Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजUPSSC PET के पहले दिन सॉल्वर गैंग के 23 गिरफ्तार: परीक्षार्थियों के लिए स्पेशल...

UPSSC PET के पहले दिन सॉल्वर गैंग के 23 गिरफ्तार: परीक्षार्थियों के लिए स्पेशल ट्रेन और बस, जगह-जगह हेल्पडेस्क

राज्य सरकार ने हर रेलवे स्टेशन और बस डिपो में परीक्षार्थियों के लिए हेल्प डेस्क स्थापित किए हैं, ताकि उम्मीदवारों को यह पता लगाने में मदद मिल सके कि वे अपने परीक्षा केंद्रों से कितनी दूर हैं और वहाँ तक वे कैसे पहुँच सकते हैं। जिलों के परिवहन विभाग ने परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों तक पहुँचाने के लिए बसें चलाने का निर्णय लिया।

उत्तर प्रदेश में यूपी अधीनस्थ चयन आयोग (UPSSSC) की प्रारंभिक पात्रता परीक्षा (UP PET) 15 और 16 अक्टूबर को चार शिफ्ट में आयोजित हो रही है। इस परीक्षा में UP STF ने प्रदेश के विभिन्न जिलों से सॉल्वर गैंग के 23 लोगों को गिरफ्तार किया है। STF की कार्रवाई परीक्षा के दूसरे दिन भी जारी है।

UP STF ने शनिवार (15 अक्टूबर 2022) को परीक्षा के पहले दिन कार्रवाई करते हुए सॉल्वर गैंग के शामली से सबसे ज्यादा 5 सदस्यों, उन्नाव से 3, अमेठी से 2, प्रयागराज से 2, कानपुर से 2, जौनपुर से 2, बिजनौर से 2, सिद्धार्थ नगर 1, सीतापुर से 1, मेरठ से 1 सदस्य सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

उन्नाव में पकड़े गए तीनों आरोपित मूल परीक्षार्थी के स्थान के परीक्षा दे रहे थे। इनमें पुष्पेंद्र यादव और अंकित कुमार मौर्य प्रयागराज में रहते हैं, जबकि तीसरा आरोपित सत्यम कुमार पांडे बिहार के पश्चिम चंपारण का रहने वाला है।

सॉल्वर गैंग के जिन अन्य परीक्षार्थियों को गिरफ्तार किया गया है, मधुबनी में रहने वाले कुमार कामत को अमेठी से, भोजपुर निवासी सिद्धार्थ शंकर दुबे और जौनपुर के रहने वाले अनिल कुमार मल्होत्रा को प्रयागराज से गिरफ्तार किया गया है। लखनऊ के रहने वाले रघुवीर को हरदोई से और सैफ अहमद खान को कानपुर से गिरफ्तार किया है। प्रियांशु मौर्य निवासी पड़री जनपद कुशीनगर और पप्पू कुमार निवासी गया, बिहार को भी पुलिस ने पकड़ा है। 

मेरठ के जिस आरोपित को पकड़ा गया है वह UP PET की उत्तर कुंजी के साथ पकड़ा गया है। आरोपितों के पास से पुलिस ने मोबाइल फोन, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड आदि बरामद किया है। इनके खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

बता दें कि UP PET की परीक्षा में लगभग 37 लाख अभ्यर्थी भाग ले रहे हैं। राज्य के अलग-अलग इलाकों में परीक्षार्थियों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। परीक्षा शुरू होने के एक दिन पहले यानी शुक्रवार (14 अक्टूबर 2022) की रात तक रेलवे स्टेशनों और बस स्टैंडों पर अफरा-तफरी का माहौल रहा।

इसको लेकर कॉन्ग्रेस (Congress) सांसद राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गाँधी (Priyanka Gandhi) ने परीक्षार्थियों की तस्वीरें ट्वीट कर सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश सरकार को घेरने की कोशिश की।

इन आरोपों को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ट्वीट कर जवाब दिया। सीएम योगी ने लिखा, “समाज में अफवाह फैलाना, लोगों को गुमराह करना, अस्थिरता उत्पन्न करना कॉन्ग्रेस का राजनीतिक संस्कार है। इनके स्टार ‘पॉलिटिकल टूरिस्ट’ ने दूसरे प्रदेश के रेलवे स्टेशन की भीड़ को उत्तर प्रदेश की भीड़ बताकर अपने संस्कार का पालन ही किया है। वैसे मायावी मारीच तो छल ही करेगा।”

UPSSSC PET के परीक्षार्थियों ने रेलवे के सामने अपनी चिंताओं को उठाया। उन्होंने कहा कि उन्हें ट्रेनों के समय के बारे में उचित नोटिस नहीं मिला है। उम्मीदवारों ने जिला प्रशासन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके लिए विशेष व्यवस्था करने का भी अनुरोध किया। इसके साथ ही परीक्षार्थियों ने मुफ्त यात्रा की माँग की, लेकिन इस पर किसी तरह का निर्णय लिया गया।

परीक्षार्थियों को किसी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े, इसके लिए उत्तर रेलवे की मंडल रेल प्रबंधक (DRM) ने प्रयागराज से राजधानी लखनऊ और अयोध्या से कई जिलों में परीक्षा देने जाने वाले अभ्यर्थियों के लिए विशेष ट्रेनें चलाने का आदेश दिया। इसके साथ ही अन्य जिलों के लिए भी स्पेशल ट्रेनों की व्यवस्था की गई है। साथ ही साथ परीक्षा केंद्रों वाले जगहों पर ट्रेनों के ठहराव का भी निर्देश दिया गया है।

वहीं, राज्य सरकार ने हर रेलवे स्टेशन और बस डिपो में परीक्षार्थियों के लिए हेल्प डेस्क स्थापित किए हैं, ताकि उम्मीदवारों को यह पता लगाने में मदद मिल सके कि वे अपने परीक्षा केंद्रों से कितनी दूर हैं और वहाँ तक वे कैसे पहुँच सकते हैं। जिलों के परिवहन विभाग ने परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों तक पहुँचाने के लिए बसें चलाने का निर्णय लिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -