Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजनूपुर शर्मा का समर्थन करने पर हुई थी उमेश कोल्हे की हत्या, अब गवाह...

नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर हुई थी उमेश कोल्हे की हत्या, अब गवाह को मिल रही धमकी: ‘दोस्त’ आदिल पर भी शक, माफ़ी वाला वीडियो बनवाया

इसके बाद से गवाह को लगातार अज्ञात नंबरों से जान से मारने की धमकी भरे कॉल आने लगे। धमकी देने वाले लोगों ने उसे बाद में माफी माँगने वाला वीडियो बनाने के लिए भी कहा।

महाराष्ट्र के अमरावती में उमेश कोल्हे हत्याकांड (Umesh Kolhe Murder) के एक गवाह ने बड़ा खुलासा किया है। उसने मंगलवार (19 दिसंबर, 2022) को दावा किया कि सोशल मीडिया पर भाजपा की पूर्व निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) का समर्थन करने के बाद से उसे इस्लामवादियों द्वारा जान से मारने की धमकियाँ मिल रही हैं। इलेक्ट्रॉनिक सामानों की दुकान चलाने वाले गवाह ने बताया कि उसने नूपुर शर्मा के समर्थन में एक व्हाट्सएप ग्रुप में मैसेज किया था। लेकिन, जल्द ही उसने उस मैसेज को यह सोचकर डिलीट कर दिया की कहीं इससे कोई बड़ा विवाद ना हो जाए। हालाँकि, उसके मैसेज डिलीट करने से पहले ही छह लोग उसे पढ़ चुके थे।

बताया जा रहा है कि इसके बाद से गवाह को लगातार अज्ञात नंबरों से जान से मारने की धमकी भरे कॉल आने लगे। धमकी देने वाले लोगों ने उसे बाद में माफी माँगने वाला वीडियो बनाने के लिए भी कहा। उमेश कोल्हे की हत्या के बाद से गवाह काफी डरा हुआ है। उसने लगातार मिल रही धमकियों के संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

गवाह ने अपने बयान में कहा कि उसे आदिल नाम के एक परिचित का भी फोन आया था, जिसने उससे पोस्ट के बारे में पूछताछ की थी। इस पर गवाह ने आदिल से कहा कि उसने यह पोस्ट तुरंत हटा दी थी। इसे शेयर करने के पीछे उसका कोई गलत इरादा नहीं था। कुछ समय बाद उसके एक अन्य दोस्त ने उसकी तस्वीर और दुकान की डिटेल के साथ एक स्क्रीनशॉट भेजा, जिसमें ‘बॉयकॉट’ लिखा हुआ था। उसने पूछा कि लोग तुम्हारा और तुम्हारी दुकान का बहिष्कार करने की माँग क्यों कर रहे हैं?

गवाह ने संकेत दिया कि उसे अज्ञात व्यक्तियों के फोन आए और उन्होंने उससे 30 सेकंड का माफी माँगने वाला वीडियो बनाने के लिए कहा। उन्होंने उसे धमकी दी कि अगर उसने ऐसा नहीं किया, तो वे उसके घर पर आ जाएँगे। बाद में उन्हें पता चला कि अमरावती के एक अन्य व्यवसायी को भी नूपुर शर्मा के समर्थन में उनके फेसबुक पोस्ट के लिए मुस्लिम समुदाय द्वारा धमकाया गया था।

कई रिपोर्टों में उल्लेख किया गया है कि अमरावती के तीन और निवासियों श्रीगोपाल चंदूलाल राठी, विशाल राजेश बहाड़ और जय कुमार अछड़ा को भी कोल्हे की हत्या से पहले नूपुर शर्मा का समर्थन करने के लिए कट्टरपंथी इस्लामवादियों ने धमकी दी थी।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार (20 दिसंबर 2022) को खुलासा किया कि अमरावती के फार्मासिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या करने वाले 11 आरोपित इस्लामी कट्टरपंथी हैं। उनका तबलीगी जमात से कनेक्शन है। अधिकारियों ने मुख्य आरोपितों में से एक इरफान खान को जमात का कट्टर समर्थक बताया गया है। 16 दिसंबर, 2022 को NIA ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी। NIA की चार्जशीट में बताया गया है कि कट्टरपंथियों का मकसद हत्या कर आतंक पैदा करना था। नूपुर शर्मा के समर्थन में व्हाट्सएप मैसेज फॉरवर्ड करने की वजह से कोल्हे उनके टारगेट पर थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -