Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमहिला सुरक्षा पर देखिए UP पुलिस का नया अंदाज, Video शेयर करके पूछा- 'किरन...

महिला सुरक्षा पर देखिए UP पुलिस का नया अंदाज, Video शेयर करके पूछा- ‘किरन की न का मतलब?’

आज यूपी पुलिस ने महिलाओं की राय का सम्मान करने को लेकर जनता को जागरूक किया। पुलिस ने 90 के दशक की हिट फिल्म 'डर' के एक गाने का क्लिप ‘तू हाँ कर या न कर तू है मेरी किरन' का इस्तेमाल किया। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लोगों से पूछा, 'किरण की ना का मतलब?'

उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों को रोकने के लिए यूपी पुलिस ने अब इस मुद्दे पर जागरूकता फैलाने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया है। बता दें, हाल के दिनों में विभिन्न मुद्दों पर अवेयर करने के लिए यूपी पुलिस ने लोकप्रिय विषयों का बहुत ही बेखूबी से उपयोग करते हुए उन्हें अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया, जिसका यूपी पुलिस को काफी अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है।

दरअसल, आज यूपी पुलिस ने महिलाओं की राय का सम्मान करने को लेकर जनता को जागरूक किया। पुलिस ने 90 के दशक की हिट फिल्म ‘डर’ के एक गाने का क्लिप ‘तू हाँ कर या न कर तू है मेरी किरन’ का इस्तेमाल किया। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लोगों से पूछा, ‘किरण की ना का मतलब?’ इसके बाद इसी वीडियो में पिंक मूवी में अमिताभ बच्चन के फेमस डायलॉग का इस्तेमाल इस सवाल का जवाब समझाने के लिए किया, जहाँ बच्चन ने कहा है कि, “ना का मतलब ना होता है।”

इस संदेश के जरिए यूपी पुलिस ने कोशिश की, कि जब एक महिला किसी पुरुष की बातों को नहीं मानती है और उससे ना बोलकर अपना जवाब देती है तो उस आदमी को उसका पीछा करना बंद कर देना चाहिए। किसी महिला का जवाब ‘ना’ होंने के बाद भी उसे घूरते रहना सही नहीं है।

बता दें 1993 में आई फिल्म डर में शाहरुख खान, जूही चावला और सनी देओल ने मुख्य भूमिका निभाई थी। जहाँ राहुल (शाहरुख) किरन (जूही), का पीछा यह जानने के बाद भी करता है कि उसकी शादी सुनील (सनी) के साथ हो चुकी है। आखिर में सुनील राहुल को जान से मार देता है। जो कि यह संदेश देता है कि प्यार की आड़ में लड़कियों को सताना और उन्हें परेशान करना जायज नहीं है।

बता दें कि कल यूपी पुलिस ने सड़क सुरक्षा को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए फिल्म शोले की एक क्लिप का इस्तेमाल किया था। उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से सड़क सुरक्षा को लेकर एक इनोवेटिव वीडियो जारी किया, जिसमें शोले मूवी का मशहूर गाना ‘ये दोस्ती हम नहीं छोड़ेंगे’ की क्लिप का इस्तेमाल किया गया है।

ट्विटर पोस्ट पर #UPPKeSholay के साथ जय और वीरु की दोस्ती क्यों टूटी? लिखा गया है और एक वीडिया शेयर किया गया है। वीडियो के माध्यम से ये दिखाने की कोशिश की गई है कि बाइक पर स्टंट करना जानलेवा हो सकता है। न बचेगी जिंदगी, न बचेगी दोस्ती। इसमें साफ किया गया है कि गाड़ी चलाते समय स्टंट करना जुर्म है।

गौरतलब है इससे पहले उत्तर प्रदेश पुलिस ने गब्बर का एक वीडियो शेयर करके लिखा था, “गब्बर को मिली किस बात की सजा?” इस सन्देश में फिल्म के खलनायक गब्बर सिंह को थूकते हुए दिखाया गया था और उसके बाद बताया गया कि उसे किस तरह से इसका अंजाम भुगतना पड़ा।

वीडियो के अंत में गब्बर सलाखों के पीछे दिखाया गया है और एक सन्देश दिया गया, “सार्वजानिक स्थानों पर थूकने से Covid-19 के प्रसार का खतरा बढ़ सकता है। यह एक दंडनीय अपराध है।” उत्तर प्रदेश पुलिस ने वीडियो में एक अंतिम संदेश देते हुए लिखा था, “सार्वजानिक स्थानों पर न थूकें। उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा ‘जान हित’ में जारी।

उल्लेखनीय है कि यह सब वीडियो अब लोगों के बीच बेहद लोकप्रिय हो रही हैं और इसे बड़े स्तर पर शेयर भी किया जा रहा है। यूपी पुलिस के नए अंदाज के लिए उन्हें सराहना भी मिल रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानहानि मामले में यूट्यूबर ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन, BJP नेता की शिकायत के बाद सुनवाई: अदालत ने कहा-...

ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली की एक कोर्ट ने मानहानि मामले में समन जारी किया है। ये समन भाजपा नेता सुरेश करमशी नखुआ द्वारा द्वारा शिकायत के बाद जारी हुआ।

आतंकियों की करते थे मदद, उनके लिए हथियार-पैसे जुटाते थे: सरकार ने J&K में 4 सरकारी कर्मचारियों को किया बर्खास्त, अब तक 60+ पर...

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की मदद करने वाले और उनके लिए हथियार-पैसा जुटाने वाले 4 कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -