आने के लिए कहा। इसी तनातनी के बीच कुछ लोगों की ने गाली-गलौज की। हालाँकि, गालियाँ विधायक बालमुकुंद ने नहीं दीं। पुलिस ने बीच-बचाव किया तो खुद विधायक बालमुकुंद वहाँ से चले गए जबकि दूसरी तरफ लोगों का जमावड़ा इसके बावजूद बना रहा।

अफगान होटल वाले के पास नहीं था लाइसेंस

महिला पत्रकार कविश अज़ीज ने अपने ट्वीट में जिस ‘अफगानी दरबार’ होटल का जिक्र किया है उसके मालिक ताहिर से ऑपइंडिया ने बात की। मुर्गे का मांस बेचने वाला यह होटल जयपुर के सुभाष चौक पर है। हमसे बातचीत में ताहिर ने कबूल किया कि उनके पास होटल चलाने का वैध लाइसेंस फिलहाल नहीं है। ताहिर का कहना था कि उन्होंने इसके लिए अप्लाई कर रखा है। ‘अफगान होटल’ के मालिक ने हमसे यह भी कहा कि उनके साथ विधायक बालमुकुंद ने कोई मारपीट आदि नहीं की।

ताहिर के अफगान होटल के पास ही आचार्य बालमुकुंद ने बांग्लादेशी और रोहिंग्या घुसपैठियों को जयपुर खाली कर देने के लिए कहा था। ऑपइंडिया से बातचीत के दौरान ताहिर ने बताया कि उनके यहाँ मुर्गे का मीट बनाने वाले लगभग सभी कारीगर पश्चिम बंगाल के हैं। होटल का नाम अफगानी दरबार रखने की वजह पूछने पर इसके मालिक ने इसे एक डिश से हुआ नामकरण बताया। अंत में ताहिर ने कहा, “विधायक गुंडागर्दी कर रहे हैं जो सही नहीं जाएगी।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -