Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजतालिब हुसैन के होटल में हिन्दू देवी-देवताओं की तस्वीरों में चिकन की पैकिंग, जाँच...

तालिब हुसैन के होटल में हिन्दू देवी-देवताओं की तस्वीरों में चिकन की पैकिंग, जाँच के लिए गई यूपी पुलिस पर चाकू से हमला: हुआ गिरफ्तार

लिस अधीक्षक के मुताबिक, कुछ लोगों की शिकायत के बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुँची थी। जाँच के दौरान तालिब ने पुलिस दल पर चाकू से हमला किया।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के संभल (Sambhal) जिले से देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले अखबार में चिकन रखकर बेचने का मामला सामने आया है। सूचना पाकर मौके पर पहुँची पुलिस ने जब होटल संचालक तालिब हुसैन को ऐसा करने से रोका तो उसने धारदार हथियार से उन पर हमला कर दिया। होटल संचालक को हमला करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्रा (Chakresh Mishra) ने बताया कि यह शिकायत वरिष्ठ उपनिरीक्षक अजय कुमार ने सोमवार (4 जुलाई, 2022) को दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है कि संभल कोतवाली क्षेत्र में तालिब हुसैन नाम का शख्स अपने होटल में देवी-देवताओं के फोटो वाले अखबार में चिकन रखकर बेच रहा था।

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, कुछ लोगों की शिकायत के बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुँची थी। जाँच के दौरान तालिब ने पुलिस दल पर चाकू से हमला किया। इस मामले में रविवार (3 जुलाई, 2022) देर रात तालिब के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 ‘अ’ (वैमनस्य फैलाना), 295 ए (किसी वर्ग के धर्म का अपमान करने के आशय से उपासना के स्थल को क्षति पहुँचाना या अपवित्र करना), 353 (सरकारी काम में बाधा डालना) और 307 (हत्या का प्रयास) के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। मिश्रा ने बताया कि मौके से देवी-देवताओं की तस्वीरों वाले अखबार की कॉपियाँ और हमले में इस्तेमाल किया गया चाकू बरामद कर लिया गया है।

यह पहला मामला नहीं है, जब हिंदू देवी देवताओं के चित्रों का गलत इस्तेमाल किया गया है। वर्ष 2019 में अमेजन पर हिंदू देवी-देवताओं के चित्र वाली टॉयलेट सीट कवर और डोरमैट्स (दरवाजे पर बिछाए जाने वाले मैट) बेचने का आरोप लगा था। ई-कॉमर्स वेबसाइट ने लोगों के विरोध के बाद भी हिंदू देवी-देवताओं के चित्र वाले टॉयलेट कवर और पायदान बेचना बंद नहीं किया था।

बता दें कि इससे पहले वर्ष 2017 में अमेजन की कनाडा वाली वेबसाइट पर भारतीय तिरंगे के चित्र वाले डोरमैट बेचने का आरोप लगा था। तब भारत सरकार ने अमेरिकी और कैनेडियन एंबेसी के सामने ये मुद्दा उठाया था। नवंबर 2020 में ऑनलाइन गांजा बेचे जाने को लेकर अमेजन के डायरेक्टर्स के खिलाफ NDPS एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -