Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजUP पुलिस का एक चेहरा ये भी: आग की लपटों में घिरा था मकान,...

UP पुलिस का एक चेहरा ये भी: आग की लपटों में घिरा था मकान, खिड़की तोड़ अंदर घुसे दारोगा, बचाई 4 की जान

रायबरेली में एक मकान में आग लगने से तीसरे माले पर चार लोग फॅंस गए। इनमें एक साल भर का बच्चा भी था। इन्हें बचाने का कोई रास्ता नहीं दिख रहा था। ऐसे वक्त में दारोगा विनोद सिंह ने दिलेरी दिखाई और एक—एक कर सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुई हिंसा के दौरान पुलिस को उन्मादी भीड़ द्वारा निशाना बनाने की कई घटनाएं सामने आई है। बावजूद इसके हालात पर काबू पाने के लिए जब पुलिस ने दंगाइयों से सख्ती की तो एक वर्ग इसके खिलाफ खड़ा हो गया। खासकर यूपी पुलिस को बदनाम करने की नीयत से बीते कुछ दिनों से सोशल मीडिया में कई तरह का प्रोपेगेंडा रचा रहा है। इसी बीच, रायबरेली से ऐसी तस्वीरें सामने आई है जब जो दंगाइयों से सख्ती से निपटने वाली यूपी पुलिस का एक अलग ही चेहरा पेश करती है।

पुलिस के इस चेहरे का जिक्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को रामलीला मैदान की रैली में भी किया था। उन्होंने कहा था, “जब दिल्ली की मंडी में आग लगी थी, तब पुलिस वालों ने बिना महजब देखे ही लोगों को बचाया था। जिन पुलिसकर्मियों ने तुम्हें बचाया, उन्हीं पर पत्थर चला रहे हो?”

ताजा मामला रायबरेली के लालगंज के घोसियाना मोहल्ले का है। यहाँ चार मंजिला मकान के निचले हिस्से भीषण आग लग गई। आग तेजी से फैलने लगी। तीसरे माले पर पप्पू गुप्ता, वैभव, छवि और एक साल बच्चा फँसा हुआ था।

देखते ही देखते यहाँ आग ने विकराल रूप ले लिया और इन चारों लोगों के लिए बिल्डिंग से निकालना नामुमकिन हो गया। इसी बीच मौक़े पर पहुँचे दारोगा विनोद सिंह। उन्होंने अपनी जान की परवाह किए पड़ोस के एक घर से उस मकान की ख़िड़की तोड़ अंदर घुस गए। फिर एक-एक कर वहाँ फँसे सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

इस आगजनी में लाखों की संपत्ति खाक हो गई। लेकिन, खाकी की बहादुरी से किसी की जान नहीं गई। दारोगा विनोद सिंह के इस साहस की तारीफ हो रही है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जिस घर में आग लगी वह निर्मल कुमार गुप्ता का है। वे कपड़े के व्यवसायी हैं। दुकान वे अपने 4 मंजिला घर के नीचे वाले माले पर चलाते थे, जिसका गोदाम भी उन्होंने घर की दूसरी मंजिल पर बनाया हुआ था। लेकिन रविवार की दुकान में आग लग गई जो फैलते-फैलते उनके गोदाम तक आ पहुँची। देखते ही देखते आग ने इतना बड़ा रूप ले लिया कि ऊपर फँसे लोगों के पास बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं बचा।

थोड़ी देर बाद आग की सूचना मिलने पर पुलिस वहाँ पहुँची और अग्निशमन के कमर्चारियों के साथ आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। घर में फँसे लोगों को निकालने का रास्ता नहीं मिल रहा था। इसी बीच पुलिस ने सीढ़ियों की व्यवस्था की और थानेदार विनोद सिंह ने सीढ़ियों की मदद से घर में प्रवेश किया और बिना किसी नुकसान के सबको सुरक्षित वापस निकाल लिया। आग लगने के कारणों का अब तक पता नहीं लग पाया है।

यूपी पुलिस ने चौराहे पर टाँगी दंगाइयों की तस्वीर, कहा- बवालियों की पहचान कर फ़ौरन खबर करें

वीडियो: CAA विरोध के नाम पर उत्पात मचाने निकली थी दंगाई भीड़, यूपी पुलिस ने खदेड़-खदेड़ कर पीटा

FACT CHECK: क्लिप दिखा यूपी पुलिस को बताया बर्बर, पूरा वीडियो सामने आया तो किसान सरपट भागा

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,314FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe